Wednesday, November 30, 2022
Homeधर्मप्रकाश पर्व पर गुरुद्वारा साहिब में सजा विशेष दीवान, शबद गायन से...

प्रकाश पर्व पर गुरुद्वारा साहिब में सजा विशेष दीवान, शबद गायन से हुई शुरुआत

Guru Nanak Jayanti 2022: गुरुद्वारा श्री गुरु नानक सत्संग सभा द्वारा सिख पंथ के पहले पातशाह धन धन श्री गुरु नानक देव जी महाराज के 553वें पावन प्रकाश पर्व पर रांची की कृष्णा नगर कॉलोनी स्थित गुरुद्वारा साहिब में आज मंगलवार को रात 8 बजे से विशेष दीवान सजाया गया.
सत्संग सभा द्वारा दीवान की शुरुआत रात 8 बजे स्त्री सत्संग सभा की शीतल मुंजाल द्वारा नानक नाम चढ़दी कला तेरे भाड़े सरबत दा भला शबद गायन से हुई. भाई महिपाल सिंह एवं साथियों ने कोई बोले राम नाम कोई सेवै गोसाईंयां कोई अल्लाहे शबद गायन कर साध संगत को निहाल किया.
गुरुद्वारा के मुख्य ग्रन्थी ज्ञानी जेवेन्दर सिंह ने कथावाचन कर गुरु नानक देव जी की जीवनी पर प्रकाश डालते हुए संगत को बताया कि बाबा नानक का प्रकाश उस समय हुआ जब पाखंड एवं अज्ञानता रूपी अंधेरा छाया हुआ था. उन्होंने इस पाखंड और अज्ञानता के प्रति लोगों को जागरूक करने के लिए विश्व के अनेक देशों का भ्रमण किया. इस विचरण यात्रा को उदासी कहा जाता है. इस दौरान उन्होंने कई लोगों का हृदय परिवर्तन किया. ठगों को साधु बनाया, कर्मकाण्डियों को बाह्य आडंबरों से निकालकर रागात्मिकता भक्ति में लगाया. अहंकारियों का अहंकार दूर कर उन्हें मानवता का पाठ पढ़ाया. उन्होंने विश्व को नाम जपो, कीरत करो और वंड के छको का संदेश दिया.
चंडीगढ़ से विशेष रूप से शिरकत करने पहुंचे रागी जत्था भाई बलविंदर सिंह जी रंगीला ने सा धरती भई हरियावली जिथे मेरा सतगुर बैठा आए एवं एक दृष्ट कर समसरि जाणे जोगी कहिए सोई, गली जोग जोग ना होई जैसे कई शबद गायन कर समूह साध संगत को भाव विभोर कर दिया. साथ में उन्होंने संगत को साखी भी सुनाई. रात 12 बजे प्रकाश पर्व के उपलक्ष्य में 6 नवंबर से पढ़े जा रहे श्री अखंड पाठ साहिब जी का भोग पड़ेगा. मौके पर आरती और बधाई का शबद पढ़ा गया. आनंद साहिब जी के पाठ, अरदास, हुक्मनामा एवं कढ़ाह प्रसाद वितरण के साथ मध्य रात्रि 2.30 बजे दीवान की समाप्ति होगी और इसी के साथ ही प्रकाश पर्व के उपलक्ष्य में अंतिम विशेष दीवान का समापन होगा. मंच संचालन मनीष मिढ़ा ने किया. सत्संग सभा के प्रधान द्वारका दास मुंजाल एवं सचिव अर्जुन देव मिढ़ा ने भाई बलविंदर सिंह जी रंगीला एवं साथियों को गुरु घर का सरोपा ओढ़ाकर सम्मानित किया. इस मौके पर सभा द्वारा गुरु का अटूट लंगर चलाया गया. इस मौके पर सभा के सचिव अर्जुन देव मिढ़ा ने लंगर कमिटी, जोड़ा सेवा कमिटी, चंदा उगड़ाई कमिटी, स्त्री सत्संग सभा, गुरु नानक भवन कमिटी, गुरु नानक बाल मंदिर स्कूल कमिटी, कीर्तन मण्डली, गुरु नानक सत्संग सभा समेत सभी सेवादारों का इस आयोजन को सफल बनाने के लिए धन्यवाद किया तथा समूह साध संगत को प्रकाश पर्व की बधाई दी.
प्रकाश पर्व की खुशी में सभा द्वारा आतिशबाजी भी की गई. सत्संग सभा के मीडिया प्रभारी नरेश पपनेजा ने बताया कि 13 नवंबर (रविवार) को शाम 4 बजे से शुक्राने का दीवान सजाया जाएगा. आज के दीवान में सभा के प्रधान द्वारका दास मुंजाल, सुंदर दास मिढ़ा, हरविंदर सिंह बेदी, अशोक गेरा, चरणजीत मुंजाल, जीवन मिढ़ा, मोहन काठपाल, हरगोविंद सिंह, सुरेश मिढ़ा, हरीश मिढ़ा, नरेश पपनेजा, लक्ष्मण दास मिढ़ा, लेखराज अरोड़ा, इंदर मिढा, रमेश पपनेजा, प्रेम मिढ़ा, पाली मुंजाल, राजेंद्र मक्कड़, अनूप गिरधर, कवलजीत मिढ़ा, पवनजीत सिंह खत्री, महेन्द अरोड़ा, अमरजीत गिरधर, जीतू अरोड़ा, अश्विनी सुखीजा, रमेश तेहरी, हरविंदर सिंह, लक्ष्मण दास सरदाना, कमल मुंजाल, गुलशन मिढ़ा, रमेश गिरधर, बिनोद सुखीजा, सुभाष मिढ़ा, हरजीत बेदी, पंकज मिढ़ा, सुरजीत मुंजाल, सागर थरेजा, विशेष काठपाल, सूरज झंडई, गौरव मिढ़ा, रौनक ग्रोवर, अमन डावरा, पियूष मिढ़ा, आशु मिढ़ा, नवीन मिढ़ा, रिक्की मिढ़ा, गीता कटारिया, मंजीत कौर, बबली दुआ, बीबी प्रीतम कौर, खुशबू मिढ़ा, मंजीत कौर, दुर्गी मिढ़ा, बिमला मुंजाल, चांद नागपाल, तीर्थी काठपालिया, नीता मिढ़ा, श्वेता मुंजाल, उषा झंडई, नीतू किंगर, ममता थरेजा, कंचन सुखीजा, सुषमा गिरधर समेत अन्य श्रद्धालु शामिल हुए.
 

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments

Join Our Whatsapp Group