Saturday, May 18, 2024
Homeट्रेंडिंगAC: गर्मी में बिजली के बिल को कम करें, अपनाए ये तरीके…..

AC: गर्मी में बिजली के बिल को कम करें, अपनाए ये तरीके…..

AC: अप्रैल का महीना चल रहा है और देश भर में गर्मियों का मौसम शुरू हो चुका है। देश के कई इलाकों में एसी लायक गर्मी हो गई है। इससे लोगों का इलेक्ट्रिसिटी बिल बढ़ जाता। ऐसे में एयर कंडिशनर खरीदते वक्त बिजली की खपत के बारे में भी जानना जरूरी है। हम आपको कुछ टिप्स बताते हैं, जिन्हें अपनाकर आप एसी इस्तेमाल करके भी अपना बिजली बिल कम कर सकते हैं। आइए जानते हैं इनके बारे में…

टाइमर का इस्तेमाल करें

अगर आपके एयर कंडिशनर में टाईमर सुविधा मौजूद है तो इसका सही उपयोग बेहद फायदेमंद होगा। बिजली का बिल बचाने के लिए आप रात को सोते समय एसी को टाइमर पर सेट कर सकते हैं, जिससे 1-2 घंटे बाद एसी खुद बंद हो जाएगा। यह सुविधा न सिर्फ नींद के दौरान अपने आप एयर कंडिशनर को बंद या चालू करती है बल्कि साथ ही आम उपयोग की तुलना में बिजली की बचत भी करती इस सुविधा की आदत लंबे समय तक आपके बिल को कम रखने में मदद करेगी।

सही तापमान चुनें

कई लोगों को लगता है कि AC को सबसे कम तापमान पर चलाने से कमरा जल्दी ठंडा होगा। लेकिन ऐसा नहीं है और न ही ये जेब के लिए फायदेमंद है। ब्यूरो ऑफ एनर्जी एफिशिएंसी कहता है कि 24 डिग्री सेल्सियस का तापमान सबसे अच्छा रहता है। साथ ही तापमान एक डिग्री कम करने पर बिजली का बिल 6% बढ़ जाता है। इसलिए एसी टेम्प्रेचर 20-24 डिग्री के बीच रखें। इससे कमरा भी ठंडा रहेगा और बिजली का बिल भी कम आएगा।

फिल्टर साफ रखें और सर्विस करवाएं

AC में एक फिल्टर होता है जो धूल मिट्टी को रोकता है। अगर ये फिल्टर गंदा हो जाए तो AC को ठंडी हवा बनाने में ज्यादा मेहनत करनी पड़ती है, जिससे बिजली ज्यादा खर्च होती है।

देखभाल भी है बेहद जरूरी

‘दरवाजा बंद पॉलिसी’ अपनाएं और बिजली की खपत को घटाएं। दरवाजों और खिड़कियों को बंद करें तथा पर्दों से ढंककर रखें। ऐसा करने से रूम की ठंडक भी कम नहीं होगी, कंडिशनर भी तेजी से और प्रभावशाली ढंग से कमरा ठंडा करेगा तथा एयर कंडिशनर मशीन पर बेवजह का बोझ भी नहीं पड़ेगा।

पंखा चलाएं

पंखा एक का एक अच्छा साथी होता है। पंखा कमरे में हवा का सर्कुलेशन बढ़ाता है जिससे ठंडी हवा कमरे में हर तरफ फैल जाती है। आप एसी चलाकर कमरा ठंडा होने के बाद उसे बंद कर सकते हैं और फिर पंखे को ऑन कर सकते हैं। इससे एसी को कम मेहनत करनी पड़ती है और बिजली बचती है।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments