Monday, April 22, 2024
Homeराज्‍यमध्यप्रदेशपुलिस गिरफ्त में आए उज्जैन के शातिर 'बंटी-बबली', जाने क्‍या है पुरा...

पुलिस गिरफ्त में आए उज्जैन के शातिर ‘बंटी-बबली’, जाने क्‍या है पुरा मामला…

उज्जैन  ।   उज्जैन शहर में मोबाइल झपटने की वारदात करने वाले बंटी-बबली को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। दोनों के बीच प्रेम प्रसंग चल रहा था। घर वालों ने रिश्ता तय कर दिया था। कुछ माह बाद शादी होने वाली थी, लेकिन मंहगे शौक पूरा करने के लिए दोनों ने मोबाइल स्नेचिंग की वारदातों को अंजाम देना शुरू कर दिया। पुलिस दोनों को रिमांड पर लेकर पूछताछ कर रही है। एसपी प्रदीप शर्मा ने बताया कि शहर में कुछ दिनों से स्कूटी सवार युवक-युवती द्वारा राह चलते लोगों के साथ मोबाइल स्नेचिंग की वारदातों को अंजाम दिए जाने की घटना सामने आ रही थी, जिसमें बदमाश अलग-अलग थाना क्षेत्र में महिला-बुजुर्गो से मोबाइल झपटने के बाद दो पहिया वाहन पर सवार होकर भाग रहे थे। जिनकी गिरफ्तारी के लिए क्राइम ब्रांच और साइबर टीम को अलर्ट किया गया था। तकनीकी साक्ष्यों और सीसीटीवी कैमरों के आधार पर टीम को सफलता मिली। तिलकेश्वर कॉलोनी में रहने वाले पीयुष पिता दिनेश माली (19) और उसकी मंगेतर दीपिका पिता संतोष बोरासी (20) निवासी ग्राम असलावदा बड़नगर को हिरासत में लिया गया। दोनों की निशानदेही पर चार मोबाइल बरामद किए गए हैं। जो डेढ़ लाख कीमत के होना सामने आए हैं। दोनों ने नीलगंगा और माधवनगर थाना क्षेत्र में 4 से 5 वारदातों को अंजाम दिया है। पूछताछ में सामने सामने आया कि कुछ माह बाद उनकी शादी होने वाली है। मंहगे शौक पूरा करने के लिए वारदातों को मिलकर अंजाम दे रहे थे। पुलिस ने दोनों को न्यायालय में पेश कर रिमांड पर लिया है। वहीं वारदात में प्रयुक्त एक्टिवा गाड़ी भी बरामद कर ली गई है। 

10,000 से होगा टीम का सम्मान

एसपी शर्मा के अनुसार दोनों को गिरफ्तार करने में नीलगंगा टीआई विवेक विवेक कनोड़िया, सायबर सेल एसआई प्रतीक यादव, एएसआई दीपक कुमार, प्रधान आरक्षक कुलदीप भारद्वाज, रूपेश बिड़वान, राजपाल चंदेल, अनीस मंसूरी, गुलशन चौहान, राहुल पांचाल, आरक्षक दीपक दिनकर, लोकेश प्रजापति और सैनिक सुनील ठाकुर, भूपेन्द्र चतुर्वेदी की भूमिका रही है। पूरी टीम को 10 हजार के इनाम से पुरस्कृत किया जाएगा।

मोबाइल खरीदने वाले दो युवको को पकड़ा

एसपी शर्मा के अनुसार युवक-युवती मोबाइल स्नेचिंग के बाद परिचितों और दुकानों पर कम कीमत में ठिकाने लगा देते थे। स्नेचिंग के मोबाइल खरीदने वाले गोविंद चौहान निवासी बेगमबाग और फरदीन खान निवासी काजीपुरा को पकड़ा गया है। इनसे खरीदे गये दोनों मोबाइल बरामद किए गए हैं।

पीयूष का है आपराधिक रिकॉर्ड

पीयूष और उसकी मंगेतर ने एक मोबाइल परिचित को बेचा है, जिसकी बरामदगी के प्रयास किए जा रहे हैं। पीयुष का अपराधिक रिकॉर्ड खंगालने पर चार साल पहले जीवाजीगंज में हफ्तावसूली और धमकाने का प्रकरण दर्ज होना भी सामने आया है।

मोबाइल मिलने पर चेहरे पर दिखी मुस्कान

युवक ने अपनी मंगेतर के साथ मिलकर 10 मार्च को महावीर एवेन्यू में मोहित गुप्ता निवासी अंजुश्री कॉलोनी का मोबाइल छीना था। इसकी शिकायत माधवनगर थाने पर शिकायती आवेदन देकर की गई थी। वहीं 11 मार्च को विक्रमनगर ब्रिज से दोनों राधा चौहान निवासी गुलमर्ग कॉलोनी का मोबाइल छीनकर ले गए थे। 13 मार्च को दोनों ने नीलगंगा क्षेत्र के दो तालाब के पास सिंचाई विभाग से सेवानिवृत्त रूद्र कुमार शर्मा निवासी अमरनाथ एवेन्यू का मोबाइल लूट लिया था। मोबाइल मिलने पर तीनों के चेहरे पर मुस्कान आ गई थी। उन्होंने सात दिनों में ही दोनों को गिरफ्तार करने वाली पुलिस टीम का आभार माना।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments