Saturday, June 22, 2024
Homeखबरेंएमपी में नौतपा पर पारा जाएगा 48 डिग्री पार, जानें नौतपा में...

एमपी में नौतपा पर पारा जाएगा 48 डिग्री पार, जानें नौतपा में लू से बचने के उपाय

भोपाल। मध्‍य प्रदेश में इन दिनों भीषण गर्मी पड रही है। सूरज से लगातार अग्निवर्षा जारी है। प्रदेश के कई शहरों में पारा 45 डिग्री पार पहुंच चुका है। भोपाल की बात करें तो यहां 44 से ऊपर बना हुआ है। इसी बीच आज से नौतपा की शुरुआत हो चुकी है। नौतपे में लू की चपेट में रहेंगे। मध्य प्रदेश के कई जिले में पारा 48 डिग्री तक जा सकता है। इसके साथ ही मध्य प्रदेश के कुछ जिलों में बादल, बारिश और आंधी की संभावना बन सकती है। क्‍योंकि बंगाल की खाड़ी में बना चक्रवात और कम दबाव का क्षेत्र बांग्लादेश-म्यांमार की ओर मूव कर रहा है। इससे नौतपा में बारिश भी हो सकती है। नौतपा में सूर्य की किरणें सीधे पृथ्वी पर पड़ती हैं तो इससे तापमान में वृद्धि होती है। इस दौरान सुबह सूर्य देव को जल अर्पित करने के साथ ही लोग पानी, शरबत, रसदार फल, छाता, नींबू पानी, छाछ, दही, सत्तू आदि का दान करते हैं।

नौतपा में लू से कैसे बचें

पर्याप्त मात्रा में पानी और तरल पदार्थ पीते रहें। दोपहर के दौरान धूप में बाहर निकलने से बचें, जरूरत हो तभी बाहर निकलें। हल्के रंग के, ढीले और आरामदायक सूती कपड़े पहनें। धूप में बाहर जाते समय सुरक्षात्मक चश्मे, छाता, टोपी और जूते का उपयोग करें। जब बाहर का तापमान अधिक हो तो अधिक श्रम वाले कार्य न करें। यात्रा करते समय अपने साथ शीतल पेयजल रखें। शराब, चाय, काफी, कार्बोनेटेड युक्त शीतल पेय का सेवन नहीं करे, जो शरीर को निर्जलित करते हैं। उच्च प्रोटीन युक्त भोजन और बासी भोजन का सेवन न करें। पार्क किए गए वाहनों में बच्चों या पालतू जानवरों को न छोड़ें। यदि आप अस्वस्थ महसूस करते हैं, तो तुरंत डाक्टर से परामर्श लें। घर पर बने पेय जैसे लस्सी, नींबू पानी, छाछ आदि का उपयोग करें जो शरीर को हाइड्रेट करने में मदद करता है।

लू से प्रभावित व्यक्ति के उपचार

व्यक्ति को छाया मे लिटाएं और शरीर को गीले कपड़े से बार-बार पोछें या धोएं। शरीर के तापमान को कम करने के लिए सामान्य तापमान का पानी सिर पर डालें। शरीर को हाइड्रेट करने के लिए ओआरएस, घर पर बने पेय जैसे लस्सी, नींबू पानी, छाछ आदि पिलाएं। अगर रोगी को अस्पताल में भर्ती करने की आवश्यकता है तो तत्काल निकट के स्वास्थ्य केंद्र या अस्पताल ले जाएं क्योंकि हीट स्ट्रोक घातक हो सकता है।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments