Wednesday, April 17, 2024
Homeधर्मHoroscope : 11 नवंबर को शुक्र का वृश्चिक राशि में प्रवेश, किस...

Horoscope : 11 नवंबर को शुक्र का वृश्चिक राशि में प्रवेश, किस राशि पर क्‍या होगा प्रभाव

Horoscope : महान ग्रह शुक्र 11 नवंबर की रात्रि 8 बजकर 08 मिनट पर तुला राशि की यात्रा समाप्त करके वृश्चिक राशि में प्रवेश कर रहे हैं। इस राशि पर ये 5 दिसंबर की शाम 5 बजकर 56 मिनट तक गोचर करेंगे,उसके बाद धनु राशि में प्रवेश कर जाएंगे। इनके बृश्चिक राशि गोचर करने से अन्य सभी राशियों पर कैसा प्रभाव पड़ेगा,इसका ज्योतिषीय विश्लेषण करते हैं।

मेष राशि-
राशि से अष्टम आयु भाव में गोचर करते हुए शुक्र का प्रभाव काफी मिलाजुला रहेगा। मान-सम्मान की वृद्धि तो होगी किंतु दांपत्य जीवन में कुछ कड़वाहट आ सकती है। शादी-विवाह से संबंधित वार्ता में थोड़ा और विलंब होगा। पैतृक संपत्ति प्राप्ति का योग बनेगा। परिवार में अलगाववाद की स्थिति उत्पन्न न होने दें। केंद्र अथवा राज्य सरकार के विभागों में प्रतीक्षित कार्य संपन्न होंगे। कार्यक्षेत्र में आपके षड्यंत्र कारी आपके खिलाफ सक्रिय रहेंगे। सावधान रहें। विवादों से दूरी बनाए रखें।

वृषभ राशि-
राशि से सप्तम दांपत्य भाव में गोचर करते हुए शुक्र का प्रभाव बेहतरीन सफलता दिलाएगा। स्वास्थ्य उत्तम रहेगा। लिए गए निर्णय और किए गए कार्यों की सराहना होगी। कार्य व्यापार में भी उन्नति होगी। इस अवधि के मध्य कोई नया व्यापार आरंभ करना चाहें तो उस दृष्टि से भी ग्रह-गोचर अनुकूल रहेगा। कोर्ट कचहरी के मामलों में निर्णय आपके पक्ष में आने के संकेत। इस अवधि के मध्य किसी को भी अधिक धन उधार के रूप में न दें अन्यथा वह धन समय पर नहीं मिलेगा।

मिथुन राशि-
राशि से छठे शत्रु भाव में गोचर करते हुए शुक्र का प्रभाव कई तरह के अप्रत्याशित उतार-चढ़ाव ला सकता है। कार्य-व्यापार में अधिक सफल न होने के परिणामस्वरूप आप निराश भी हो सकते हैं किंतु यह कम समय के लिए ही रहेगा। यात्रा देशाटन का लाभ मिलेगा। विदेशी कंपनियों में सर्विस अथवा नागरिकता के लिए किया गया प्रयास भी सफल रहेगा। झगड़े विवाद से बचें और कोर्ट कचहरी से संबंधित मामले बाहर ही सुलझा लेना समझदारी रहेगी। स्वास्थ्य के प्रति अधिक ध्यान दें।

कर्क राशि-
राशि से पंचम विद्या भाव में गोचर करते हुए शुक्र का प्रभाव आपके लिए किसी वरदान से कम नहीं है। विद्यार्थियों एवं प्रतियोगिता में बैठने वालों के लिए तो यह गोचर और भी शुभ परिणाम दायक रहेगा। प्रेम संबंधी मामलों में प्रगाढ़ता आएगी। प्रेम विवाह का निर्णय भी लेना चाह रहे हों तो अवसर अनुकूल रहेगा। संतान संबंधी चिंता दूर होगी। परिवार के वरिष्ठ सदस्यों तथा बड़े भाइयों से भी सहयोग के योग। अपनी ऊर्जाशक्ति का सही उपयोग करेंगे तो अधिक सफल रहेंगे।

सिंह राशि-
राशि से चतुर्थ सुखभाव में गोचर करते हुए शुक्र हर तरह से लाभदायक ही रहेंगे। जमीन जायदाद से जुड़े मामलों का निपटारा होगा। सरकारी विभागों में भी किसी भी तरह के टेंडर आदि का आवेदन करना चाह रहे हों तो उस दृष्टि से समय अनुकूल है। मित्रों तथा संबंधियों से सुखद समाचार प्राप्ति के योग। दूसरे देश की नागरिकता के लिए प्रयास कर रहे हों तो उस दृष्टि से भी ग्रह गोचर अति शुभ रहेगा। वाहन का क्रय भी कर सकते हैं। माता-पिता के स्वास्थ्य के प्रति अधिक चिंतनशील रहें।

कन्या राशि-
राशि से तृतीय पराक्रम भाव में गोचर करते हुए शुक्र का शुभ प्रभाव काफी मिलाजुला रहेगा। अपनी कुशल योजनाओं एवं कुशल रणनीतियों के चलते विषम हालात पर नियंत्रण पा लेंगे। परिवार के सदस्यों विशेष करके छोटे भाइयों से मतभेद न पैदा होने दें। धर्म और अध्यात्म के प्रति रुचि बढ़ेगी। सामाजिक पद प्रतिष्ठा भी बढ़ेगी। आर्थिक पक्ष मजबूत होगा। काफी दिनों का दिया गया धन भी वापस मिलने की उम्मीद। नौकरी में भी पदोन्नति नए अनुबंध की प्राप्ति के भी योग बनेंगे।

तुला राशि-
राशि से द्वितीय धन भाव में गोचर करते हुए शुक्र का प्रभाव काफी उतार-चढ़ाव वाला रहेगा। पैतृक संपत्ति प्राप्ति के योग। मकान अथवा वाहन का भी क्रय करना चाह रहे हों तो समय विशेष अनुकूल रहेगा। रचनात्मक कार्यों में सफलता मिलेगी। जो लोग नीचा दिखाने की कोशिश में लगे थे वही मदद के लिए आगे आएंगे फिर भी कार्यक्षेत्र में षड्यंत्र का शिकार होने से बचें। बेहतर रहेगा कार्य संपन्न करें और सीधे घर आएं कोर्ट कचहरी के मामले बाहर ही सुलझा लेना समझदारी रहेगी।

वृश्चिक राशि-
आपकी राशि में गोचर करते हुए शुक्र बेहतरीन सफलता दिलाएंगे। जो भी कार्य आरंभ करेंगे उसी में सफलता हासिल करेंगे। शिक्षा-प्रतियोगिता में सफलता मिलेगी। विलासिता पूर्ण वस्तुओं पर अधिक खर्च होगा। शासन सत्ता का भी पूर्ण सहयोग मिलेगा। कोई भी बड़े से बड़ा कार्य आरंभ करना हो अथवा किसी नए अनुबंध पर हस्ताक्षर करना हो तो उस दृष्टि से भी समय अनुकूल रहेगा। संतान के दायित्व की पूर्ति होगी। नव दंपत्ति के लिए संतान प्राप्ति एवं प्रादुर्भाव के भी योग।

धनु राशि-
राशि से बारहवें व्यय भाव में गोचर करते हुए शुक्र कई तरह के अप्रत्याशित परिणाम दिलाएंगे। अत्यधिक यात्रा के कारण थकान और खर्च बढ़ेगा जिसके परिणामस्वरूप आर्थिक तंगी का भी सामना करना पड़ सकता है। इस अवधि के मध्य विलासिता पूर्ण वस्तुओं पर भी अधिक व्यय होगा। यात्रा देशाटन का लाभ मिलेगा। विदेशी कंपनियों में सर्विस एवं नागरिकता के लिए किया गया प्रयास सफल रहेगा। स्वास्थ्य विशेष करके पेट संबंधी विकार तथा बाईं आंख से संबंधित समस्या से सावधान रहें।

मकर राशि-
राशि से एकादश लाभ भाव में गोचर करते हुए शुक्र अच्छी सफलता दिलाएंगे। शिक्षा में सफलता तथा संतान के दायित्व की पूर्ति होगी उच्चाधिकारियों से भी सहयोग के योग। किसी भी तरह के सरकारी टेंडर के लिए प्रयास करना चाह रहे हों तो उस दृष्टि से भी ग्रहफल अति अनुकूल रहेगा। इस समय जैसी सफलता चाहेंगे हासिल करेंगे। किसी भी तरह की सरकारी सर्विस के लिए आवेदन करना चाह रहे हों तो उसके लिए भी समय अनुकूल रहेगा। नवदंपति के लिए संतान प्राप्ति एवं प्रादुर्भाव के भी योग हैं।

कुंभ राशि-
राशि से दशम कर्म भाव में गोचर करते हुए शुक्र कार्यक्षेत्र में प्रभाव वृद्धि करेंगे। सामाजिक पद-प्रतिष्ठा भी बढ़ेगी। मकान अथवा वाहन का भी क्रय करना चाह रहे हों तो उस दृष्टि से ग्रह-गोचर अनुकूल रहेगा। केंद्र अथवा राज्य सरकार के विभागों में प्रतीक्षित कार्य संपन्न होंगे। विद्यार्थी वर्ग विदेश में पढ़ाई करने के लिए प्रयास कर रहे हो तो भी ग्रह-गोचर सफलता देंगे। मित्रों तथा संबंधियों से सुखद समाचार की प्राप्ति होगी। अपनी योजनाएं को गोपनीय रखें और आगे बढ़ें।

मीन राशि-
राशि से नवम भाग्यभाव में गोचर करते हुए शुक्र बेहतरीन सफलता दिलाएंगे। काफी दिनों से प्रतीक्षित पड़े कार्य संपन्न होंगे। कोई भी बड़े से बड़ा कार्य आरंभ करना हो अथवा किसी अन्य अनुबंध पर हस्ताक्षर करना हो तो उस दृष्टि से भी ग्रहफल अनुकूल रहेगा। विवाह संबंधी वार्ता भी सफल रहेगी। नव दंपति के लिए संतान प्राप्ति एवं प्रादुर्भाव के भी योग। धर्म और अध्यात्म में रूचि बढ़ेगी। धार्मिक संस्थाओं तथा अनाथालय आदि में बढ़ चढ़कर हिस्सा लेंगे और दान-पुण्य करेंगे।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments