Thursday, December 8, 2022
HomeखबरेंVikram-S : भारत का पहला निजी रॉकेट लॉन्च के ल‍िए तैयार, श्रीहरीकोटा...

Vikram-S : भारत का पहला निजी रॉकेट लॉन्च के ल‍िए तैयार, श्रीहरीकोटा से सुबह 11:30 बजे भरेगा उड़ान

Vikram-S : भारत का पहला निजी रॉकेट विक्रम-S लॉन्च के लिए तैयार है। स्काईरूट एयरोस्पेस के इस पहले मिशन का नाम ‘प्रारंभ’ है। विक्रम-S आज श्रीहरीकोटा में सतीश धवन स्पेस सेंटर से लॉन्च होगा। सिंगल स्टेज वाले इस रॉकेट को इंडियन स्टार्टअप स्काईरूट एयरोस्पेस ने बनाया है। ये एक तरह का डेमोंसट्रेशन मिशन है जिसमें तीन पेलोड को पृथ्वी से करीब 100 किलोमीटर की ऊंचाई तक ले जाया जाएगा। कॉमर्शियल स्पेस एक्सप्लोरेशन को प्रमोट करने वाली भारत की नोडल एजेंसी इन-स्पेस ने कहा, विक्रम-S सबऑर्बिटल व्हीकल को लॉन्च की मंजूरी दे दी गई है। रॉकेट 11:30 बजे लॉन्च होगा। लॉन्च की कुल अवधि महज 300 सेकंड होगी। इस मिशन का नाम प्रारंभ है।

स्काईरूट एयरोस्पेस के मुख्य परिचालन अधिकारी एन भरत डाका ने एक बयान में कहा, ‘‘विक्रम-एस रॉकेट एकल चरण वाला उपकक्षीय प्रक्षेपण यान है जो तीन उपभोक्ता पेलोड लेकर जाएगा और अंतरिक्ष यानों की विक्रम श्रृंखला में अनेक प्रौद्योगिकियों के परीक्षण तथा उन्हें मान्यता देने में मदद करेगा.” स्काईरूट के रॉकेट का यह नाम भारतीय अंतरिक्ष कार्यक्रम के जनक और प्रसिद्ध वैज्ञानिक विक्रम साराभाई के नाम पर रखा गया है.

Vikram-S : स्काईरूट एयरोस्पेस रचेगी इतिहास 

इस मिशन के साथ स्काईरूट एयरोस्पेस अंतरिक्ष में एक रॉकेट लॉन्च करने वाली भारत की पहली निजी अंतरिक्ष कंपनी बनने के लिए तैयार है, जो अंतरिक्ष क्षेत्र के लिए एक नए युग की शुरुआत करेगी। इसे 2020 में निजी क्षेत्र की भागीदारी की सुविधा के लिए खोला गया था। स्काईरूट एयरोस्पेस के चीफ ऑपरेटिंग ऑफिसर नागा भारत डाका ने एक बयान में कहा कि विक्रम-एस रॉकेट एक सिंगल-स्टेज सब-ऑर्बिटल लॉन्च व्हीकल है जो तीन ग्राहक पेलोड ले जाएगा और स्पेस लॉन्च वाहनों की विक्रम श्रृंखला में अधिकांश तकनीकों का परीक्षण और सत्यापन करने में मदद करेगा।

Vikram-S : अपने साथ तीन कॉमर्शियल पेलोड्स लेकर जा रहा

विक्रम-एस रॉकेट एक सिंगल-स्टेज सब-ऑर्बिटल लॉन्च व्हीकल है, जो अपने साथ तीन कॉमर्शियल पेलोड्स लेकर जा रहा है. यह एक तरह की टेस्ट फ्लाइट है. अगर इसमें कामयाबी मिलती है, तो भारत का नाम प्राइवेट स्पेस कंपनी के रॉकेट लॉन्चिंग के मामले में दुनिया अग्रणी देशों में शामिल हो जाएगा. हैदराबाद स्थित स्काईरूट एयरोस्पेस कंपनी अंतरिक्ष में सैटेलाइट्स लॉन्च करने के लिए स्पेस लॉन्च व्हीकल बनाती है.

Vikram-S : रॉकेट की खासियत

विक्रम-1 रॉकेट 225 KG वजन के पेलोड को 500 किमी ऊंचाई वाले SSPO या 315 KG वजन के पेलोड को 500 किमी की लोअर अर्थ ऑर्बिट में स्थापित करेगा. यह रॉकेट 24 घंटे में ही बनकर तैयार हो जाएगा और लॉन्च भी किया जा सकेगा. विक्रम-2 रॉकेट 410 किलो वजन के पेलोड को 500 किमी के लोअर अर्थ ऑर्बिट में स्थापित करेगा. इसके ऊपरी हिस्से में क्रायोजेनिक इंजन लगेगा. विक्रम-3 रॉकेट 580 किलो के पेलोड को 500 किमी के SSPO और 730 किलो के पेलोड को 500 किमी के लोअर अर्थ ऑर्बिट में स्थापित करेगा. इन दोनों ही रॉकेटों को 72 घंटे में बनाकर लॉन्च किया जा सकेगा.

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments

Join Our Whatsapp Group