Monday, February 26, 2024
Homeराज्‍यमध्यप्रदेशजीतू पटवारी पहुंचे अस्पताल, बढ़ सकता है मौतों का आंकड़ा

जीतू पटवारी पहुंचे अस्पताल, बढ़ सकता है मौतों का आंकड़ा

भोपाल ।     हरदा में पटाखा फैक्टरी में आग और ब्लास्ट के मामले में अब तक 11 लोगों की मौत हुई है। आंकड़ा बढ़ सकता है। बुधवार सुबह तक मलबे को हटाने का काम जारी है।  

जीतू पटवारी ने जाना मरीजों का हाल 

मध्य प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष जीतू पटवारी, पूर्व मंत्री सज्जन सिंह वर्मा, पीसी शर्मा एवं अन्य नेताओं के साथ हरदा पहुंचे। उन्होंने हरदा के अस्पताल में मरीजों का हालचाल जाना। उनसे हादसे की जानकारी भी ली। कांग्रेस इस मुद्दे पर भाजपा को घेरने की तैयारी कर रही है। इससे पहले सोमवार को कांग्रेस नेता और विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष उमंग सिंगार ने भी दो विधायकों की एक समिति बनाई थी। जीतू पटवारी ने भी कांग्रेस नेताओं की जांच समिति बनाई है।    

देर रात तक हमीदिया आते रहे मरीज

भोपाल के हमीदिया अस्पताल में हरदा से रेफर होकर घायलों के पहुंचने का सिलसिला देर रात तक जारी रहा। हमीदिया अस्पताल में 28 घायलों को हरदा से रेफर कर लाया गया है, जिनमें से एक की मौत हो गई है। तीन घायलों का भोपाल के एम्स में और एक घायल का भोपाल के नर्मदा अस्पताल में इलाज चल रहा है। इस प्रकार कुल 32 घायलों को भोपाल लाया गया है, जिनमें से एक की मौत हो गई है। मृतक का नाम रहीम खान बताया जा रहा है।
 
बढ़ सकता है मौतों का आंकड़ा, जीतू पटवारी पहुंचे अस्पताल, सीएम भी जाएंगे

मध्यप्रदेश के हरदा जिले में पटाखा फैक्ट्री में हुए विस्फोट में 11 लोगों की मौत हो गई। 200 से ज्यादा लोग घायल हैं। हादसे के बाद से रेस्क्यू ऑपरेशन जारी है। वाराणसी से आई नेशनल डिजास्टर रिस्पांस फोर्स (NDRF) की टीम रेस्क्यू ऑपरेशन में जुटी हुई है। जेसीबी से मलबा हटाया जा रहा है, जिसमें आग अभी भी धधक रही है। मुख्यमंत्री मोहन यादव बुधवार को हालात का जायजा लेने हरदा जाएंगे। इस दौरान सीएम यादव मृतकों, घायलों और उनके परिजनों पर भी मुलाकात कर सकते हैं। 

अभी भी फूट रहे पटाखे

हादसा कितना भयानक था इस बात का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि घटनास्थल पर अभी भी पटाखे फूट रहे हैं। जेसीबी और पोकलेन मशीन से मलबा हटाने पर बारूद और पटाखे दबे हुए मिल रहे हैं। 300 से ज्यादा दमकल वाहनों से आग बुझाने का प्रयास किया जा चुका है, इसके बाद भी मलबे से धुआं उठ रहा है। हरदा अस्पताल में डयूटी पर तैनात एसडीओपी बैतूल बीएस मौर्य ने बताया कि अब तक 217 लोग अस्पताल में लाए गए थे। इनमें से 11 की मौत हुई है। 73 अब भी हरदा में भर्ती हैं। इनमें 51 फैक्टरी में काम करने वाले लोग शामिल हैं। 95 को इलाज के बाद डिस्चार्ज किया जा चुका है।  

अब भी लाशें उगल रहा है मलबा 

हरदा फटाका फैक्टरी के तलघर में लोगों के दबे होने की आशंका है। 20 घंटे से ज्यादा समय से रेस्क्यू ऑपरेशन चल रहा है। प्रशासन ने तलघर से मलबा हटाने का काम अभी शुरू नहीं किया है। ।300 से ज्यादा दमकल आग बुझाने में लगी है। एक दर्जन से अधिक पोकलेन मशीनें मलबा हटाने के काम में लगी हुई हैं।

मृतकों के परिजनों को 15-15 लाख देने के आदेश 

नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल (NGT)ने ब्लास्ट केस पर संज्ञान लेते हुए एक आदेश जारी किया है। जिसमें मृतकों के परिजन को 15 लाख, मामूली घायलों को तीन और गंभीर घायलों को पांच लाख रुपये देने के आदेश  दिए हैं। साथ ही हादसे में जिनके घर जल गए हैं उन्हें पाच और जिनके खाली कराए गए उन्हें 2 लाख रुपए देने के आदेश दिए गए हैं।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments