Wednesday, February 21, 2024
Homeदेशकत्ल के 11 दिन बाद मिला दिव्या पाहुजा का शव, जानें कहां...

कत्ल के 11 दिन बाद मिला दिव्या पाहुजा का शव, जानें कहां मिली लाश

गुरुग्राम । गुरुग्राम में 2 जनवरी को हुई मॉडल और गैंगस्टर संदीप गाडोली की गर्लफ्रेंड दिव्या पाहुजा की हत्या के 11 दिन बाद उसका शव हरियाणा के फतेहाबाद से मिला है। दिव्या का शव फतेहाबाद के टोहाना में मिला है। बलबीर और उसके साथी ने दो जनवरी की रात को दिव्या का शव भाखड़ा नहर में फेंक दिया था। जहां से बहता हुआ यह 11 दिन बाद टोहाना में आ गया, जहां से इसे बरामद किया गया है।

बलराज की निशानदेही पर बरामद हुआ दिव्या का शव

बलराज देश छोड़कर बैंकॉक भागने की फिराक में था. उसे और रवि बंगा को कोलकाता एयरपोर्ट से गिरफ्तार किया गया था। बलराज गिल अपने मालिक अभिजीत की बीएमडब्ल्यू कार की डिग्गी में दिव्या का शव डालकर उसे ठिकाने लगाने के लिए निकला था। इस काम में रवि बंगा उसका साथ दे रहा था। अभिजीत सिंह ने अपने होटल के दो स्टाफ के साथ मिलकर दिव्या की लाश को एक कंबल में लपेटा था और अपनी बीएमडब्ल्यू कार की डिग्गी में रख आया। फिर उसने अपने खास गुर्गे बलराज को कार की चाबी सौंपी और शव को ठिकाने लगाने के लिए कहा। अभिजीत ने उसे इस काम के लिए 10 लाख रुपये भी दिए थे।गुरुग्राम क्राइम ब्रांच ने इस हत्याकांड में 6 आरोपियों को नामजद किया है, जिनमें मुख्य आरोपी अभिजीत सिंह, हेमराज, ओम प्रकाश, मेघा, बलराज गिल और रवि बंगा के नाम शामिल हैं. ये सभी गिरफ्तार किए जा चुके हैं। दिव्या पाहुजा (27) बलदेव नगर गुरुग्राम की रहने वाली थी। उसकी छोटी बहन नैना ने आजतक से विशेष बातचीत में बताया था कि उसकी दिव्या से आखरी बातचीत 2 जनवरी दोपहर 12 बजे के करीब हुई थी। दिव्या ने कहा था कि वह आधे घंटे में घर पहुंच रही है, लेकिन जब शाम 6 बजे तक वह नहीं लौटी तो परिजनों को संदेह हुआ कि कहीं कुछ तो बुरा हुआ है। नैना की शिकायत पर गुरुग्राम के सेक्टर-14 पुलिस स्टेशन में हत्या का केस दर्ज किया गया था।

कब-क्या हुआ?

1 जनवरी को दिव्या पाहुजा हत्यारोपी अभिजीत सिंह के साथ घूमने गई थी और फिर अभिजीत और एक अन्य के साथ 2 जनवरी की सुबह 4:15 पर गुरुग्राम के सिटी प्वाइंट होटल में पहुंचे थे। 2 जनवरी की रात अभिजीत सिंह ने अपने अन्य साथियों संग मिल दिव्या की हत्या को अंजाम दिया और फिर उंसके शव को अपनी गाड़ी में डाल ठिकाने लगाने के मकसद से अपने 2 अन्य साथियों को 10 लाख रुपये दिए। अभिजीत के दोनों साथी मृतका के शव को लेकर फरार हो गए। बहरहाल पुलिस ने अभिजीत और दो अन्य को हिरासत में लेकर मामले की तफ़्तीश शुरू कर दी है। दिव्या पाहुजा का नाम गुरुग्राम के गैंगस्टर संदीप गाडोली के एनकाउंटर में सबसे पहले सामने आया था।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments