सेक्स एक ऐसा ऐक्ट है जिसमें दोनों पार्टनर्स को पूरी तरह इंवॉल्व होना होता है। पुरुषों के सामने अक्सर यह दिक्कत होती है कि अपनी फीमेल पार्टनर को किस तरह ऑर्गेज़म फील कराएं, फोर प्ले में कौन-से ऐक्ट इंक्लूड करें ताकि फीमेल पार्टनर उत्तेजना महसूस करे...
थोड़ा अजीब लग सकता है लेकिन यह सच है कि ना सिर्फ बेहतर किस के लिए बल्कि बेहतर फोरप्ले के लिए भी आपको अपनी सांसों को रिद्मिक बनाना आना चाहिए। जिस तरह आप किस करते समय इस बात का ध्यान रखते हैं कि पार्टनर को सांस लेने में दिक्कत ना हो, ठीक उसी तरह आपको इस बात का भी पता होना चाहिए कि पार्टनर को उत्तेजित करने में सांसें कैसे काम करती हैं।
स्मूच और लिप किस के बाद आगे बढ़ें, नेक आपका नेक्स्ट फोकस एरिया होगा तो आपकी पार्टनर को मूड में आने में वक्त नहीं लगेगा और वह भी आपके साथ पूरी तरह इंवॉल्व हो पाएगी। नेक के आस-पास किस करते समय लॉन्ग सक के बाद उस प्लेस पर अपनी गर्म सांसों को रिलीज करते हुए आगे बढ़ें।
महिलाओं को मूड में लाने के लिए और ऐक्ट में उनकी भागीदारी सुनिश्चि करन के लिए ओरल सेक्स बेहतरीन रोल प्ले करता है। आप क्लिटोरिस पर अपनी टंग से लाइट रब करना शुरू करेंगे तो आपकी पार्टनर की लिबिडो चरम पर पहुंचने में देर नहीं लगेगी।
क्लिटोरिस जी-पॉइंट होता है, यह बहुत अधिक संवेदनशील और गहराई तक सेंसेशन फैलाने का काम करता है। टंग पॉइंट से क्लिटोरिस पॉइंट को लाइटली रब करने पर फीमेल्स में तीव्र उत्तेजना होती है।
वजाइनल स्टिम्यूलेशन से महिलाएं पूरी तरह मदहोश हो जाती हैं। इस स्थिति में उन्हें ऑर्गेज़म फील करने में मदद मिलती है। इंटरकोर्स के लिए यही राइट टाइम माना जाता है क्योंकि इस स्थिति में कपल इंटरकोर्स को अधिक इंजॉय कर पाते हैं।