Tuesday, April 23, 2024
Homeखबरेंआरईसी ने जीता नवीकरणीय ऊर्जा वित्तपोषण श्रेणी में अवार्ड

आरईसी ने जीता नवीकरणीय ऊर्जा वित्तपोषण श्रेणी में अवार्ड

नई दिल्‍ली। महारत्न सीपीएसई और अग्रणी एनबीएफसी, आरईसी लिमिटेड को ‘नवीकरणीय ऊर्जा वित्तपोषण’ श्रेणी में स्कॉच ईएसजी पुरस्कार 2024 से सम्मानित किया गया है। यह पुरस्कार टिकाऊ वित्त, हरित भविष्य की दिशा में प्रगति को बढ़ावा देने के प्रति आरईसी की प्रतिबद्धता को दर्शाता है। आरईसी लिमिटेड के कार्यकारी निदेशक टी.एस.सी. बोश ने इस पुरस्कार को नई दिल्ली में प्राप्त किया। यह सम्मान टिकाऊ वित्तपोषण, हरित भविष्य का मार्ग प्रशस्त करने और नवीकरणीय ऊर्जा में परिवर्तन को तेज करने के प्रति आरईसी के समर्पण को रेखांकित करता है। आरईसी भारत के स्वच्छ ऊर्जा परिवर्तन में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हुए, देश के स्थायी विकास में सक्रिय योगदान दे रहा है। विभिन्न पहलों और उपलब्धियों के माध्यम से, आरईसी ने कई टिकाऊ वित्तपोषण परियोजनाओं के लिए प्रतिबद्धता जताई है और हरित परियोजनाओं के लिए विभिन्न समझौता ज्ञापनों पर हस्ताक्षर किए हैं। इसके अलावा, आरईसी ने सौर, पवन, पीएसपी, ई-मोबिलिटी, आरई विनिर्माण, ग्रीन अमोनिया/हाइड्रोजन और बैटरी भंडारण जैसे क्षेत्रों में फैली हरित परियोजनाओं के विभिन्न डेवलपर्स के साथ अलग-अलग चर्चा की है। भविष्य में आरईसी को अपने नवीकरणीय ऊर्जा पोर्टफोलियो में एक महत्वपूर्ण विस्तार की उम्मीद कर रहा है, अनुमानों के अनुसार 2030 तक इसके वर्तमान मूल्य में 10 गुना वृद्धि की उम्मीद है, जो 3 लाख करोड़ रुपये से अधिक तक पहुंच जाएगी, जो इसके एयूएम का लगभग 30% है। स्कॉच ईएसजी पुरस्कार उन संगठनों को पुरस्कार प्रदान करते हैं, जो पर्यावरण, सामाजिक और शासन (ईएसजी) प्रथाओं में उत्कृष्ट प्रदर्शन करते हैं। स्कॉच ईएसजी पुरस्कार और मूल्यांकन, भारत 2047 के लिए संगठनों की प्रतिबद्धता के मूल्यांकन के लिए एक महत्वपूर्ण बेंचमार्क के रूप में कार्य करता है। यह एक स्थायी और बढ़ते व्यावसायिक भविष्य को आकार देने के लिए स्थायी निवेश और प्रक्रियाओं के बीच परस्पर क्रिया पर केंद्रित है।

आरईसी के बारे में

आरईसी विद्युत मंत्रालय के तहत एक ‘महारत्न’ केंद्रीय सार्वजनिक क्षेत्र का उद्यम है। यह आरबीआई के अधीन गैर-बैंकिंग वित्तीय कंपनी (एनबीएफसी) और अवसंरचना वित्तपोषण कंपनी (आईएफसी) के रूप में पंजीकृत है। आरईसी उत्पादन, पारेषण (ट्रांसमिशन), वितरण, नवीकरणीय ऊर्जा और नई प्रौद्योगिकियों सहित संपूर्ण विद्युत-बुनियादी ढांचा क्षेत्र का वित्तपोषण कर रहा है। नई प्रौद्योगिकियों में इलेक्ट्रिक वाहन, बैटरी भंडारण, पंप भंडारण परियोजनाएं, हरित हाइड्रोजन और ग्रीन अमोनिया परियोजनाएं शामिल हैं।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments