Monday, April 22, 2024
Homeदुनियाचीन का खतरनाक प्लान, अब चीन में मुस्लिमों का होगा सिनिसिजेशन

चीन का खतरनाक प्लान, अब चीन में मुस्लिमों का होगा सिनिसिजेशन

कहने को तो चीन में लोकतंत्र है लेकिन चीन में होता कुछ ऐसा है जैसे कि वहा कोई तानाशाह सत्ता में बैठा हो। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार चीन ने अब ऐसा ऐसा निर्णय लिया जो मुस्लिमों की लिये खतरनाक साबित हो सकता है। वैसे भी चीन में मुस्लिमों के साथ हो रहे अत्याचार दुनिया भर में सुर्खियां पाते रहते है। चीन अपने मुस्लिमों पर अत्याचार और मानवाधिकार के उल्लंघों के आरोपों से घिरा हुआ रहता है।

चीन के एक सीनियर कम्यनिस्ट नेता मा शिनगुई ने कहा है कि देश में अब मुस्लिमों का चीनीकरण अनिवार्य हो गया है। मुसलमानों के खिलाफ पहले से ही अत्याचार और मानवाधिकार उल्लंघन के आरोपों में घिरे चीन ने एक और खतरनाक प्लान तैयार कर लिया है। चीन की सरकार सख्ती से मुसलमानों का चीनीकरण करने जा रही है। शिनजियांग में मुसलमान बहुल इलाकों में चीन अभियान चलाएगा। अभी 6 महीने पहले ही राष्ट्रपति शी जिनपिंग भी शिनजियांग पहुंचे थे और उन्होंने अधिकारियों से कहा था कि इस्लाम का सिनिसिजेशन शुरू किया जाए। इसका मतलब है कि वहां रहने वाले अल्पसंख्यक समुदाय को चीनी सभ्यता, संस्कृति और कम्युनिस्ट पार्टी के प्रति वफादार बनाने का काम शुरू किया जाए। जाहिर तौर पर यह काम बिना अत्याचार के नहीं किया जाएगा। ऐसे में जानकारों का कहना है कि चीन का यह नया प्लान बेहद खतरनाक है और चीन के अल्पसंख्यकों पर खतरा मंडरा रहा है।

चीन के सालाना संसदीय सत्र के दौरान नेता मा शिनगुई ने यह बयान दिया। वह गुआंगदोंग प्रांत के गवर्नर भी रह चुके हैं। बता दें कि हा के सालों में चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग कई बार इस्लाम, बौद्ध और ईसाइयों के सिनिसिजेशन की बात कर चुके हैं। उनका कहना है कि लोगों को केवल कम्युनिस्ट पार्टी के प्रति वफादार रहना चाहिए। इसके अलावा चीन की सरकार ने उत्तरपश्चिम के प्रांतों में एक साल तक इस्लाम के खिलाफ अभियान चलाया। आतंकवाद को खत्म करने के नाम पर यह अभियान चलाया जा रहा था। हालांकि इसका उद्देश्य उइगर मुसलमानों पर जुल्म ढाना और फिर उन्हें धर्मपरिवर्तन पर विवश करना था। साल 2022 में यूएन की एजेंसी ने कहा था कि चीन में मानवाधिकारों का गंभीर उल्लंघन हो रहा है। अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भी चीन की खूब आलोचना हुई। बावजूद इसके चीन में क्षेत्रीय अधिकारी सांस्कृतिक नरसंहार और बंधुआ मजदूरी करवाने से बाज नहीं आए। रिपोर्ट्स में यह भी कहा गया था कि शिजियांग में सबसे ज्यादा सोलर सेल का उत्पादन होता है। इन फैक्ट्रियों में मुसलमानों से जबरन काम लिया जाता है। दुनियाभर में इस बात का विरोध हुआ था। नवंबर 2023 की रिपोर्ट में कहा गया था कि चीन अपने कई प्रांतों में मस्जिदों को बंद करवा रहा है और मुसलमानों के चीनीकरण के लिए हर प्रयास कर रहा है। लोगों को नमाज पढऩे तक से रोक दिया गया है। सार्वजनिक दस्तावेजों, सैटलाइट इमेज और गवाहों के जरिए इस बात के सबूत भी दिए गए थे।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments