Saturday, December 10, 2022
HomeखबरेंMurder update: आफताब ने किए श्रद्धा के 35 टुकड़े, अब तक 10...

Murder update: आफताब ने किए श्रद्धा के 35 टुकड़े, अब तक 10 टुकड़े बरामद

Murder दिल्ली में 6 महीने पुरानी हत्या के मामले में सनसनीखेज खुलासा हुआ। प्रेमी आफताब अमीन पूनावाला ने लिव इन पार्टनर और प्रेमिका श्रद्धा की हत्या कर उसके शव के 35 टुकड़े किए और उन्हें 18 दिन तक दिल्ली के अलग-अलग इलाकों में ठिकाने लगाता रहा। पुलिस ने आरोपी आफताब को शनिवार को गिरफ्तार कर लिया है। श्रद्धा मर्डर केस के आरोपी आफताब अमीन पूनावाला को लेकर दिल्ली पुलिस महरौली के जंगल गई है। आफताब ने श्रद्धा की बॉडी के टुकड़े यहीं फेंके। अब तक 10 टुकड़े बरामद किए गए हैंं। श्रद्धा के सिर और कुछ दूसरे बॉडी पार्ट्स की तलाश जारी है। फोरेंसिक एक्सपर्ट अभी मिले टुकड़ों की जांच करेंगे। आफताब ने श्रद्धा का फोन भी फेंक दिया था। पुलिस ने कहा कि लास्ट लोकेशन के जरिए इसे हासिल किया जा सकता है। उस हथियार की तलाश है, जिनसे आफताब ने श्रद्धा के टुकड़े किए। पुलिस ने पूछताछ के लिए आफताब के दोस्तों को भी बुलाया है।

आफताब अमीन पूनावाला ने शादी का झांसा देकर कॉल सेंटर में काम करने वाली महिला सहकर्मी को मुम्बई से दिल्ली लेकर आ गया। जब युवती ने शादी का दबाव बनाया तो युवक ने हत्या कर शव के कई टुकड़े कर दिए। फिर उन्हें दिल्ली के अलग-अलग ठिकानों में फेंक दिया। घटना के करीब पांच महीने बाद वारदात का खुलासा होने पर पुलिस ने आरोपी आफताब अमीन पूनावाला को गिरफ्तार कर लिया है। एक साल पहले श्रद्धा अफताब के साथ रहने के लिए मुंबई से दिल्ली शिफ्ट हुई थी।

बेटी ने फोन उठाना बंद किया तो परिवार दिल्ली आया

पुलिस ने बताया कि 18 मई के बाद श्रद्धा ने परिवार का फोन उठाना बंद कर दिया। इससे चिंता हुई और पिता विकास मदान बेटी का हालचाल जानने 8 नवंबर को दिल्ली पहुंचे। जब वे इसके घर पहुंचे तो ताला लगा था। 59 वर्षीय विकास मदान वाकर ने आठ नम्वबर को अपनी बेटी के अपहरण की एफआईआर दिल्ली के महरौली थाने में दर्ज कराई थी। पीड़ित ने बताया कि वह परिवार सहित महाराष्ट्र के पालघर में रहते हैं। पीड़ित की 26 वर्षीय बेटी श्रद्धा वाकर मुम्बई के मलाड इलाके में स्थित बहुराष्ट्रीय कम्पनी के कॉल सेंटर में नौकरी करती थी। यहीं पर श्रद्धा की मुलाकात आफताब अमीन से हुई। जल्द ही दोनों एक दूसरे को पसंद करने लगे और वे लिव-इन रिलेशन में रहने लगे। जब परिवार को इस रिश्ते के बारे में जानकारी हुई तो उन्होंने विरोध करना शुरू कर दिया।

फेसबुक की फोटो से मिली युवती की लोकेशन

श्रद्धा के पिता विकास मदान वाकर ने बताया कि विरोध करने पर बेटी और आफताब ने अचानक मुम्बई को छोड़ दिया था। बाद में मालूम हुआ कि वे महरौली के छतरपुर इलाके में रहते हैं। उन्होंने बताया कि किसी न किसी माध्यम से बेटी की जानकारी मिलती रहती थी। उन्हें फेसबुक पर अपलोड की गई फोटो से यह भी पता लगा कि श्रद्धा हिमाचल प्रदेश घूमने भी गई है, लेकिन उसके बाद से कोई सूचना नहीं मिली। फिर फोन नंबर पर भी सम्पर्क करने की कोशिश की गई, लेकिन वह भी नहीं मिला। फिर अनहोनी की आशंका होने पर वह आठ नवंबर को सीधे छतरपुर स्थित फ्लैट में गए जहां बेटी किराये पर रहती थी। वहां पर ताला बंद होने के बाद विकास ने महरौली थाने में पहुंचकर पुलिस को अपहरण की सूचना दी और एफआईआर दर्ज कराई।

विवाह को लेकर अक्सर दोनों में होता था विवाद

पुलिस ने टेक्निकल सर्विलांस से आफताब को शनिवार को ढूंढ निकाला। आफताब ने बताया कि शादी करने को लेकर अक्सर श्रद्धा उस पर दबाव बनाती थी। इसी पर दोनों में विवाद होता रहता था, इसलिए 18 मई को झगड़ा हुआ तो उसने श्रद्धा की गला घोंटकर हत्या कर दी। फिर शव को चापड़ से कई टुकड़ों में बांटा और अलग-अलग भागों में फेंक दिए। इसके बाद पुलिस ने आफताब के बयान पर हत्या की धारा में मुकदमा दर्ज कर लिया है। फिलहाल पुलिस की टीम आरोपी के बयान के आधार पर शव के टुकड़े ढूंढने की कोशिश कर रही है।

आफताब का कबूलनामा- श्रद्धा शादी करने के लिए दबाव बना रही थी

पिता की शिकायत पर पुलिस ने आफताब को शनिवार को गिरफ्तार कर लिया। पूछताछ में उसने बताया दोनों के बीच अक्सर झगड़ा होता रहता था। वह शादी के दबाव बना रही थी। इसलिए तंग आकर हत्या कर दी। अब पुलिस ने मर्डर का केस दर्ज कर श्रद्धा की बॉडी को सर्च करना शुरू कर दिया है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments

Join Our Whatsapp Group