Monday, February 26, 2024
Homeवायरल विडियोViral Video: प्रचंड ठंड पर गाना हुआ वायरल, वीडियो देख यूजर कर...

Viral Video: प्रचंड ठंड पर गाना हुआ वायरल, वीडियो देख यूजर कर रहे हैं मजेदार कमेंट्स

Viral Video: सोशल मीडिया पर आजकल लोग तरह-तरह की वीडियो बनाकर डालते हैं। इनमें से कई वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल भी हो जाती हैं। इस समय पूरे भारत में कड़ाके की ठंड पड़ रही है। देश की राजधानी भोपाल, दिल्ली समेत हरियाणा, उत्तर प्रदेश, बिहार, पंजाब, राजस्थान में ठंड के साथ कई शहरों में घना कोहरा भी देखने को मिल रहा है। इस बीच ठंड को लेकर जाने-माने अभिनेता और गीतकार पीयूष मिश्रा के “आरंभ है प्रचंड” पर आधारित एक पैरोडी वीडियो वायरल हो गया है जो मजेदार है। इस वीडियो में शख्स ने पीयूष मिश्रा के गीत का पूरा भाव ही बदल दिया है। सोशल मीडिया पर यह गीत लोग काफी पसंद कर रहे हैं।

गीत के जज्बात ही बदल दिए

वीडियो ने सोशल मीडिया पर तहलका मचा दिया है, जिसमें रियल गाने को कॉमेडी टच दिया गया है। कवि शेखर त्रिपाठी द्वारा तैयार की गई पैरोडी में सिंगर पियूष मिश्रा की रचना की धुन और लय को बरकरार रखा गया है। इसके लिरिक्स कुछ इस तरह हैं- ‘ठंड का प्रकोप और धूप का है लोभ, अब बिस्तरों पर चाय की गुहार हो…, न नहा सको अगर तो खोपड़ी भिगो लो और जिस तरह से गैप मार लो… जो नहा चुका है मित्र सिर्फ वो ही है पवित्र, ये वहम जहन से तुम उतार लो… कंबलों को छोड़ के जग के हर प्रलोभनो पर बिन कहे सुने ही लात मार दो… ये ठंड है प्रचंड.’ बता दें कि पियूष मिश्रा का ‘आरंभ’ 2009 की फिल्म ‘गुलाल’ का एक महत्वपूर्ण हिस्सा था। पीयूष मिश्रा के जिस गीत को सुनकर शरीर में ऊर्जा उत्पन्न हो जाती थी।वहीं इस पैरोडी गीत को सुनकर शरीर में सुस्ती दौड़ जाएगी। सोशल मीडिया पर अब तक इस गीत को साढ़े छह लाख से भी ज्यादा बार देखा जा चुका है। यह वीडियो काफी तेजी से वायरल हो रहा है।

यूजर कर रहे हैं मजेदार कमेंट्स

सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे इस पैरोडी सॉन्ग पर बहुत सारे कमेंट भी किया जा रहे हैं। एक शख्स ने कमेंट किया है,’21 तोपों की सलामी आपको’। तो वहीं एक और यूजर ने कमेंट किया है,’नहाना जरूरी नहीं है भाई मन साफ होना चाहिए। ‘ तो वहीं एक और उन यूज़र ने कमेंट किया है ,’समझदारी तब है जब आप यह समझ रोज नहाना जरूरी नहीं है रोज़ नहाया हुआ लगना जरूरी है। ‘ एक और यूजर ने कमेंट किया है,’यह राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ का स्पूर्ति गीत है इसका गलत गाकर मजाक मत करो। ‘

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments