Wednesday, February 21, 2024
Homeराज्‍यमध्यप्रदेशदो-तीन दिनों तक प्रदेश में बिगड़ा रहेगा मौसम

दो-तीन दिनों तक प्रदेश में बिगड़ा रहेगा मौसम

भोपाल । आगामी दो-तीन दिनों तक मध्यप्रदेश का मौमस बिगडे रहने का अनुमान है। प्रदेश के मध्य भाग में बादलों के साथ गरज-चमक और भोपाल, सागर, नर्मदापुरम संभाग सहित इंदौर, उज्जैन, ग्वालियर जिले के कुछ हिस्सों में वर्षा या गरज-चमक की स्थिति बन सकती है। मौसम विभाग के अनुसार, पिछले दो दिनों से लगातार छाए बादलों और बूंदाबांदी से दिन के तापमान में गिरावट नजर आ रही है। गुरुवार को कई जिलों के अधिकतम तापमान में एक से सात डिग्री की गिरावट दर्ज की गई। दमोह, नौगांव, रीवा, सागर, भोपाल, गुना, ग्वालियर, इंदौर, रायसेन, रतलाम और उज्जैन में अधिकतम तापमान 20 डिग्री सेल्सियस से कम रहा। दिसंबर में सामान्य सी रहने वाली सर्दी नए साल के पहले सप्ताह में जोरदार रंग दिखा रही है। पहले दिन से छाए हल्के बादल पिछले दो दिनों से दिन-रात पूरे आसमान को घेरे हुए हैं। कई जिलों में बूंदाबांदी होने से मौसम का मिजाज ही बदल गया है। बादलों के चलते जहां रात का तापमान ऊंचा बना हुआ है, वहीं इन्हीं बादलों और वर्षा के कारण दिन के तापमान में गिरावट आई है।  राजधानी भोपाल में दिन के तापमान में बड़ी गिरावट दर्ज की गई। यहां बुधवार को अधिकतम तापमान जहां 23.9 डिग्री सेल्सियस था, वही गुरुवार को यह सीधे सात डिग्री गिरकर 16.7 डिग्री सेल्सियस पर आ गया। इससे पूर्व दो जनवरी 2015 की शाम सबसे कम अधिकतम तापमान 15.1 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था। यहां आठ साल में सबसे कम तापमान के साथ ही आठ मिमी का आंकड़ा पार कर चुकी वर्षा भी जनवरी के माह में पिछले पांच सालों का रिकार्ड तोड़ने की ओर बढ़ रही है। प्रदेश में गुरुवार दिन में भोपाल, नर्मदापुरम, सतना, खजुराहो और टीकमगढ़ में वर्षा दर्ज हुई। शाम साढ़े पांच बजे तक के आंकड़ों के अनुसार भोपाल में आठ मिमी वर्षा दर्ज की गई, जबकि शेष जिलों में वर्षा एक मिमी से कम रही। भोपाल और आसपास रुक-रुककर बौछारें जारी हैं, जिससे वर्षा का आंकड़ा बढ़ सकता है। भोपाल, नर्मदापुरम, रायसेन और सीहोर में शाम को भी हल्की वर्षा होने से यहां वर्षा का आंकड़ा बढ़ जाता है। 24 घंटों में शिवपुरी, गुना, अशोकनगर, राजगढ़, सीहोर, विदिशा, भोपाल, रायसेन, शाजापुर, देवास इंदौर, बड़वानी, खरगोन, खंडवा, हरदा, नरसिंहपुर, टीकमगढ़, छतरपुर, पन्ना सतना और रीवा में वर्षा दर्ज की गई। प्रदेश में गुरुवार सुबह भिंड, मुरैना, श्योपुर कलां, ग्वालियर, दतिया, टीकमगढ़, सागर, छतरपुर, नीमच, मंदसौर, रतलाम, दमोह, पन्ना और सतना में घना कोहरा छाया। इसके अतिरिक्त उज्जैन, आगर, राजगढ़, देवास, शाजापुर, झाबुआ, अलीराजपुर, धार, बड़वानी, दक्षिणी खरगोन, रायसेन, भोपाल, विदिशा, नरसिंहपुर, शहडोल, अनूपपुर, में रीवा और सीधी में कोहरा रहा। अधिकतर जगहों पर दोपहर तक धुंध छाई रही।  मौसम विभाग के पूर्व वरिष्ठ विज्ञानी अजय शुक्ला ने बताया कि एक पश्चिमी विक्षोभ हरियाणा के आसपास बना हुआ है, जबकि साउथ वेस्ट उप्र में इसके अतिरिक्त कर्नाटक से साउथ वेस्ट उप्र तक द्रोणिका जा रही है, जिससे प्रदेश में बादल और वर्षा का मौसम बना हुआ है। इसका सबसे ज्यादा असर प्रदेश मध्य भाग पर है। 

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments