Thursday, June 20, 2024
Homeबिज़नेसअंतरिम बजट से धार्मिक पर्यटन क्षेत्र में आएगा बूम, शेयरों में आसमानी...

अंतरिम बजट से धार्मिक पर्यटन क्षेत्र में आएगा बूम, शेयरों में आसमानी उछाल

पिछले दिनों प्रधानमंत्री मोदी ने पर्यटन को बढ़ावा देने के लिये जो पहल की उससे धार्मिक पर्यटन के क्षेत्र काफी बढ़ोतरी देखी जा रही है। पर्यटन के क्षेत्र की कंपनी आईटीडीसी का शेयर पिछले चंद दिनों में 31 फीसदी से अधिक ऊपर जा चुका है। इस कंपनी के शेयर ने निवेशकों को 81.84 प्रतिशत तक का रिटर्न दिया है। इस शेयर की कुल बढ़ोतरी देखी जाये तो पिछले छह महीने यह शेयर 135 प्रतिशत की उछाल ले चुका है।दूसरी ओर सरकार ने पर्यटन के लिये खजाना खोल दिया है। कल ही पेश किये गये अंतरिम बजट में वित्त वर्ष 20224-25 के लिये सरकार ने पर्यटन आवंटन को बढ़ाकर 2,449.62 करोड़ कर दिया है जो कि चालू वित्त वर्ष से लगभग 44.7 प्रतिशत अधिक है।

पिछले वित्त वर्ष में यह आवंटन 1692.10 करोड़ रुपये था। सरकार ने बताया कि राज्यों को प्रतिष्ठित पर्यटन केंद्रों का विकास करने, ब्रांडिंग और मार्केटिंग के लिए प्रोत्साहित किया जाएगा। सुविधाओं और सेवाओं की गुणवत्ता के आधार पर पर्यटन केंद्रों की रेटिंग के लिए एक रूपरेखा स्थापित होगी। विकास को बढ़ावा देने के लिए राज्यों को समान आधार पर दीर्घकालिक ब्याज मुक्त ऋण देंगे।नये अंतरिम बजट में सरकार ने अयोध्या, मथुरा, काशी व प्रयागराज की पर्यटन ब्रांडिंग को विश्व स्तरीय करने का निर्णय लिया है। सरकार ने यह भी निर्णय लिया है कि इसके लिये ब्याज मुक्त लोन भी अब लंबी अवधि के लिये दिया जायेगा।

देश के कई प्रमुख धार्मिक पर्यटन स्थल वाराणसी, अयोध्या, मथुरा, विंध्याचल, चित्रकूट में विकास के तमाम काम तेजी से किए जा रहे हैं। वाराणसी में श्रीकाशी विश्वनाथ कॉरिडोर, अयोध्या में राममंदिर के चौतरफा विकास के साथ विंध्याचल, कुंभ तीर्थ क्षेत्र प्रयागराज में विकास कार्यों की झड़ी लगी हुई है। अयोध्या में दिव्य राममंदिर का निर्माण व रामलला की प्राण प्रतिष्ठा के बाद अब यूपी समेत अन्य राज्यों के प्रमुख पर्यटन व धार्मिक स्थलों का भाग्योदय भी राज्य सरकारें करा सकेंगी। इस कड़ी में मथुरा, विंध्याचल, प्रयागराज, गोरखपुर, चित्रकूट और झांसी आदि प्रमुख पर्यटन स्थलों को संजाने संवारने का काम आगे बढ़ेगा। वित्त मंत्री ने पर्यटन केंद्रों के समग्र विकास पर जोर देते हुए कहा कि बुनियादी ढांचे और बंदरगाह कनेक्टिविटी परियोजनाओं से घरेलू पर्यटन को बड़ा बढ़ावा मिलेगा। वित्त मंत्री ने लक्षद्वीप का उल्लेख इसलिए किया, क्योंकि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गत चार जनवरी को लक्षद्वीप का दौरा किया था। उन्होंने कहा, देश के पर्यटन में स्थानीय उद्यमिता के अवसर है। ऐसे में भारत के कई द्वीपों पर सुविधाओं को बढ़ाने की योजना है।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments