Wednesday, May 22, 2024
Homeलाइफस्टाइलसौंफ़ के बीज से ढेर सारी बीमारियां हो जाएगी छूमंतर, डेली डाइट...

सौंफ़ के बीज से ढेर सारी बीमारियां हो जाएगी छूमंतर, डेली डाइट में करें शामिल

Fennel Seeds Benefits: सौंफ़ के लिए हमारे भारत के गहरे लगाव को हर कोई जानता है। इसे आयुर्वेद से लेकर रसोई के मसालों तक हर जगह स्थान मिला हुआ है। क्या आपको मालूम है कि भारत सौंफ़ के बीज के सबसे बड़े निर्यातक में से एक है? इस बात को भी आप अच्छे से जानते हैं कि हमारे यहां खाने के बाद बेहतर पाचन के लिए सौंफ का सेवन करना एक परंपरा है।

इसे माउथ फ्रेशनर की तरह इस्तेमाल में लायें लेकिन यह इसके अलावा भी बहुत कुछ है। सौंफ कॉपर, पोटेशियम, कैल्शियम, जिंक, मैंगनीज, विटामिन सी, आयरन, सेलेनियम और मैग्नीशियम जैसे मिनरल्स का एक ज़रूरी सोर्स होने के साथ सांसों की बदबू दूर करने में भी मदद करती है। सौंफ़ के लिए हमारे भारत के गहरे लगाव को हर कोई जानता है। इसे आयुर्वेद से लेकर रसोई के मसालों तक हर जगह स्थान मिला हुआ है। क्या आपको मालूम है कि भारत सौंफ़ के बीज के सबसे बड़े निर्यातक में से एक है? सौंफ में पॉलीफेनोल नाम एंटीऑक्सिडेंट होता है जो एक पॉवरफुट इंफ्लामेट्री एजेंट के तौर पर काम करता है। इस बीज की मदद से आपकी ढेर सारी परेशानियां छूमंतर हो सकती हैं।

दिल की बीमारी: अगर आप डेली करीब 7 से 10 ग्राम सौंफ खाएंगे तो इसमें मौजूद पोटैशियम, मैग्‍नेशियम और कैल्शियम हार्ट अटैक जैसी डिजीज का खतरा काफी हद तक कम कर देंगे।

भूख की कमी: कुछ लोग भूख न लगने से परेशान रहते हैं, उनको सौंफ जरूर चबाना चाहिए, आप चाहें तो सौंफ कों उबालकर इसका पानी गुनगुना होने पर पी सकते हैं इससे डाइजेशन बेहतर होगा और आपकी हंगर क्रेविंग बेहतर होगी।

ब्रेस्‍ट फीडिंग: जो माताएं अपने नवजात बच्चे को ब्रेस्टफीड कराती है, उन्हें सौंफ का सेवन जरूर करना चाहिए क्योंकि ये मिल्क के प्रोडक्शन को बढ़ाकर शिशु को बेहतर न्यूट्रीशन देने में मदद करता है।

डायबिटीज: डायबिटीज के मरीजों को अक्सर तबीयत बिगड़ने का डर रहता है, लेकिन अगर वो रोजाना एक ग्लास सौंफ का पानी पिएंगे तो ब्लड शुगर लेवल कंट्रोल हो जाएगा।

कैंसर से बचाव: कई रिसर्च में ये साबित हुआ है कि सौंफ के एक्‍सट्रैक्‍ट में कैंसर से लड़ने और इसके बुरे असर को रोकने में काफी प्रभावी हो सकते हैं। महिलाओं को सौंफ जरूर खाना चाहिए क्योंकि ये ब्रेस्ट कैंसर, समेत लिवर कैंसर के रिस्क को भी कम कर सकता है।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments