रायपुर । दक्षिणी-पश्चिमी मानसून की भले ही छत्तीसगढ़ से विदाई हो गई हो, लेकिन अभी बारिश से प्रदेशवासियों को छुटाकार नहीं मिलने वाला है। दरअसल, बंगाल की खाड़ी उसके आसपास एक निम्न दबाव का क्षेत्र बन रहा है। मौसम विभाग का कहना है कि अगले 24 घंटों में इसके और आगे बढ़ने की संभावना है। इसके प्रभाव से ही शुक्रवार 15 अक्टूबर को प्रदेश के विभिन्न क्षेत्रों में हल्की से मध्यम बारिश के आसार हैं। साथ ही गरज-चमक के साथ छीटे पड़ेंगे। मौसम विज्ञानियों का कहना है कि अधिकतम तापमान में भी गिरावट आएगी।

हालांकि, गुरुवार को राजधानी रायपुर समेत प्रदेश भर में मौसम शुष्क रहा और सुबह से ही धूप निकली रही। इसकी वजह से उमस में भी बढ़ोतरी रही। हालांकि बुधवार की अपेक्षा राजधानी के अधिकतम तापमान में थोड़ी गिरावट रही। गुरुवार को रायपुर का अधिकतम तापमान 33.5 डिग्री सेल्सियस और न्यूनतम तापमान 24.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। प्रदेश में रायपुर ही सर्वाधिक गर्म रहा और न्यूनतम तापमान में पेंड्रा का न्यूनतम तापमान सबसे कम 19 डिग्री सेल्सियस रहा।

यह बन रहा सिस्टम

मौसम विज्ञानी एचपी चंद्रा ने बताया कि ऊपरी हवा का चक्रीय चक्रवाती घेरा भी 5.8 किमी ऊंचाई तक है। इसके पश्चिम उत्तर पश्चिम की ओर आगे बढ़ने की संभावना है। इसके प्रभाव से ही शुक्रवार को बारिश के आसार हैं। बारिश का क्षेत्र मुख्य रूप से दक्षिण छत्तीसगढ़ रहेगा। प्रदेश के अधिकतम तापमान में भी गिरावट आएगी।