नरसिंहपुर. मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के नरसिंहपुर (Narsinghpur) ज़िले के मुगवानी के जंगल के आस पास के गांवों के लोग पिछले 2 दिनों से दहशत में हैं. दरअसल पिछले 2 दिनों से यहां के कई गांवों में जंगली हाथियों (Wild elephants) के पगमार्क (Pugmark) देखे जा रहे हैं, जो उनके इन इलाकों में होने की पुष्टि कर रहे हैं. ग्रामीणों एवं वन विभाग के कर्मचारियों ने खेतों व निचले इलाकों से हाथियों के पगमार्क मिलने की पुष्टि की है. जहां स्थानीय ग्रामीण हाथियों के इस इलाके में होने से दहशत में हैं, वहीं वन विभाग जंगली हाथियों के अपने क्षेत्र में आने से खासा खुश नजर आ रहा है.

वन विभाग की मुनादी

पिछले 2 दिनों से वन विभाग की 10-10 सदस्यीय दो टीमें गश्त के साथ यहां के इलाकों में मुनादी कर यहां के ग्रामीणों को समझाईश दे रही हैं. मुनादी में इलाके में जंगली हाथी देखे जाने की बात कही जा रही है. ग्रामीण पहले से तेंदुए के नाम पर दहशत में थे, तो अब हाथियों के यहां आने से उनके माथे पर चिंता की लकीरें और बड़ी हो गईं हैं. वन विभाग यहां के लोगों से अपील कर कह रहा है कि वो अकेले वन क्षेत्र में या खेतों में ना जाएं.


2 जंगली हाथियों के देखे जाने की पुष्टि

कलेक्टर दीपक सक्सेना ने बताया कि इलाके में 2 जंगली हाथी जरूर देखे गए हैं, जिनका अपने झुंड से अलग होकर भटककर यहां पहुंचने का अनुमान है. उन्हें विशेषज्ञों द्वारा जल्द रेस्क्यू कर वापस करने की योजना है. हालांकि वन विभाग को अभी तक हाथी नहीं मिले हैं. वह अभी तक पगमार्क ही खोज पाया है. बताया जा रहा है कि हाथी छत्तीसगढ़ के जंगलों से यहां पहुंचे हैं, फिलहाल प्रशासन पशोपेश में तो जनता दहशत में है.