उदयपुर। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने जहां सोमवार को काशी विश्वनाथ कारिडोर को समर्पित किया, वहीं इसी दिन उदयपुर जिले के वल्लभनगर क्षेत्र के चारगदिया गांव में जाट समाज के आराध्य देव वीर तेजाजी मंदिर की नींव रखी गई। पांच करोड़ रुपये की लागत से बनने वाला यह मंदिर मेवाड़ के भव्य मंदिरों में से एक होगा। जहां हाईटेक सुविधाओं के साथ-साथ अन्य सुविधाएं उपलब्ध होंगी। चारगदिया गांव में सोमवार को मंदिर निमार्ण का काम शुरू किए जाने से पहले नींव रखी गई। नवशिला रखने की बोली वरदा पुत्र रामजी जाट बांसड़ा ने लगाई। इसके बाद नौ शिला की नींव में स्थापना की। श्रीसांवलिया सेठ की तर्ज बनाया जाएगा मंदिर तेजाजी मंदिर चितौड़गढ़ के मंडफिया स्थित सांवलियाजी मंदिर की तर्ज पर बनाया जाएगा। जिसमें विभिन्न तरह के पत्थरों को उपयोग में लिया जाएगा। आर्किटेक्ट द्वारा तैयार नक्शे में अत्याधुनिक टेक्नोलाजी का उपयोग किया जाएगा। मंदिर के समीप सड़क के दूसरी तरफ की जमीन पर आधुनिक सुविधाओं से युक्त पर्यटन स्थल बनाया जाएगा। इसमें गार्डन, हाल सहित अन्य सुविधाएं भी होगी। तेजाजी मंदिर श्रीसांवलियाजी के मंदिर के नक्शे की तरह शिखर मंदिर बनाया जाएगा। जिसमें गर्भगृह, उसके सामने चौकी, पांच गुंबद, तीन गेट हाेंगे। मंदिर निर्माण में अनुमानित पांच करोड़ रुपये की लागत लगेगी। उल्लेखनीय है कि मेवाड़ में जाट समाज का वीर तेजाजी का यह पहला विशाल मंदिर बनने जा रहा है। जहां प्रतिमा भी विशाल होगी। अभी तक मेवाड़ में वीर तेजाजी के मंदिर के रूप में चारगदिया स्थित एकमात्र छोटा मंदिर था, जिसे विशाल बनाए जाने की तैयारी पिछले कुछ वर्षों से चल रही थी लेकिन मूर्त रूप सोमवार से शुरू हुआ। यहां बनाए जा रहे मंदिर में वीर तेजाजी की प्रतिमा नागौर के खरनाल में बनवाई है, जाे 11 फीट लंबी और नौ टन वजनी है। राहुल गांधी फरवरी में अजमेर के वीर तेजाजी मंदिर में दर्शन करने पहुंचे थे कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी इसी साल फरवरी में राजस्थान दौरे के बीच अजमेर के सुरसरा गांव स्थित वीर तेजाजी मंदिर में दर्शन करने आए थे। तब उन्होंने किसान आंदोलन की सफलता के लिए पूजा-अर्चना की थी। वीर तेजाजी की जाट समाज ही नहीं, बल्कि किसान समाज में बड़ी मान्यता है