कन्नौज. उत्तर प्रदेश के कन्नौज (kannauj) में 11 जनवरी को डबल डेकर स्लीपर बस और ट्रक की जबरदस्त टक्कर में 20 लोगों की मौत हो गई थी. इस हादसे में पीड़ितों से मुलाकात करने समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) कन्नौज पहुंचे. इस दौरान उन्होंने अस्तपाल में पीड़ित के पास खड़े डॉक्टर को वहां से यह कहकर भगा दिया कि तुम एक बहुत छोटे कर्मचारी हो, बाहर भाग जाओ यहां से. दरअसल, इससे पहले कि डॉक्टर अपनी बात पूरी कर पाते अखिलेश ने उन्हें बीच में रोकते हुए कहा, 'तुम मत बोलो, तुम सरकारी आदमी हो. हम जानते हैं सरकार क्या होती है. इसलिए मत बोलो क्योंकि तुम सरकार के आदमी हो. तुम्हें नहीं बोलना चाहिए.'

अखिलेश बोले- यहां से भाग जाओ
अखिलेश यादव ने आगे कहा, 'तुम सरकार का पक्ष नहीं ले सकते. तुम बहुत छोटे कर्मचारी हो.' इसके बाद सपा मुखिया ने मौके पर खड़े डॉक्‍टर को बाहर भगाते हुए कहा कि एक दम दूर हो जाओ यहां से...बाहर भाग जाओ यहां से.'
 अखिलेश ने हादसे के लिए सरकार को ठहराया दोषी
कन्नौज हादसे पर सियासत भी तेज हो गई है. सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कन्नौज जनपद में बस जलने और यात्रियों की मौत पर शोक जताते हुए कहा है कि इस घटना के लिए सरकार दोषी है. उन्‍होंने सवाल उठाते हुए कहा कि सरकार ने मानक से अधिक लम्बी बस को परमिट कैसे दे दिया? इसके अलावा कन्नौज में बनने वाले फायर स्टेशन के काम को रोक दिया. उन्होंने सरकार से मांग की कन्नौज की घटना में मृत व्यक्तियों को 10-10 लाख का मुआवजा दिया जाए.

बता दें यह हादसा छिबरामऊ थाना क्षेत्र के अंतर्गत चिलोई गांव में हुआ. कन्नौज के पुलिस अधीक्षक (एसपी) अमरेंद्र सिंह ने बताया कि इस हादसे में 20 यात्रियों की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि घायल हुए 21 यात्रियों को इलाज के लिये अस्पताल में भर्ती करवाया गया है. इनमें 10 से 12 यात्री ऐसे भी हैं जिन्होंने अपनी जान बचाने के लिये जलती हुई बस का शीशा तोड़कर छलांग लगा दी. उन्होंने कहा कि बस में लगभग 45 यात्री थे, जो घटना के समय फर्रुखाबाद से जयपुर जा रहे थे.