वाराणसी । कांग्रेस महासचिव एवं उप्र प्रभारी प्रियंका गांधी ने कहा है कि सीएए के खिलाफ शांतिपूर्वक प्रदर्शन करने वालो को जेल में रखा गया और उन पर गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया। उन्होंने कहा कि हम संघर्ष करते रहेंगे और देश की आवाज उठाते रहेंगे, सरकार जो कर रही है संविधान के खिलाफ है। 
प्रियंका गांधी शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी थीं। उन्होंने सीएए के खिलाफ विरोध प्रदर्शन के दौरान जेल गये कार्यकर्ताओं से बात करने के बाद पत्रकारों से बात भी की। उन्होंने कहा कि शांतिपूर्वक प्रदर्शन करने वालो को जेल में रखा गया, इनमें से एक एकता जी की छोटी बच्ची उनका इंतजार कर रही थी। मैं इन सब से मिलना चाह रही थी। इन लोगो ने मुझसे बात की और बताया कि कैसा कैसा हुआ उनके साथ, बहुत अन्याय हुआ है उन सबके साथ। शांतिपूर्वक प्रदर्शन कर रहे थे कोई ऐसी बात नही थी लेकिन सबको जेल में पटक दिया गया। पन्द्रह दिन वहां रखा और अलग-अलग उन पर गंभीर धाराओं में मामला दर्ज किया है। मुझे उन पर बहुत गर्व है कि इन लोगो ने इतना संघर्ष किया। हम संघर्ष करते रहेंगे और देश की आवाज उठाते रहेंगे सरकार जो कर रही है संविधान के खिलाफ है। इससे पहले अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी की महासचिव प्रियंका गांधी शुक्रवार को वाराणसी पहुंची और वहां से वह संत रविदास मंदिर में गयी जहां उन्होंने प्रार्थना किया। कांग्रेस महासचिव वहां से पंचगंगा घाट गयी जहां उन्होंने वहां स्थित श्रीमठ में पूजन एवं दर्शन किया। चार घंटे के कार्यक्रम में प्रियंका संशोधित नागरिकता कानून और राष्ट्रीय नगारिक पंजी के खिलाफ शांतिपूर्ण प्रदर्शन कर रहे आंदोलनकारियों और सामाजिक कार्यकर्ताओं से संवाद किया।