Saturday, May 18, 2024
Homeराज्‍यमध्यप्रदेशजेंडर चेंज के बाद सॉफ्टवेयर इंजीनियर स्वाति से बनी शिवाय, चेहरे पर...

जेंडर चेंज के बाद सॉफ्टवेयर इंजीनियर स्वाति से बनी शिवाय, चेहरे पर उग आई दाढ़ी-मूंछ, घरवाले ढूंढ रहे दुल्हन

बैतूल: मध्यप्रदेश के बैतूल में पहली बार लिंग परिवर्तन का मामला सामने आया है। यहां रहने वाली सॉफ्टवेयर इंजीनियर स्वाति ने सर्जरी कराई और अब शिवाय बनकर जीवन जी रही है। लड़की से लड़का बनने का बैतूल जिले का पहला मामला है। पेशे से सॉफ्टवेयर इंजीनियर लड़की ने सर्जरी कराकर लड़का बन गई। अब चेहरे पर दाढ़ी-मूछ भी आ गई है तथा परिवार उसकी शादी के लड़की भी तलाश रहे हैं। जेंडर चेंज सर्जरी तीन स्टेप में होती है। पहली सर्जरी में हारमॉस चेंज होते हैं। दूसरी सर्जरी में ब्रेस्ट रिमूव होता है और थर्ड सर्जरी में बॉटम पार्ट की सर्जरी होती है।

संजय कॉलोनी निवासी 30 वर्ष के शिवाय तीन वर्ष पहले तक लड़की था तथा उनका नाम स्वाति था जो अब लड़का बन गया है। शिवाय का कहना है कि जन्म के पश्चात् जब उसे होश आया तो उसे लड़कों वाली फीलिंग आने लगी। आरम्भ में उसने छोटे बाल कर लिए तथा लड़कों की तरह ही खेलना आरम्भ कर दिया, मगर यह सब घर के लोगों को कुछ वक़्त पश्चात् ठीक नहीं लगा। मैं स्वयं भी अपने लड़की वाले शरीर से खुश नहीं थी। शिवाय ने एक बार यूट्यूब पर आर्यन पाशा को देखा। आर्यन लड़की से लड़का बना तथा फिर बॉडी बिल्डर बन गया। तत्पश्चात, मैंने भी लड़का बनने की ठान ली। तत्पश्चात, वो अपना जेंडर चेंज कराकर स्वाति से ‘शिवाय’ बन गया। शिवाय सूर्यवंशी ने बताया कि जेंडर चेंज सर्जरी के 3 स्टेप होते हैं। तत्पश्चात, लड़के से लड़की और लड़की से लड़का बना जा सकता है। दिल्ली के हॉस्पिटल में सर्जरी कराई है। पहली सर्जरी 2020 में हुई थी उसके बाद 3 वर्षों के अंदर तीन सर्जरी हुई। शिवाय ने बताया कि इस सर्जरी में तकरीबन 10 लाख रुपये खर्च आया है।

तीन स्टेप में होती है सर्जरी

शिवाय सूर्यवंशी ने बताया कि जेंडर चेंज सर्जरी तीन स्टेप में होती है। उन्होंने बताया कि दिल्ली के ऑलमेक हॉस्पिटल में उन्होंने सर्जरी कराई है। डॉक्टर नरेंद्र कौशिक ने सर्जरी की है। पहली सर्जरी 2020 में हुई थी, जिसमें हारमॉस चेंज होते हैं। साथ ही वॉइस चेंज होती है व दाढ़ी आने लगती है। वहीं दूसरी सर्जरी में ब्रेस्ट रिमूव होता है और थर्ड सर्जरी में बॉटम पार्ट की सर्जरी होती है। हर सर्जरी के बाद तीन माह का आराम करना होता है। उन्होंने बताया कि अभी कुछ महीने पहले ही उनकी चौथी सर्जरी हुई थी, जिसमें स्किन टाइट करवाया गया है। इसके बाद आराम किया और अब पिछले एक सप्ताह से इंदौर में फिर से अपना जॉब शुरू कर दिया है। सर्जरी में लगभग 10 लाख रुपए खर्च हुआ है। शिवाय ने बताया वे पहले ही सर्जरी करना चाहते थे, लेकिन आर्थिक स्थिति ठीक नहीं होने से सर्जरी नहीं कर पाए। उन्होंने बताया कि आयुष्मान योजना के तहत भी अब सर्जरी कराई जा सकती है।

शिवाय सूर्यवंशी सर्जरी कराकर खुश हूं

शिवाय सूर्यवंशी ने बताया कि सर्जरी करवाकर मैं बहुत खुश हूं। अब लगता है कि मुझे जो शरीर चाहिए था वह मिल गया है। अब जल्दी लड़की देख कर शादी करूंगा। शिवाय के परिवार में भी लोग खुश हैं। शिवाय के बड़े भाई कृष्णा सूर्यवंशी ने बताया कि पहले जरूर हमने इसका विरोध किया था, लेकिन बाद में पूरे परिवार ने सहयोग किया। कृष्णा ने बताया कि अब उन्हें एक भाई और मिल गया हैं। जिससे उन्हें काफी मदद मिल रही है। कृष्णा ने बताया कि वह पहले पांच भाई बहन थे। स्वाति सबसे छोटी बहन थी। अब स्वाति के शिवाय बनने से तीन बहन और दो भाई हो गए हैं।

दस्तावेज में भी नाम बदल चुका है

उन्होंने बताया कि सर्जरी करने के बाद कलेक्टर को इस संबंध में सूचना दी थी। कलेक्टर ने एक पत्र दिया था। इसकी सहायता से दस्तावेज में नाम चेंज हो गया है। शिवाय के दस्तावेज पहले स्वाति नाम से थे सर्जरी के बाद उनके सभी दस्तावेज में भी नाम बदल चुका है। शिवाय ने बताया कि अब उन्होंने ऐसे लोगों को जो जेंडर चेंज सर्जरी करना चाहते हैं, उन्हें जागरूक करना शुरू कर दिया है। शिवाय एमपी वाला चैनल बनाया है। लोग इस संबंध में पूछताछ करते हैं। शिवाय ने बताया कि अधिकांश लोग लड़का से लड़की बनना पसंद करते हैं।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments