Friday, June 21, 2024
Homeराज्‍यमध्यप्रदेश2 अगस्त से फिर बुजुर्गों को तीर्थ दर्शन कराएगी सरकार

2 अगस्त से फिर बुजुर्गों को तीर्थ दर्शन कराएगी सरकार

भोपाल। मध्यप्रदेश सरकार चुनावी वर्ष में एक बार फिर बुजुर्गों को तीर्थ दर्शन यात्रा कराने जा रही है। मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन यात्रा के तहत दो अगस्त से 10 अक्टूबर तक 28 धार्मिक स्थलों के लिए ट्रेनें रवाना की जाएंगी, जिसमें कीरब साढ़े अठारह हजार तीर्थ यात्री सफर करेंगे। रेलवे बोर्ड द्वारा सामान्य ट्रेनों में पेंट्री कार की सुविधा बंद करने से तीर्थ दर्शन यात्रा के श्रद्धालुओं को गर्म खाना मिलने में समस्या हो रही थी। इसके बाद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने तीर्थ दर्शन योजना के श्रद्धालुओं को गर्म खाने का इंतजाम करने के निर्देश दिए थे। इसके बाद राज्य सरकार ने रेलवे बोर्ड को पत्र लिखकर भारत गौरव ट्रेन से मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन यात्रा कराने का अनुरोध किया था। भारत गौरव ट्रेनों में पेंट्री कार की सुविधा है, जिससे यात्रियों को समय पर गर्म खाना उपलब्ध होता है।

धर्मस्व विभाग के अपर मुख्य सचिव डॉ. राजेश राजौरा ने बताया कि दो अगस्त से बुजुर्गों को मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन योजना में भेजा जाएगा, इसके लिए 27 जुलाई तक आवेदन लिए जा रहे हैं। दो अगस्त को पहली ट्रेन रामेश्वरम के लिए रवाना होगी। इसके बाद अलग-अलग धार्मिक स्थलों के लिए 10 अक्टूबर तक 28 ट्रेनें रवाना की जाएंगे।

कब कहां से कहां के लिए रवाना होगी तीर्थ दर्शन ट्रेन

  • 2 अगस्त को इंदौर से रामेश्वरम और सिवनी से द्वारका के लिए रवाना होगी
  • 7 अगस्त को मुरैना से कामाख्या, 10 अगस्त को अनूपपुर से द्वारका और इंदौर से काशी वाराणसी के लिए ट्रेन रवाना की जाएगी
  • 16 अगस्त को मुरैना से काशी (वाराणसी), मेघनगर झाबुआ से जगन्नाथपुरी के लिए ट्रेन जाएगी
  • 18 अगस्त को बालाघाट से काशी वाराणसी के लिए ट्रेन रवाना होगी
  • 22 अगस्त को छतरपुर से द्वारका ट्रेन जाएगी
    -24 अगस्त को छिंदवाड़ा से अयोध्या और उज्जैन से हरिद्वार के लिए ट्रेन जाएगी
  • 31 अगस्त को उमरिया से शिर्डी, इंदौर से अमृतसर
  • 1 सितंबर को भिंड से दीक्षाभूमि नागपुर के लिए ट्रेन रवाना होगी
  • 5 सितंबर को रतलाम से जगन्नाथपुरी, 6 सिंतबर को बुरहानपुर से कामाख्या
  • 8 सितंबर के रीवा से रामेश्वरम, 13 सितंबर को शाजापुर से वाराणसी
  • 14 सितंबर को रानी कमलापति स्टेशन से रामेश्वरम, 19 सितंबर को गुना से जगन्नाथपुरी
  • 22 सितंबर को परासिया से द्वारका और 24 सितंबर को सरईग्राम सिंगरौली से कामाख्य
RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments