Saturday, June 22, 2024
Homeराज्‍यमध्यप्रदेशअसंतुष्टों को मनाने के लिए सांसदों-विधायकों को मिला 14 दिन का समय

असंतुष्टों को मनाने के लिए सांसदों-विधायकों को मिला 14 दिन का समय

भोपाल। भारतीय जनता पार्टी केंद्रीय और प्रदेश नेतृत्व ने अपने सांसदों और विधायकों को अपने-अपने क्षेत्र के असंतुष्टों को मनाने के लिए एक और मौका दे दिया है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, भाजपा के राष्ट्रीय सह संगठन महामंत्री शिवप्रकाश, प्रदेश प्रभारी मुरलीधर राव और प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा ने यह निर्देश संयुक्त बैठक के दौरान सांसदों और विधायकों को दिए हैं।

साथ ही विधायकों और सांसदों को चेतावनी भी दी है कि अगर नाराज नेताओं और असंतुष्टों को साधने मेें सफल नहीं हुए तो आगामी चुनाव में टिकट खतरे में पड़ सकता है। क्योंकि असंतुष्ट और नाराज वरिष्ठ नेताओं के चलते पार्टी का वोट बैंक प्रभावित होगा जो चुनाव लडऩे वाले उम्मीदवारों के लिए घातक हो सकता है। इसके लिए संगठन ने सुझाव दिया है कि 18 जुलाई के पहले अपने क्षेत्र के जनाधार रखने वाले नेताओं के साथ टिफिन बैठकें कर उनका गुस्सा कम करें और उन्हें साथ लेने का काम करें।

जून माह में ही सभी के साथ करना था संवाद

भाजपा नेतृत्व मानता है कि नाराज लोगों के साथ बैठकर संवाद करने और उनकी बातों को सुनने से गुस्से का गुबार थम जाता है, क्योंकि जिसे जो कहना है वह गुस्से में कहकर अपना क्रोध शांत करता है। इसलिए मई और जून माह में जिलों में जनाधार रखने वाले असंतुष्ट और नाराज पूर्व विधायकों, जिम्मेदार पदों पर रहे प्रतिनिधियों से संवाद करने के लिए कहा गया था। इसके लिए टिफिन बैठक करने के लिए भी कहा गया था जिसमें सभी को अपने घर से टिफिन मंगाकर साथ में भोजन करना था। केंद्रीय और प्रदेश संगठन के बार-बार निर्देश के बाद भी कई विधायकों और सांसदों ने स्थानीय स्तर पर मेल जोल को लेकर गंभीरता नहीं दिखाई है और न तो नाराज नेताओं से संवाद किया और न ही टिफिन बैठकें की हैं। अब सभी विधायकों और सांसदों के साथ वर्चुअल बैठक कर टिफिन बैठकों के लिए 18 जुलाई की डेडलाइन तय की गई है।

भाजपा विधायक दल की बैठक दस जुलाई को

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदत्त शर्मा, प्रदेश संगठन महामंत्री हितानंद शर्मा की मौजूदगी में बीजेपी विधायक दल की बैठक दस जुलाई को होगी। इस बैठक में चालू विधानसभा के अंतिम सत्र के दौरान लिए जाने वाले रणनीतिक फैसलों पर चर्चा होगी। साथ ही लाड़ली बहना, मुख्यमंत्री सीखो कमाओ योजना की ब्रांडिंग के साथ आदिवासी वर्ग को साधने को लेकर सरकार द्वारा किए गए कामों का प्रचार प्रसार करने पर जोर दिया जाएगा। बैठक में सीएम विधानसभा सत्र के दौरान कांग्रेस द्वारा सरकार के विरुद्ध लाए जाने वाले मुद्दों पर भाजपा के हमलावर होने के मामले में तथ्यों के पलटवार करने के लिए कहेंगे।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments