Saturday, October 1, 2022
Homeखबरें12 सूत्रीय मांगो को लेकर बीएसए कार्यालय पर गरजे शिक्षक

12 सूत्रीय मांगो को लेकर बीएसए कार्यालय पर गरजे शिक्षक

बस्ती । अखिल भारतीय प्राथमिक शिक्षक संघ राष्ट्रीय नेतृत्व के आवाहन पर उत्तर प्रदेशीय प्राथमिक शिक्षक संघ जिलाध्यक्ष उदयशंकर शुक्ल के संयोजन में शिक्षकों, शिक्षा मित्रों, अनुदेशकों, रसोईयों ने पुरानी पेंशन नीति बहाली के साथ ही 12 सूत्रीय मांगों को लेकर बीएसए कार्यालय पर धरना प्रदर्शन किया। धरने के बाद राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री, मुख्यमंत्री, राज्यपाल, शिक्षा मंत्री, केन्द्रीय मानव संसाधन मंत्री को सम्बोधित 10101 हस्ताक्षरयुक्त ज्ञापन उप जिलाधिकारी सदर शैलेष दूबे को सौंपा गया।
धरने को सम्बोधित करते हुये संघ जिलाध्यक्ष उदयशंकर शुक्ल ने कहा कि संघ द्वारा  शिक्षकों, शिक्षा मित्रों, अनुदेशकों, रसोईयों की समस्याओं के समाधान हेतु निरन्तर संघर्ष जारी है। यदि  शिक्षा मित्रों, अनुदेशकों को शिक्षक बनाने,  रसोईयों को सम्मान जनक मानदेय दिये जाने के साथ ही पुरानी पेंशन नीति बहाली की मांग न मानी गई तो आगामी 15 नवम्बर को लखनऊ के इको गार्डन, 30 जनवरी 2023 को दिल्ली के रामलीला मैदान में विशाल धरना प्रदर्शन किया जायेगा। उन्होने अधिकार हासिल करने के लिये एकजुटता पर जोर दिया। कहा कि शिक्षक ,खुद को कमजोर न समझें, 2.3 मिलियन सदस्य 24 राज्यों में अधिकारों के लिये संघर्षरत है।  माध्यमिक शिक्षक संघ के अनिरूद्ध त्रिपाठी ने शिक्षकों का हौसला बढाते हुये कहा कि शिक्षक की कोख में प्रलय और सृजन दोनों पलते हैं। सरकार शिक्षकों को निर्णायक आन्दोलन के लिये बाध्य न करे।
सौपे ज्ञापन में पुरानी पेंशन नीति बहाली,  शिक्षा मित्र, अनुदेशक, शिक्षा कर्मी, नियोजित शिक्षक आदि संविदा कर्मियों के नियमितीकरण किये जाने, नयी राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 से शिक्षक विरोधी प्राविधान हटाने, सातवे वेतन आयोग की विसंगति दूर करने, राज्य कर्मचारियों एवं राजकीय शिक्षकों की भांति परिषदीय शिक्षकों एवं कर्मियों को निःशुल्क कैशलेस चिकित्सा व्यवस्था उपलब्ध कराये जाने, राज्य कर्मचारियों की भांति अर्जित अवकाश सुविधा बहाल करने, शिक्षकों के स्थानान्तरण और पदोन्नित समयबद्ध ढंग से किये जाने, सुप्रीम कोर्ट के निर्णय के अनुसार गैर शैक्षणिक कार्यों से मुक्त करने, परिषदीय विद्यालयों की परिसम्पत्त्यिों की सुरक्षा हेतु प्रत्येक विद्यालय में चौकीदार की व्यवस्था करने, रसोइयों को नियमित करने और सभी विद्यालयों में बच्चो के बैठने हेतु डेस्क, बेंच की व्यवस्था करने, मध्यान्ह भोजन योजना में बिगत 6 माह से बकाया कनवर्जन कास्ट विद्यालयों के खातों में भेजे जाने आदि की मांग शामिल है।
धरने को संघ के जिला मंत्री राघवेन्द्र प्रताप सिंह, कार्यवाहक अध्यक्ष अखिलेश मिश्र, कोषाध्यक्ष अभय सिंह यादव, विजय प्रकाश चौधरी, शैल शुक्ल, आनन्द दूबे, महेश कुमार, इन्द्रसेन मिश्र, सतीश शंकर, अभिषेक उपाध्याय, दिवाकर सिंह, फैजान अहमद, सन्तोष शुक्ल, शशिकान्त धर दूबे, पटेश्वरी प्रसाद निषाद, राम पाल वर्मा, देवेन्द्र वर्मा, चन्द्रभान चौरसिया, विनोद यादव, रीता शुक्ल, बब्बन पाण्डेय, राजेश चौधरी, योगेश्वर शुक्ल, रामभरत वर्मा, नरेन्द्र पाण्डेय, वृजेश पाण्डेय, कृष्ण कुमार पाल, राघवेन्द्र उपाध्याय, अतुल पाण्डेय, इन्दु बाला त्रिपााठी, सुशीला त्रिपाठी, रक्षा राम वर्मा के साथ ही शिक्षा मित्र संघ के राम पराग चौधरी,  अटेवा के तौव्वाब अली आदि ने सम्बोधित किया। मुख्य रूप से रमेश विश्वकर्मा, त्रिलोकीनाथ, विनय कुुमार, ओम प्रकाश पाण्डेय, मो. याकूब, सन्तोष शुक्ल, आनन्द सिंह, रामचन्द्र शुक्ल, कन्हैयालाल भारती, महमूद आलम, विजय प्रकाश वर्मा,  गिरिजाशंकर चौधरी, राम रेखा  चौधरी, मारूफ खान, सन्तोष भट्ट, राजेश चौधरी, दुरलाल, पप्पू सक्सेना, भैयाराम रावत, गुड्डू चौधरी, ज्ञान उपाध्याय, नरेन्द्र पाण्डेय, सुनील पाण्डेय, नरेन्द्र दूबे, उपेन्द्र पाण्डेय, रविन्द्रनाथ, पुष्पलता पाण्डेय, नीलम, इन्दुबाला, जया यादव के साथ ही हजारों की संख्या में  शिक्षक, शिक्षा मित्र, अनुदेशक, रसोईया ने हिस्सा लिया।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments