Wednesday, February 21, 2024
HomeदेशUnique Home: देश का एक अनोखा ऐसा घर जो दो राज्यों के...

Unique Home: देश का एक अनोखा ऐसा घर जो दो राज्यों के बीच स्थित, आंगन एक राज्य में और रसोईघर दूसरे राज्य में, हैरान कर देगी यहां दिलचस्प कहानी

Unique Home:भारत में आपने अलग-अलग घरों के बारे में अलग-अलग कहानियां पढ़ी और सुनी होंगी। यूँ तो हर घर की अपनी एक अलग कहानी होती है। हालाँकि, इस लेख में हम जिस घर के बारे में बात कर रहे हैं उसकी कहानी अन्य घरों से काई ज्यादा अलग है। क्योंकि भारत के इस अनोखे घर का एक दरवाजा राजस्थान में खुलता है तो दूसरा दरवाजा हरियाणा में खुलता है।

भारत का यह अनोखा घर

दिलचस्प बात है, यहां का पानी राजस्थान से आता है तो वहीँ, इसे हरियाणा स्थित एक टैंक में भरा जाता है। इस घर की एक खास बात यह है कि इस घर के कमरों में बिजली की आपूर्ति राजस्थान से की जाती है, जबकि घर की दुकानों में बिजली की आपूर्ति हरियाणा से की जाती है। ऐसे में एक ही घर में दो क्रिस्टो से बिजली होती है। कौन-सा है यह घर और क्या है यह घर की पूरी कहानी आइये आपको बताते है।

एक ही परिवार में दो प्रदेश की नागरिकता

स्थानीय निवासी बताते हैं कि 1960 में चौधरी टेकराम दायमा (कृष्ण दायमा के पिता) यहां रहने आए थे। उस वक़्त उनकी ज़मीन आधी हरियाणा में और आधी जमीन राजस्थान में थी। उन्होंने इसी पूरी ज़मीन पर घर बना लिया था। अब चौधरी टेकराम दायमा के दोने बेटे (कृष्ण दायमा और ईश्वर दायमा) अपने बेटे-पौत्रों के साथ एक ही छत के नीचे पूरे परिवार के साथ रहते हैं।

आपको बता दें कि भारत का यह अनोखा घर राजस्थान के अलवर और हरियाणा के रेवाड़ी जिले की सीमा पर स्थित है। इस प्रकार इस घर के कमरे हरियाणा में हैं, आंगन राजस्थान में स्थित है। वहीँ अगर बात करें इस घर के मालिक की तो साल 1960 में चौधरी टेक राम यहां स्थायी रूप से रहने आए थे। उनके दो द्वीप कृष्णा दायमा और ईश्वर दायमा यहीं रहते हैं। उल्लेखनीय है, कृष्ण दायमा के सभी दस्तावेज हरियाणा राज्य द्वारा बनाए गए हैं, जबकि ईश्वर दायमा के सभी दस्तावेज राजस्थान राज्य द्वारा बनाए गए हैं।

सब लोग घर की कहानी सुन कर रह जाते हैं हैरान अनोखे घर में रहने वालो सदस्यों का कहना है कि उन लोगों को तो घर में रहने की आदत हो गई है इसलिए हरियाणा-राजस्थान सीमा सुनकर अजीब नहीं लगता है। लेकिन जब कोई रिश्तेदार या कोई बाहरी व्यक्ति आता है तो उन्हें यह सीमा के बीचो-बीच घर होने वाली बात हैरान कर देती है। हवा सिंह ( पार्षद, भिवाड़ी नगर परिषद) ने बताया कि कुछ साल पहले एक तेंदुआ घर में घुस आया था राजस्थान-हरियाणा सीमा की वजह से कोई भी रेस्क्यू टीम तेंदुए को पकड़ने के लिए नहीं आ रहा था। काफ़ी मिन्नतों के बाद तेंदुए को राजस्थान से आई टीम ने रेस्क्यू किया।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments