Wednesday, April 17, 2024
Homeराज्‍यमध्यप्रदेशमध्यप्रदेश के सभी जिलो में स्थापित होंगे मूल्य नियंत्रण केंद्र

मध्यप्रदेश के सभी जिलो में स्थापित होंगे मूल्य नियंत्रण केंद्र

भोपाल । भारत सरकार मूल्य नियंत्रण केन्द्रों के माध्यम से 22 आवश्यक वस्तुओं के दैनिक बाजार भाव की मॉनीटरिंग करती है। यह काम उपभोक्ता मामला विभाग करता है। अभी तक प्रदेशों में चिन्हित जिलों में ही मूल्य नियंत्रण केन्द्र स्थापित हैं। लेकिन भारत सरकार ने बाजार के मूल्यों की सटीक जानकारी के लिये देश के प्रत्येक जिले में मूल्य नियंत्रण केन्द्र खोलने का निर्णय लिया है। मध्यप्रदेश में अभी 11 जिलो में ये केन्द्र स्थापित है। लिहाजा शेष 41 जिलों में केन्द्र खोलने की प्रक्रिया प्रारंभ कर दी गई है। इस संबंध में संचालक खाद्य ने सभी संबंधित जिलों के कलेक्टरों को पत्र लिख कर आवश्यक कार्यवाही के निर्देश दिए हैं।
मूल्य नियंत्रण केन्द्रों द्वारा 22 आवश्यक वस्तुओं के दैनिक बाजार भाव (थोक और खुदरा) उच्च आय वर्ग, मध्यम आय वर्ग और निम्न आय वर्ग के हिसाब से इक्कठा किए जाते हैं। इन्हें प्रतिदिन भारत सरकार को भेजा जाता है। इसके आधार पर सरकार यह निगरानी रखती है कि किसी वस्तु की कीमत अनापेक्षित तरीके से तो नहीं बढ़ रही है या फिर इन वस्तुओं का महंगाई में कितना योगदान है। इसके अलावा कल्याणकारी और आर्थिक नीतिगत निर्णयों में इन आंकड़ों का इस्तेमाल होता है। भारत सरकार एक मजूबत मूल्य रिपोर्टिंग प्रणाली विकसित करने जा रही है। लिहाजा अब सभी जिलों में मूल्य नियंत्रण केन्द्र स्थापित करने का निर्णय लिया गया है। इसको लेकर मुख्य सचिव मध्यप्रदेश को आवश्यक कार्यवाही के निर्देश दिए गए हैं।
भारत सरकार से मिले निर्देशों को बाद राज्य शासन ने सतना, सीधी, सिंगरौली, पन्ना, श्योपुर, भिण्ड, शिवपुरी, गुना, अशोक नगर, दतिया, देवास, रतलाम, शाजापुर, मंदसौर, नीमच, आगर मालवा, धार, अलीराजपुर, खरगोन, बड़वानी, खंडवा, बुरहानपुर, राजगढ़, सीहोर, रायसेन, विदिशा, हरदा, बैतूल, दमोह, छतरपुर, टीकमगढ़, निवाड़ी, कटनी, नरसिंहपुर, मंडला, छिंदवाड़ा, सिवनी, बालाघाट, डिंडोरी, उमरिया, अनूपपुर में मूल्य नियंत्रण केन्द्र स्थापित करने की प्रक्रिया प्रारंभ कर दी है।
मध्यप्रदेश में भोपाल, इंदौर, जबलपुर, ग्वालियर, रीवा, सागर, होशंगाबाद, उज्जैन, मुरैना, शहडोल और झाबुआ में मूल्य नियंत्रण केन्द्र स्थापित हैं।
केन्द्र स्थापित करने के पहले 10 दिन का ट्रायल पीरियड तय किया गया है। इन दिनों में प्रतिदिन तय प्रारूप में जिलों से दैनिक बाजार भाव केन्द्र को भेजे जाएंगे, जहां इनकी नियमित समीक्षा होगी।
चावल, गेहूं, आटा, चना दाल, अरहर दाल, उड़द दाल, मूंग दाल, मसूर दाल, मूंगफली का तेल, सरसों का तेल, वनस्पति, सोया तेल, सूरजमुखी तेल, पाम तेल, आलू, प्याज, टमाटर, चीनी, गुड़, दूध, चाय और नमक आवश्यक वस्तुओं में शामिल हैं। इनके प्रतिदिन के थोक और फुटकार भाव पर नजर रखी जाएगी।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments