Monday, June 24, 2024
Homeराज्‍यमध्यप्रदेशहिट एंड रन कानून : ट्रक ड्राइवरों की हड़ताल के कारण MP...

हिट एंड रन कानून : ट्रक ड्राइवरों की हड़ताल के कारण MP में हजारों यात्री परेशान, दूध-सब्जी की आपूर्ति भी बाधित, 5 लाख गाड़ियों की आवाजाही प्रभावित

MP News: देशभर के साथ मध्यप्रदेश में भी बनाए गए नए हिट एण्ड रन कानून का विरोध जमकर शुरू है। सोमवार से प्रदेश भर के अधिकांश ट्रक ड्राइवर हड़ताल पर हैं। देशभर के साथ मध्यप्रदेश और राजधानी भोपाल में पेट्रोल-पंपों पर लगातार भीड़ बढ़ती जा रही है। आज मंगलवार को सुबह दूध और सब्जी की आपूर्ति पर भी असर पड़ा है। दूध की आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिए सांची के अधिकारियों ने भोपाल जिला प्रशासन के साथ विशेष योजना बनाई है। लेकिन करोंद सब्जी मंडी में सब्जी की आपूर्ति आधी के करीब हुई है। ऐसे में सब्जी के दाम बढ़ गए हैं।

मंगलवार को दावा किया कि इस हड़ताल से मध्य प्रदेश में लगभग पांच लाख वाहनों की आवाजाही प्रभावित हुई है। हालांकि, एमपी के विभिन्न जिलों और भोपाल, इंदौर, ग्वालियर और जबलपुर जैसे प्रमुख शहरों में प्रशासन ने कहा कि उनके अधिकार क्षेत्र के तहत पेट्रोल पंपों पर ईंधन की कोई कमी नहीं है।

आलू, टमाटर के दाम दोगुने

ट्रक ड्राइवरों की हड़ताल के करण पूरे मध्यप्रदेश में पेट्रोल-डीजल, दूध और सब्जी की आपूर्ति में बाधा आई है। अगर हड़ताल इसी तरह से चलती रही तो आने वाले दिनों में किराने के सामान की भी किल्लत शुरू हो सकती है। सब्जी की आवक कम होने के कारण आज मंगलवार को आलू 30 रुपए किलो मिल रहा है। जबकि यही आलू रविवार और सोमवार को दोपहर तक 10 रुपए प्रति किलोग्राम बिक रहा था। वहीं 20 रूपए किलो मिलने वाला टमाटर भी भी 50 से 60 रुपए प्रति किलोग्राम मिल रहा है। ऐसा इसलिए हो रहा है कि बाहर से आने वाले टमाटर की खेप हड़ताल के कारण भोपाल नहीं पहुंच पाई है।

परिवहन मंत्री समझा रहे ड्राइवरों को

वहीं प्रदेश के परिवहन मंत्री राव उदय प्रताप सिंह हड़ताली ट्रक ड्राइवरों को समझाने में जुटे हैं। मंगलवार को परिवहन मंत्री ने कई हड़ताली ट्रक ड्राइवरों से बात कर उन्हें नए बनाए गए हिट एण्ड रन कानून के संबंध में जानकारी दी और कहा कि जो लोग एक्सीडेंट करने के बाद भाग जाते हें, उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी। एक्सीडेंट होने के बाद घायल की मदद करने वाले और अस्पताल पहुंचाने वाले वाहन चालकों के खिलाफ हिट एण्ड रन का केस दर्ज नहीं होगा।

अधिकांश स्कूल-कॉलेज बंद

हिट एंड रन कानून के विरोध में मध्य प्रदेश में ट्रक और बस चालकों की हड़ताल का आज दूसरा दिन है। इंदौर, भोपाल सहित प्रदेश के कई जिलों में आज कालेज और स्कूल वाहन भी नहीं चले, जिससे विद्यार्थियों और अभिभावकों को परेशानी का सामना करना पड़ा। भोपाल में बड़ी संख्या में स्कूलों ने छुट्टी घोषित कर दी है। वहीं जो स्कूल या कॉलेज संचालित हैं, वहां छात्र स्वयं के वाहन से पहुंच रहे हैं। आज भी सुबह से ही पेट्रोल पंपों पर वाहनों की लंबी कतार लगी है। हड़ताल कर रहे चालकों के अनुसार तीन दिनों तक यह हड़ताल रहेगी। ऐसे में गांवों और दूसरे शहरों से आने वाले सामान की आपूर्तिभी प्रभावित होने लगी है।

दूध और किराना सामान भी नहीं पहुंच पा रहा है। भोपाल में स्कूल-कालेज बस एसोसिएशन के सरवर भाई ने बताया कि मंगलवार को स्कूल बसों व वैन को भी नहीं चलाया जा रहा है। इसके चलते भोपाल के कुछ निजी स्कूलों में पहले ही छुट्टी घोषित कर दी है। किसी स्कूल में 2 दिन तो किसी में एक दिन कक्षाएं नहीं लगेंगी।

विजय कालरा ने दावा किया है कि नए कानून के खिलाफ ड्राइवरों की हड़ताल के कारण मध्य प्रदेश में करीब पांच लाख छोटे-बड़े वाहन नहीं चल पा रहे हैं। हिट एंड रन कानून का विरोध कर रहे ट्रक और बस ड्राइवरों की हड़ताल से कई राज्यों में हाहाकार मचा हुआ है। लोग कई घंटों से जाम में फंसे हैं, पेट्रोल पंप सूख रहे हैं, दूध-सब्जियों की सप्लाई पर भी असर पड़ रहा है। इस बीच ट्रांसपोर्टरों के एक संगठन ने नए कानून का विरोध कर रहे ड्राइवरों ने मध्य प्रदेश की कई जगहों पर सोमवार से काम बंद किया हुआ है और सड़के भी जाम की हुई हैं। इस कानून में प्रावधान है कि तेज रफ्तार से आ रही गाड़ी से अगर किसी का एक्सीडेंट हो जाता हैऔर ड्राइवर बिना पुलिस या अधिकारियों को बताए वहां से भाग जाता है उसे 10 साल की सजा और 7 लाख रुपए का जुर्माना लगाया जा सकता है। वहीं ड्राइवरों का कहना है कि कई बार हादसे के बाद वहां पर रहने से भीड़ के गुस्से का सामना करना पड़ सकता है। वहीं ऑल इंडिया मोटर ट्रांसपोर्ट कांग्रेस के पूर्व उपाध्यक्ष (पश्चिमी क्षेत्र) विजय कालरा ने दावा किया है कि नए कानून के खिलाफ ड्राइवरों की हड़ताल के कारण मध्य प्रदेश में करीब पांच लाख छोटे-बड़े वाहन नहीं चल पा रहे हैं।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments