क्रिकेट के भगवान कहे जाने वाले और पूर्व राज्यसभा सांसद सचिन तेंदुलकर की सुरक्षा उद्धव ठाकरे के नेतृत्व वाली महाराष्ट्र सरकार ने घटा दी है। पहले सचिन को एक्स कैटेगिरी की सुरक्षा प्रदान की गई थी। वहीं, मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के बेटे और वर्ली के विधायक आदित्य ठाकरे की सुरक्षा को वाई से अपग्रेड करके जेड कर दी गई है। ये निर्णय राज्य सरकार ने हाईप्रोफाइल लोगों की सुरक्षा समीक्षा के बाद लिया है। टाइम्स ऑफ इंडिया ने एक अधिकारी के हवाले से लिखा है कि एक्स कैटेगिरी में सचिन के पास हर समय एक पुलिस कांस्टेबल तैनात रहता था। हालांकि अब उन्हें भी पुलिस एस्कॉट मिल सकता है। भाजपा नेता एकनाथ खड़से को वाई श्रेणी की सुरक्षा प्राप्त है लेकिन उनके एस्कॉट को हटा दिया गया है। 

वहीं, उत्तर प्रदेश के पूर्व राज्यपाल राम नाईक की सुरक्षा जेड प्लस से घटाकर एक्स कर दी गई है। इसी कड़ी में वरिष्ठ वकील उज्जवल निकम की जेड प्लस की सुरक्षा घटाकर वाई श्रेणी कर दी गई है। समाजसेवी अन्ना हजारे की सुरक्षा बढ़ाते हुए सरकार ने वाई से जेड श्रेणी कर दी गई है। 

बता दें कि सुरक्षा बढ़ाने या घटाने का निर्णय एक समिति लेती है जो हर तीन महीने पर खतरे का आकलन करती है। समिति द्वारा इंटेलिजेंस एजेंसियों और पुलिस थानों से मिले जानकारी के आधार पर सुरक्षा घटाने या बढ़ाने का फैसला किया जाता है। एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि समिति ने 97 लोगों को मिली सुरक्षा की समीक्षा की है। 29 लोगों की सुरक्षा में कटौती की गई है, जबकि 16 लोगों की सुरक्षा हटा दी गई है।