Saturday, May 18, 2024
Homeलाइफस्टाइलडांस करते या जिम में वर्कआउट करते हुए क्यों हो जाता है...

डांस करते या जिम में वर्कआउट करते हुए क्यों हो जाता है कार्डियक अरेस्ट, जानें लक्षण

कार्डियक अरेस्ट : बीते कुछ समय से ऐसे कई केस देखे गए हैं जहां डांस करते हुए या जिम में अचानक व्यक्ति बेहोश हुआ और उसकी मौत हो गई। जिम में ट्रेडमिल पर चलता हुआ एक युवक अचानक बेहोश होकर गिर गया और उसकी मौत हो गई। इससे पहले कई प्रसिद्ध हस्तियों की मौत भी जिम करने के दौरान हुई थी। अचानक हो रही इन मौतों का कारण डॉक्टर कार्डियक अरेस्ट बता रहे हैं। ये हार्ट अटैक से थोड़ा अलग होता है, लेकिन हार्ट अटैक से कई गुना खतरनाक होता है। अस्पताल के बाहर कार्डियक अरेस्ट के 90 फीसदी मामलों में मरीज की मौत हो जाती है। अब कम उम्र में भी ये परेशानी हो रही है। कई मामलों में तो कोई लक्षण भी नहीं दिख रहा और व्यक्ति की मौत हो रही है।

कम उम्र में भी लोगों में ये परेशानी देखने को मिल रही है। यह इसलिए भी खतरनाक है क्योंकि कई मामलों में इसका कोई लक्षण ही नहीं दिखता है। आइए जानते हैं कार्डियक अरेस्ट क्या होता है और यह हार्ट अटैक से कैसे अलग है।

क्या होता है कार्डियक अरेस्ट

हेल्थ एक्सपर्ट्स के मुताबिक, कार्डियक अरेस्ट के कारण दिल अचानक ही काम करना बंद कर देता है इससे शरीर के अंगों में सही तरह से ब्लड की सप्लाई नहीं हो पाती और ब्रेन में ऑक्सीजन न पहुंचने की वजह से इंसान की मौत हो जाती है। यही कारण है कि डांस होने या जिम में मौत हो जाती है। एक्सपर्ट्स के मुताबिक, कार्डियक अरेस्ट होने पर शुरू में छाती में अचानक से तेज दर्द होने लगता है। हल्का पसीना आता है। ये हार्ट अटैक का लक्षण होता है और कुछ ही मिनटों में ये कार्डियक अरेस्ट बन जाता है। कार्डियक अरेस्ट आने पर मरीज की जान बचा पाना काफी मुश्किल हो जाता है। एक अनुमान के मुताबिक, अस्पताल से बाहर कार्डियक अरेस्ट आने पर 100 में से 3 मरीज के ही बचने की संभावना होती है। इसमें सीपीआर से मरीज की रिकवरी की जा सकती है. हालांकि, ज्यादातर लोग सीपीआर के बारे में नहीं जानते हैं।

ब्लॉकेज की वजह से हार्ट अटैक आता है

कार्डियक अरेस्ट के केस बढ़ने का एक कारण कोरोना वायरस भी है। इस वायरस की वजह से शरीर में ब्लड क्लॉट बन जाते हैं और दिल की नसों में बने क्लॉट की वजह से हार्ट ब्लजड को सही तरह से पंप नहीं कर पाता है। इससे ब्लॉकेज की वजह से हार्ट अटैक आता है। जो आधे घंटे से 15 मिनट के अंदर कार्डियक अरेस्ट का कारण बन जाता है।
इसमें आप भले ही कितने भी फिट नजर आए, खानपान व्यवस्थित रखें, बावजूद इसके कार्डियट अरेस्ट की समस्या हो सकती है। अगर कार्डियक अरेस्ट आने पर कुछ ही मिनटों में अगर इलाज न मिले तो मौत हो जाए।

कार्डियक अरेस्ट के लक्षण

  • गैस बनना
  • छाती में अचानक से तेज दर्द
  • गले में कुछ फंसा सा लगना
  • शरीर के काम करने की क्षमता में अचानक बदलाव या सांस फूलना

रखें इन बातों का ध्यान

डॉक्टर की लें सलाह– हम सब जानते हैं कि नियमित रूप से एक्सरसाइज करना हमारे शरीर के साथ मन को भी स्वस्थ्य बनाता है।हेल्थलाइन के अनुसार रोजाना एक्सरसाइज से दिल की बीमारियां दूर रहती हैं। हालंकि अगर आप मेडिकली फिट नहीं हैं तो एहतियात बरतनी चाहिए।अगर आपके डॉक्टर ने आपको हार्ट डिजीज को लेकर सलाह दी है, तो आपको उसी के अनुसार जिम करनी होगी। दिल की बीमारियों से ग्रसित लोग भी रोजाना जिम या एक्सरसाइज कर सकते हैं बशर्ते इसके लिए उन्हे डॉक्टर से नियमित परामर्श करना होगा।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments