Saturday, June 22, 2024
Homeराज्‍यमध्यप्रदेशगुर्जरों का जेल भरो आंदोलन, सोशल मीडिया पर किया ऐलान, शहर बना...

गुर्जरों का जेल भरो आंदोलन, सोशल मीडिया पर किया ऐलान, शहर बना छावनी

Gwalior News: मध्य प्रदेश में विधानसभा चुनाव से पहले ग्वालियर-चंबल अंचल में गुर्जरों ने आंदोलन की चेतावनी ने प्रशासन के कान खड़े कर दिए हैं। सोशल मीडिया पर आज ग्वालियर में जेल भरो आंदोलन की चेतावनी दी है, जिसके कारण सरकार से लेकर पुलिस प्रशासन काफी सक्रिय दिख रहा है। गुर्जरों द्वारा सोशल मीडिया के जरिए लगातार आंदोलन का ऐलान किया जा रहा है।

आंदोलन को लेकर पुलिस प्रशासन ने प्रशासन भी पूरी तरह अलर्ट हो गया है। सड़कों पर आम जन से ज्यादा पुलिस दिखाई दे रही है। कारण है एक बार फिर गुर्जर आंदोलन की आहट। जिस तरह पूर्व में गुर्जर आंदोलन आम सभा से सीधे एक उपद्रव में बदल गया था। कहीं, वैसा दोबारा ना रिपीट हो, इसके चलते पुलिस पहले से ही अलर्ट हो गई है। पुलिस प्रशासन पूरी मुस्तैदी के साथ शहर में चाक चौबंद होकर बैठा हुआ है। इस आंदोलन में शामिल होने जा रहे भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर आजाद समेत 50 कार्यकर्ताओं को हिरासत में लिया गया है। ग्वालियर में गुर्जर आंदोलन के लगभग 18 दिन बाद एक बार फिर तनाव का माहौल देखने को मिल रहा है।

गुर्जर समाज आर-पार की लड़ाई के मूड में उतर आया है

मध्य प्रदेश में होने वाले चुनाव से पहले मध्य प्रदेश में गुर्जर समाज आर-पार की लड़ाई के मूड में उतर आया है। यही कारण है कि पिछले कई दिनों से सोशल मीडिया पर यह कैंपेन चलाया जा रहा है कि ग्वालियर में गुर्जर समाज का बड़ा जेल भरो आंदोलन है। इस दौरान भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर आजाद रावण ने सोशल मीडिया पर भी एक पोस्ट किया कि ‘ गुर्जरों के सम्मान में, 12 तारीख को मेला मैदान में’। इस आंदोलन में उत्तर प्रदेश, राजस्थान, हरियाणा और मध्य प्रदेश से गुर्जर समाज के लोग हजारों की संख्या में एकजुट होने का दावा सोशल मीडिया पर किया जा रहा है।

राष्ट्रीय युवा गुर्जर स्वाभिमान संघर्ष समिति

बताया जा रहा है कि मेला मैदान में राष्ट्रीय युवा गुर्जर स्वाभिमान संघर्ष समिति के लेटरपैड पर जेल भरो आंदोलन की सूचना का पत्र कलेक्टर के पास पहुंचा है। उसके बाद कलेक्टर अक्षय कुमार सिंह और एसएसपी राजेश सिंह चंदेल ने स्पष्ट रूप से कहा है कि ऐसे किसी भी कार्यक्रम की मंजूरी न होने और शांति सौहार्द बिगड़ने वालों पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी। पुलिस ने भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर आजाद, अतुल प्रधान, रविंद्र भाटी समेत 50 कार्यकर्ताओं को भी हिरासत में लिया है। ये सभी एमपी के ग्वालियर में जेल भरो आंदोलन में भाग लेने के लिए जा रहे थे। चंद्रशेखर समेत 50 कार्यकर्ताओं को पुलिस ने मध्य प्रदेश और राजस्थान के बॉर्डर, राजघाट चंबल नदी के पुल पार करते ही रोका और हिरासत में ले लिया।

आचार संहिता नियम तोड़ने पर होगी कार्रवाई

जिस पर ग्वालियर एसपी राजेश चंदेल ने कहा कि इस प्रकार का कोई भी कार्यक्रम की सूचना हमारे पास नहीं है। पुलिस पूरी तरह से अलर्ट है। अगर आचार संहिता के दौरान नियमों का उल्लंघन करते कोई पाया गया तो उसे पर उचित कार्रवाई की जाएगी। वहीं चंद्रशेखर के आने की सूचना को लेकर वाहनों की सघन चेकिंग और स्टेशन बस स्टैंड आदि पर आने जाने वालों से भी पूछताछ की जा रही है।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments