लखनऊ. उत्तर प्रदेश में होने वाले त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव (UP Panchayat Elections) में इस बार 'एक जनपद-एक बार' सिस्टम (One District One Phase) को अपनाया जाएगा. इसके तहत एक जिले के सभी ब्लॉक में एक ही चरण में चुनाव करवाए जाएंगे. राज्य निर्वाचन आयोग के आयुक्त मनोज कुमार ने सोमवार को इस संबंध में सभी जलों के डीएम व कमिश्नर को निर्देश जारी कर दिए. उन्होंने कहा कि जिले में एक ही चरण में चुनाव करवाने की तयारी शुरू करें.

बता दें कि अभी तक एक जिले में स्थित ब्लॉक में पंचायत चुनाव चार चरणों में कराए जाते थे. मसलन किसी जिले में 12 ब्लॉक हैं तो प्रत्येक चरण में तीन-तीन ब्लॉक में चुनाव कराए जाते थे, लेकिन इस बार राज्य निर्वाचन आयोग ने 'एक जनपद-एक बार' व्यवस्था लागू करने का निर्णय लिया है. इसके तहत एक जिले के सभी ब्लॉक में एक ही साथ चुनाव संपन्न होगा. प्रत्येक मंडल के एक से दो जिलों को एक चरण में शामिल किया जाएगा, ताकि चार चरण में चुनाव संपन्न कराए जा सकें.

मंडलायुक्तों को दिए ये निर्देश 

वीडियो कॉन्फ़्रेंसिंग के जरिए राज्य निर्वाचन आयुक्त ने सभी मंडलायुक्तों से कहा कि चुनाव के लिए कर्मचारी काम पड़ने पर मंडल के दूसरे जिले से इसकी व्यवस्था कराएं. साथ ही उन्होंने जिलाधिकारियों को निर्देश दिया कि वे संवेदनशील मतदान केंद्रों को चिन्हित कर जल्द से जल्द इसकी सूची आयोग को मुहैया करवाएं. निर्वाचन आयुक्त ने स्ट्रांग रूम और मतगणना केंद्रों पर भी व्यवस्था को चुस्त-दुरुस्त करने के निर्देश दिए है.


15 मार्च बाद तारीखों का ऐलान संभव 

गौरतलब है कि मौजूदा समय में सीटवाइज आरक्षण की सोची तैयार करने का काम किया जा रहा है. उम्मीद है कि 15 मार्च तक सभी पंचायतों की फाइनल आरक्षण लिस्ट आ जाएगी. इसके बाद कभी भी आयोग चुनाव की तारीखों का ऐलान कर सकता है.