Friday, June 14, 2024
Homeराज्‍यमध्यप्रदेशसंविदा कर्मचारियों को स्थाई के बराबर वेतन- भत्ता व सुविधाएं

संविदा कर्मचारियों को स्थाई के बराबर वेतन- भत्ता व सुविधाएं

भोपाल। प्रदेश के संविदा कर्मचारियों को मंगलवार को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बड़ी सौगात दी है। प्रदेश में अब संविदा कर्मचारियों की वार्षिक अनुबंध प्रक्रिया समाप्त कर दी गई है। अब प्रदेश के सवा लाख से अधिक संविदा कर्मचारियों को 90 प्रतिशत के स्थान पर 100 प्रतिशत वेतन दिया जाएगा।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने घोषणा करते हुए कहा कि कोरोना काल में संविदा कर्मचारियों ने नागरिकों की जिंदगी गई है, जिसे प्रदेश कभी भुला नहीं पाएगा। संविदा कर्मचारियों में क्षमताएं, सेवाभाव और कार्यकुशलता किसी से कम नहीं है। प्रदेश को आगे बढ़ाने में संविदा कर्मचारियों ने आगे बढ़कर कार्य किया है। ऐसे में मैं प्रदेश के संविदा कर्मचारियों को नियमित कर्मचारियों की तरह वेतन, भत्ते, गे्रच्यटी और बीमा देने की घोषणा करता हूं। इसके साथ ही संविदा कर्मचारियों को नियमित कर्मचारियों की तरह छुट्टियां, सीएल, ईएल, ऐच्छिक अवकाश और अनुकंपा नियुक्तियां भी दी जाएंगी।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि बीच-बीच में थोड़ी अपनी कुछ लड़ाई हो गई थी, वेतन काट लिया था। मुख्यमंत्री ने हाथ उठावाकर पूछा कि किस-किस का वेतन काटा गया था। इसके बाद मुख्यमंत्री ने कहा कि आंदोलन के दौरान काटा गया वेतन वापस किया जाएगा और आंदोलन के दौरान दर्ज मामले भी वापस लिए जाएंगे।

संविदा कर्मचारी हाथ और दिल की तरह

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने लाल परेड मैदान स्थित मोतीलाल नेहरू स्टेडियम में संविदा कर्मचारियों के सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि प्रदेश के भव्य भवन का निर्माण हो रहा है और इसकी नींव के पत्थर संविदा कर्मचारी हैं। इन्होंने नियमित कर्मचारियों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर और कहीं-कहीं उनसे भी अधिक कार्य किया है। ये मध्यप्रदेश के लिए दाएं-बाएं हाथ और दिल की तरह हैं।

संविदा कर्मचारियों के लिए प्रमुख घोषणाएं

  • संविदा कर्मचारियों को नियमित कर्मचारियों के बराबर वेतन मिलेगा
  • नेशनल पेंशन स्कीम का लाभ सभी को दिया जाएगा
  • स्वास्थ्य बीमा का लाभ भी मिलेगा
  • अनुकंपा नियुक्ति भी दी जाएगी
  • सेवानिवृत्ति पर ग्रेच्युटि की व्यवस्था भी की जाएगी
  • नियमित पदों पर भर्ती में 50 प्रतिशत आरक्षण मिलेगा
  • नियमित कर्मचारियों के समान अवकाश की पूरी सुविधा
  • महिला संविदा कर्मचारियों को मातृत्व अवकाश
  • छुट्टियां सीएल, ईएल, ऐच्छिक अवकाश भी नियमित कर्मचारियों की तरह

संविदा कर्मचारी नींव के पत्थर

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने संविदा कर्मचारियों के सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि चाहे स्वास्थ्य विभाग के फार्मासिस्ट हों, लैब टेक्नीशियन हों, एएनएम हों, स्टाफ नर्स हों या विद्युत विभाग के संविदा कर्मचारी, जो प्रदेश को उजाला देने का कार्य कर रहे हैं, सभी ने अपने दायित्व को बेहतर अंजाम दिया है। प्रदेश का सम्मान बढ़ाया है। ये सभी नींव के पत्थर हैं। जिस तरह मंदिर पर कलश दिखाई देता है, वे कलश जिस गुंबद पर टिका है, वह दीवारों पर टिका होता है। ये दीवारें नींव पर टिकी होती हैं। संविदा कर्मचारियों ने नियमित कर्मचारियों की तरह अपनी ड्यूटी बखूबी निभाई है। प्रदेश के हित में नियमित और संविदा कर्मचारियों ने कुशलता से दायित्व निर्वहन किया है। मध्यप्रदेश इसलिए तेजी से आगे बढ़ रहा है।

प्रदेश के विकास का लिया संकल्प

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के मंच पर पहुंचते ही हजारों की संख्या में संविदा कर्मचारियों ने आधी नहीं तूफान हैं, शिवराज सिंह चौहान हैं के लगातार नारे लगाते रहे। अपने संबोधन के बाद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने संविदा कर्मचारियों को प्रदेश के विकास के लिए बेहतर कार्य करने का संकल्प भी दिलवाया। बड़ी संख्या में उपस्थित संविदा कर्मचारियों ने दोनों हाथ उठाकर संकल्प लिया और मुख्यमंत्री चौहान द्वारा की गई घोषणाओं का ताली बजाकर हर्ष ध्वनि से स्वागत किया और आभार माना है।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments