Wednesday, April 17, 2024
Homeधर्मRaksha Bandhan पर पुरे दिन भद्रा का साया, कब बंधेगी राखी, जानें...

Raksha Bandhan पर पुरे दिन भद्रा का साया, कब बंधेगी राखी, जानें तारीख और शुभ मुहुर्त

Raksha Bandhan: हिंदू पंचांग के अनुसार हर साल सावन महीने की पूर्णिमा तिथि पर रक्षाबंधन का पर्व मनाया जाता है। रक्षाबंधन के दिन बहनें भाइयों की कलाई में राखी बांधकर लंबी उम्र की कामना करती हैं। इसके साथ ही भाई गिफ्ट देने के साथ रक्षा का वचन देते हैं। इस साल जहां एक ओर रक्षाबंधन की तिथि को लेकर लोग कन्फ्यूज है, तो वहीं दूसरी ओर भद्रा को लेकर लोगों के मन में शंकाएं है। कहा जाता है कि भद्रा में राखी बांधने से भाई की उम्र कम होती है।

रक्षाबंधन के दिन बहनें अपने भाइयों की कलाई में राखी बांधती हैं और उनकी लंबी आयु की कामना करती हैं। वहीं भाई प्रेमरूपी रक्षा धागे को बंधवा कर बहन की उम्र भर रक्षा करने का संकल्प लेते हैं। हालांकि इस साल भाई-बहन के अटूट प्रेम का प्रतीक रक्षाबंधन एक नहीं बल्कि 2 दिन माना जा रहा है। जानिए इसका क्या कारण है।

श्रावण पूर्णिमा तिथि पर भद्रा का साया

सावन पूर्णिमा पर रक्षाबंधन का पर्व मनाया जाता है और इस साल सावन माह की पूर्णिमा तिथि 30 अगस्त को है, लेकिन कहा जा रहा है कि इस साल 30 अगस्त को पूर्णिमा वाले दिन भद्रा का साया है। इस साल रक्षाबंधन का पर्व 30 और 31 अगस्त दो दिन मनाया जाएगा।

हिंद पंचांग के अनुसार सावन महीने की पूर्णिमा तिथि की शुरुआत 30 अगस्त को सुबह 10 बजकर 58 मिनट से हो रही है। इसका समापन 31 अगस्त को सुबह 07 बजकर 05 मिनट पर होगा। 30 अगस्त को पूर्णिमा तिथि की शुरुआत से ही यानी सुबह 10 बजकर 58 मिनट से भद्रा शुरू हो जा रही है और रात 09 बजकर 01 मिनट तक है।

राखी बांधने का शुभ मुहूर्त

30 अगस्त को रात 09 बजकर 01 से 31 अगस्त को राखी बांधने का मुहूर्त सूर्योदय काल से सुबह 07 बजकर 05 मिनट तक।

हिंदू धर्म में मान्यता है कि यदि श्रावण पूर्णिमा तिथि पर भद्रा का साया हो तो भद्राकाल तक राखी नहीं बांधी जा सकती है। उसके समापन के बाद ही राखी बांधी जाती है, क्योंकि भद्रा काल में राखी बांधना अशुभ माना जाता है। ऐसे में इस साल रक्षाबंधन का पर्व 30 और 31 अगस्त दो दिन मनाया जाएगा। कहा जाता है कि शूर्पणखा ने अपने भाई रावण को भद्रा काल में राखी बांध दी थी, जिस वजह से रावण के पूरे कुल का सर्वनाश हो गया। इसलिए ऐसा माना जाता है कि भद्राकाल में राखी नहीं बांधनी चाहिए। यह भी कहा जाता है कि भद्रा में राखी बांधने से भाई की उम्र कम होती है।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments