Tuesday, April 23, 2024
Homeदेशइंसानी हड्डियों से बना ली कुर्सी और करने लगा तंत्र-मंत्र

इंसानी हड्डियों से बना ली कुर्सी और करने लगा तंत्र-मंत्र

तंत्र-मंत्र : दुनिया भर में कुछ लोग अजीबो गरीब कामों को अंजाम देते रहते है और ऐसी खबरें सोशल मिडिया में अक्सर वायरल होती रहती है। लेकिन कर्नाटक में एक ऐसी घटना सामने आयी है जो काफी भयावह और चौंकाने वाली है। कर्नाटक के जोगनहल्ली गांव में रविवार की रात लोगों ने देखा कि एक शख्स श्मशान घाट में पूजा कर रहा था उसे गांव के लोगों ने कुछ अजीबो-गरीब हरकते हुए उसे देखा तो उन्होंने पुलिस को सूचित कर दिया। पुलिस बिना किसी देरी के तुरंत घटनास्थल पर दाखिल हो गई। पुलिस ने पूजा कर रहे बलराम को गिरफ्तार कर लिया गया। जब उससे पूछा गया कि वह इस तरह पूजा क्यों कर रहा है तो कई सनसनीखेज तथ्य सामने आया। बलराम ने बताया कि उसका एक फार्म हाउस है। पुलिस वहां गई और खोजबीन शुरू कर दी। पूछताछ के दौरान उस शख्स ने बताया कि उसका पास ही फार्म हाउस भी है। पुलिस ने जब फार्म हाउस की तलाशी ली तो पुलिस हैरत में पड़ गई क्योंकि फार्म हाउस में 25 इंसानी खोपडिय़ों के साथ सैकड़ों हड्डियां मिलीं। यह देखकर स्थानीय लोगों के साथ-साथ अधिकारी भी हैरान रह गए।

हड्डियों से बनी कुर्सी और बिस्तर देखकर अधिकारी भी हैरान

रिपोर्ट्स के मुताबिक, बलराम नाम के एक व्यक्ति ने इन्हें गुप्त पूजा के लिए एकत्र किया था। इस वजह से यह मामला काफी उलझन पैदा कर रहा है। यह घटना रामानगर जिले के जोगनहल्ली गांव में सामने आई है। पुलिस देखा कि उन खोपडिय़ों पर हल्दी, केसर और सफेद धारियां नजर आ रही हैं। अधिकारियों ने प्रारंभिक जांच के दौरान निष्कर्ष निकाला कि उसने उन्हें गुप्त पूजा के लिए एकत्र किया था। पुलिस केस दर्ज कर मामले की जांच कर रही है। फोरेंसिक साइंस लेबोरेटरी (एफएसएल) की एक टीम ने घटनास्थल का दौरा किया और सुराग एकत्र किए। एफएसएल टीम इन खोपडिय़ों और हड्डियों की उम्र निर्धारित करने के लिए खास टेस्ट कर रही है। हड्डियों से बनी कुर्सी और बिस्तर देखकर अधिकारी भी हैरान रह गए। पुलिस जांच के दौरान बलराम ने बताया कि ये खोपडि़य़ां और हड्डियां उसके पूर्वजों के समय की हैं लेकिन अधिकारियों को संदेह है कि ये चार से पांच साल पहले की हैं। ऐसा माना जाता है कि उसने ये हड्डियां श्मशान घाट से एकत्र की थीं। पता चला कि बलराम ने अपनी जमीन पर एक शेड बनवाया और उसका नाम श्री शमशान संहिता रखा। श्मशान से खोपडिय़ां और हड्डियां लाने से पता चला कि वह तंत्र-मंत्र करता था।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments