Sunday, January 29, 2023
Homeमध्यप्रदेशइंदौर के अहिल्या आश्रम से मुख्यमंत्री सीएम राइज योजना के स्कूलों के...

इंदौर के अहिल्या आश्रम से मुख्यमंत्री सीएम राइज योजना के स्कूलों के भूमिपूजन के लिए पहुंचे शिवराज सिंह

इंदौर   मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान डेली कॉलेज में यूथ कॉन्क्लेव में हिस्सा लेने के बाद अहिल्याश्रम पहुंचे। यहां एक प्रदर्शनी का अवलोकन करने के बाद वे अब मंच पर पहुंच गए हैं। यहां सीएम को संस्कृति एवं पर्यटन मंत्री उषा ठाकुर से चर्चा करते देखा गया। अभी स्कूलों पर आधारित एक शॉर्ट फिल्म दिखाई जा रही है। भूमि पूजन में हिस्सा लेकर छतरपुर के लिए रवाना हो जाएंगे।

दीप जलाकर किया शुभारंभ

उन्होंने डेली कॉलेज ऑडिटोरियम में आयोजित कार्यक्रम के मंच पर पहुंचकर दीप प्रज्जवलित कर कार्यक्रम का औपचारिक शुभारंभ किया। यंग थिंकर्स फोरम द्वारा विभिन्न राष्ट्रीय संस्थानों एवं प्रदेश के विश्वविद्यालयों के संयुक्त तत्वावधान में 29 व 30 अक्टूबर को इस कॉन्क्लेव का आयोजन किया जा रहा है। इसमें चिंतक, विचारक और प्रज्ञा प्रवाह के अखिल भारतीय संयोजक जे.नंद कुमार सहित कार्यक्रम के विशेष अतिथि हैं। देशभर से 500 चयनित युवा इस कॉन्क्लेव में अपनी भागीदारी दर्ज करा रहे हैं। इससे पहले चौहान सुबह 9.15 बजे भोपाल से इंदौर के लिए हेलीकाप्टर द्वारा रवाना हुए। वे पुलिस ट्रेनिंग कॉलेज के हेलिपैड पर 9.50 बजे पहुंचे। यहां से सीएम डेली कॉलेज में यूथ कॉन्क्लेव में शामिल होने के बाद सुबह 10.30 बजे सीएम राइज योजना के तहत चयनित इंदौर के 5 स्कूलों सहित प्रदेश के कुल 69 सीएम राइज स्कूलों के नए भवनों का भूमि पूजन करेंगे। भूमि पूजन का यह कार्यक्रम पोलो ग्राउंड स्थित शासकीय अहिल्या आश्रम कन्या हायर सेकेंडरी स्कूल नंबर-1 के परिसर में आयोजित किया गया है। कार्यक्रम का सीधा प्रसारण प्रदेश के सभी जिलों में दिखाया जाएगा। इसके पूर्व शुक्रवार को प्रमुख सचिव (स्कूल शिक्षा) रश्मि अरुण शमी, कमिश्नर डॉ. पवन कुमार शर्मा, कलेक्टर मनीष सिंह, निगम कमिश्नर प्रतिभा पाल सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारियों ने निरीक्षण किया। इंदौर में सीएम राइज योजना के तहत 7 विधानसभा क्षेत्रों में 11 सीएम राइज स्कूलों के भवन बनाए जा रहे हैं। इसके अलावा दो विधानसभा क्षेत्रों में 2 सीएम राइज स्कूलों की स्थापना की प्रक्रिया जारी है। अभी 5 सीएम राइज स्कूलों के नवीन भवनों का भूमि पूजन हो रहा है। सीएम राइज योजना के अंतर्गत चयनित स्कूलों में प्राइवेट स्कूलों की तरह सुविधाएं विकसित की जाएगी। इनमें प्रशिक्षित मानव संसाधन भी उपलब्ध रहेंगे। प्रत्येक स्कूलों के निर्माण में 30 से 40 करोड़ रुपए खर्च किए जाएंगे।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments

Join Our Whatsapp Group