Saturday, May 25, 2024
Homeलाइफस्टाइलParenting Tips: बच्चों को आगे बढ़ने से रोकती हैं पेरेंट्स की ये...

Parenting Tips: बच्चों को आगे बढ़ने से रोकती हैं पेरेंट्स की ये गलतियां

Parenting Tips: जन्म से स्कूल जाने तक का जो समय होता है उसमें बच्चा अपने माता-पिता के साथ सबसे ज्यादा समय बिताता है, इस दौरान माता-पिता बच्चों को कई तरह की चीजें सिखाते हैं और शायद इसी के चलते माता-पिता को बच्चों का पहला शिक्षक कहा जाता है. हर माता-पिता अपने बच्चे से बेहद प्यार करते हैं. बचपन में बच्चों की मासूमियत भरी हरकतों और बातों पर तो पेरेंट्स को कुछ ज्यादा ही प्यार आता है लेकिन कई बार इसी प्यार के चलते बच्चे काफी जिद्दी हो जाते हैं.

कुछ पेरेंट्स ऐसे भी होते हैं जो बचपन से ही बच्चों के प्रति काफी सख्त रवैया रखते हैं. सख्त रवैया रखने के पीछे माता-पिता की बस यही कोशिश रहती है कि उनके बच्चे गलत दिशा में ना जाएं लेकिन कई बार माता-पिता की ये सख्ती बच्चों की ग्रोथ में रुकावट पैदा करने लगती है. आज हम आपको पेरेंट्स की कुछ ऐसी गलतियों के बारे में बताने जा रहे हैं जो बच्चों को आगे बढ़ने से और जीवन में कुछ बड़ा करने से रोकती हैं. अगर आप भी इनमें से कोई काम करते हैं तो जरूरी है कि आप उसे रोक दें. आइए जानते हैं पेरेंट्स की उन गलतियों के बारे में..

पर्याप्त नींद न लेना

बच्चे के शारीरिक और मानसिक विकास के लिए पर्याप्त नींद लेना बहुत जरूरी है। जब बच्चा गहरी नींद में होता है, तो इसके मस्तिष्क का विकास होता है। साथ ही शरीर सेल्स को रिपेयर करता है और ग्रोथ हार्मोन रिलीज होते हैं।

बाहर खेलने नहीं देना

आजकल बच्चा घर में टीवी या मोबाइल पर ज्यादा रहता है। जिस कारण उसका फिजिकल डेवलपमेंट नहीं हो पाता, इसलिए जरूरी है कि कम से कम एक घंटा बच्चा बाहर जाकर खेलें।

संतुलित आहार न देना

बच्चे को शुरुआत से ही संतुलित आहार दें। जिसमें हरी सब्जियां, दालें, बीन्स, फल, साबुत अनाज आदि शामिल हो। एक संतुलित आहार बच्चे के फिजिकल डेवलपमेंट के लिए बहुत जरूरी है।

अनियमित फिजिकल एक्टिविटी

बच्चे की उम्र के अनुसार उसे फिजिकल एक्टिविटी भी जरूरी है। इससे बच्चे के शरीर में लचीलापन आता है। आगे चल कर उसे दिल की बीमारी, मोटापा आदि का सामना नहीं करना पड़ता।

ज्यादा स्क्रीन टाइम

बच्चे को जरूरत से ज्यादा स्क्रीन टाइम देना उसके विकास में बाधा बनता है। अधिकांश लोग आजकल बच्चे को टीवी के सामने लेकर बैठ जाते हैं या बैठा देते हैं और अपना काम करने लगते हैं, जो बहुत नुकसानदायक हो सकता है। बच्चे को बाहर ले जाने के बजाय टीवी के सामने बैठाने से बच्चे की ग्रोथ रुकती है।

रिस्‍पॉसिबिलिटी से दूर रखना

कई माता-पिता बच्‍चों को घर के किसी भी काम में इनवॉल्‍व नहीं कराते. जिस वजह से उन्‍हें हर वक्‍त दूसरों पर निर्भर रहने की आदत हो जाती है. ऐसे में घर के काम मसलन, कपड़े समेटना, घर सजाना, डस्टिंग, गमलों में पानी आदि देने में उनकी मदद लें.

खुद के इमोशन से प्रोटेक्‍ट करना

अगर बच्‍चा रोता है या गुस्‍सा करता है तो पेरेंट्स उसे शां‍त कराते हैं. आप अपने बच्‍चे की भावनाओं पर कैसा रिऐक्‍ट करते हैं इसका उनके विकास पर काफी असर करता है. इसलिए बच्‍चों को प्‍यार से सिखाएं और उन्‍हें समझने केलिए मोटिवेट करें कि आखिर उनके इमोशन को क्‍या ट्रिगर करता है और उससे वे कैसे उबरें

दूसरों से तुलना करना

कई माता-पिता की यह आदत होती है कि वे अपने बच्चों की तुलना दूसरे बच्चों के साथ करते हैं. इसकी वजह से वह अपने आपको उन सब बच्चों से कम समझने लगता है. ऐसे में उसका आत्मविश्वास काफी पीछे हो जाता है. वह उनसे आगे नहीं बढ़ पाता है. फिर अंत में बच्चा यह स्वीकार कर लेता है कि वह उन बच्चों से बेहतर नहीं है.

बच्चों को मारना

कई बार पैरेंट्स बच्चों को समझाने की बजाय मारने लगते हैं. जिससे बच्चा हमेशा डरा-डरा रहता है. यही नहीं, अगर उससे गलती होती है तो वह आपको बताने से डरता है. ऐसे में कई लोग उसे ब्‍लैक मेल करने लगते हैं. इसलिए आप अपने बच्चे को डरा कर ना रखें.

बच्चों का मजाक उड़ाना

कभी भी बच्‍चों का मजाक नहीं बनाना चाहिए. बच्‍चे इमोशनल होते हैं और माता-पिता की बात का असर कहीं ना कहीं उन पर करता ही है. इसलिए खासतौर पर माता पिता हमेशा बच्‍चों को मोटिवेट करें

https://pradeshlive.com/dharm/raksha-bandhan-why-rakhi-is-not-tied-to-brother-in-bhadra/
RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments