Saturday, May 25, 2024
Homeदुनियाblue eyes: बच्ची की नीली आंखों की तारीफ सुन खुश होती थी...

blue eyes: बच्ची की नीली आंखों की तारीफ सुन खुश होती थी मां, जब सामने आई सच्चाई, बर्दाश्त नहीं हुआ सदमा, जानें पूरा मामला

blue eyes: अगर किसी बच्चे की आंखे नीली हैं, तो उसकी क्यूटनेस और ज्यादा बढ़ जाती है। हर कोई फिर ऐसे बच्चे की तारीफ करने लगता है। ब्रिटेन के रहने वाली एक बच्ची के साथ हालांकि ऐसा नहीं है। एरेट्रिया बाइस नाम की एक बच्ची की आंखें बिल्कुल नीली है। जब उसका जन्म हुआ था, तो उसकी नीली आंखें देखकर हर कोई दंग रह गया था। क्योंकि परिवार में और किसी की आंखें नीली नहीं थीं। 34 साल की लुईस बाइस से हर कोई यह कहा करता था कि उनकी बेटी बहुत सुंदर है। उसकी नीली आंखे बहुत खूबसूरत हैं। अपनी बेटी की तारीफ सुनकर लुईस काफी खुश होती है। हालांकि एक ऐसी ही नीली आंखों वाली प्यारी सी बच्ची एक कपल के घर में जन्म लिया। माता-पिता अपनी बच्ची की खूबसूरत आंखों पर फिदा थे लेकिन इसके पीछे की सच्चाई से अनजान थे।

डेली स्टार की रिपोर्ट के मुातबिक बच्ची की मां लुइस बाइस ने जब बच्ची को जन्म दिया, तो उसकी खूबसूरत और बड़ी-बड़ी नीली आंखों को देखकर मंत्रमुग्ध हो गईं। चूंकि उनके परिवार में किसी की भी आंखें नीली नहीं थीं, ऐसे में खुद माता-पिता बच्ची की तारीफें करते ही थे, दिन में 7-8 अजनबी लोग भी उसकी आंखों की तारीफ किए बिना नहीं रह पाते थे।

नीली आंखों के पीछे का सच

बच्ची की तारीफें और उसे एक्स्ट्रा अटेंशन मिलने का सिलसिला यूं तो 6 महीने तक खूब चला लेकिन फिर सब कुछ बदलने लगा। बच्ची की नीली-नीली आंखें थोड़ी सफेद ही होने लगीं और जैसे ही उसकी आंखों पर रोशनी पड़ती थी और दर्द से चीख पड़ती थी। लुइस और उनके पार्टनर कोनोर बाइस ने जब डॉक्टर को दिखाया, तो पता चला कि बच्ची की आंखों में बायलेटरल कॉन्गेनिटल ग्लुकोमा नाम की बीमारी है। ये एक जेनेटिक प्रॉब्लम है, जिसकी वजह से ऑप्टिक नर्व पर बहुत प्रेशर पड़ता है। अगर तुरंत सर्जरी नहीं हो, तो आंखों की रोशनी भी जा सकती है। बच्ची के माता-पिता का कहना है कि उन्होंने उसकी सर्जरी भी कराई लेकिन पहली सर्जरी का रिजल्ट सकारात्मक नहीं निकला। अगस्त महीने में बच्ची की दूसरी सर्जरी भी हुई है, जिसका फॉलोअप टेस्ट अभी नहीं हुआ है। बच्ची की दाईं आंख में सिर्फ 5 फीसदी रोशनी बची है।

परेशान लुईस ने बताया कि उसने कभी सोचा भी नहीं था कि उसकी नीली आंखों के पीछे यह कारण था. उन्होंने कहा, ‘एक दिन अचानक मैंने नोटिस किया कि एरेट्रिया की एक आंख में बादल छा गए थे। एक मिनट तक तो सब ठीक था, लेकिन 15 मिनट के बाद स्थिति और बिगड़ गई।जब उसका टेस्ट किया गया तो पता चला कि उसकी दोनों आंखों की रोशनी जा चुकी है। दो सर्जरी हो चुकी है। अब पता नहीं क्या होगा। उसकी दाहिनी आंख में सिर्फ 5 पर्सेंट रोशनी ही बाकी है। लुईस आगे कहा कि अगर हमें पता होता कि उसकी नीली आंखें इस वजह है, तो हम पहले ही उसका इलाज करवा लेते ।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments