Tuesday, April 23, 2024
Homeदेशहाइड्रोकार्बन उद्योग में सुरक्षा सर्वोपरि

हाइड्रोकार्बन उद्योग में सुरक्षा सर्वोपरि

भोपाल। हाइड्रोकार्बन उद्योग में सुरक्षा सर्वोपरि है क्योंकि यहां उत्पादों की खतरनाक प्रकृति से निपटा जाता है। इस संबंध में किसी समझौता का ना केवल वित्तीय लिहाज से दूरगामी परिणाम हो सकता है, बल्कि यह उस संगठन की ब्रांड छवि को भी बुरी तरह प्रभावित कर सकता है। यह बात भोपाल नगर निगम के ट्रांसपोर्ट मैनेजर चंचलेश गिरहरे ने कही। इस मौके पर थिंक गैस ने भोपाल नगर निगम के ट्रांसपोर्ट मैनेजर चंचलेश गिरहरे को सम्मानित किया जिन्होंने भोपाल में थिंक गैस के साथ मिलकर प्राकृतिक गैस पारितंत्र को लागू
करने का अपना अनुभव साझा किया और यह भी बताया कि नगर निगम ने नगर में सीएनजी बसों को अपना कर बचत से लाभ उठाया। थिंक गैस ने प्राकृतिक गैस को अपनाने में अग्रणी रहने और इस नगर में बदलाव का एजेंट होने के लिए ऑटो ड्राइवर श्सुनील नामदेव, आशिमा रॉयल सिटी की निवासी और गृहणी सुश्री दीपाली पवार और प्रियदर्शिनी पैरामाउंट के निवासी उमंग चंद जैन को भी सम्मानित किया। थिंक गैस ने नैचुरल गैस सोसाइटी के साथ मिलकर ज्ञान अनुभव प्रवाह सहयात्रा के दूसरे संस्करण की सह मेज़बानी की है।

बगरोदा स्थित एलएनजी इकाई का दौरा

थिंक गैस ने जीपीएस के दूसरे संस्करण में एलएनजी स्टोरेज और डिस्पेंसिंग में सर्वोत्तम व्यवस्थाओं को प्रदर्शित किया और उसे साझा किया। इसने सभी प्रतिनिधियों
के लिए भोपाल के बगरोडा औद्योगिक क्षेत्र में अपनी तरह की अनूठी एलएनजी इकाई में एक दिन के दौरे का भी आयोजन किया। नैचुरल गैस सोसाइटी के कार्यकारी निदेशक श्डीवी शास्त्री ने मुख्य अतिथि श्रीमती स्मिता भारद्वाज, आईएएस, अपर मुख्य सचिव, खाद्य नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण, मध्य प्रदेश सरकार, वीसी चित्तोदा, वरिष्ठ सलाहकार, नैचुरल गैस सोसाइटी, श्संदीप त्रेहान, सीओओ थिंक गैस का स्वागत किया। स्मिता भारद्वाज आईएएस ने कहा, सरकारी तंत्र, प्राकृतिक गैस पारितंत्र
के विकास का पूर्ण समर्थन करता है। उन्होंने प्राकृतिक गैस का उपयोग बढ़ाने, मिथेन के नुकसान को घटाने के लिए बेहतर प्रौद्योगिकियों को लागू करने और एक जबरदस्त कार्बन क्रेडिट व्यवस्था का निर्माण करने पर जोर दिया। लिंग विविधता और समावेशिता पर बोलते हुए स्मिता भारद्वाज ने इस उद्योग में महिलाओं के लिए रोजगार के अवसरों का सृजन कर उनकी भागीदारी बढ़ाने पर जोर दिया।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments