Tuesday, May 28, 2024
Homeलाइफस्टाइलकहीं आपके परिवार को बीमार तो नहीं कर रहा नकली दूध, ऐसे...

कहीं आपके परिवार को बीमार तो नहीं कर रहा नकली दूध, ऐसे करें पहचान

Milk Purity: दूध में मिलावट अधिक मुनाफे के चक्कर में इस कदर हो गई है कि यह आपके परिवार को कई तरह की बीमारियां दे रहा है। अगर आप भी नकली दूध से परेशान हैं तो आज हम आपको इस लेख में असली और नकली दूध की पहचान करने के कुछ टिप्स बता रहे हैं।

दूध हमारे खाने-पीने का अहम हिस्सा है और ज्यादातर घरों में दूध रोज आता है। कुछ लोग पैकेट वाला दूध खाते हैं तो कुछ लोग गाय या भैंस का दूध खाते हैं। दूध को सेहत के लिए अच्छा माना जाता है। लेकिन आजकल बाजार में मिलावटी दूध भी आने लगा है। यह मिलावटी दूध आपकी सेहत बिगाड़ सकता है। मिलावटी दूध पीने से आपके पेट में दिक्कत, डायरिया आदि समस्या हो सकती है।

ऐसे करें नकली और असली दूध की पहचान

दूध में केमिकल मिलाने के अलावा पानी मिलाने की भी समस्या बड़े पैमाने पर होती है। सबसे पहले आप दूध की 2-4 बूंद किसी लकड़ी या पत्थर पर गिराएं। अगर दूध गिरते ही आसानी से बहने लगे तो समझ जाइए कि उसमें पानी मिला है, जबकि असली दूध धीरे-धीरे बहता है और सफेद निशान छोड़ता है।

खूशबू से पहचाने

अगर दूध में मीठेपन की खूशबू आती है तो दूध शुद्ध है और दूध में साबुन या डिटर्जेंट की खुशबू आती है तो समझ लीजिए कि दूध में मिलावट की गई है। असली दूध का स्वाद हल्का मीठा होता है।

रंग से पहचाने

असली दूध का रंग दूधिया होता है और उसे गर्म करने के बाद भी वह दूधिया और सफेद ही रहता है जबकि मिलावटी दूध गरम करने के कुछ समय बाद पीला पड़ने लगता है। नकली दूध में पीलापन यूरिया की वजह से आता है जो दूध को गाढ़ा करने के लिए मिलाया जाता है। इस प्रकार आप रंग से दूध की पहचान कर सकते हैं।

झाग से पहचाने

थोड़ा सा यानी एक चम्मच के करीब दूध किसी कांच की बोतल में डालिए और उसे जोर जोर हिलाइए। अगर दूध में झाग उठता है और काफी देर बाद वो झाग बैठता है तो समझिए कि दूध में डिटरजेंट मिलाया गया है। अगर झाग नहीं बनता तो दूध को शुद्ध माना जा सकता है।

कड़वा होता है मिलावटी दूध

दूध का अपना एक स्वाद होता है और असली दूध का स्वाद हल्का-सा मीठा होता है, जबकि नकली दूध में डिटर्जेंट और सोडा मिला होता है। इस वजह से मिलावटी दूध का स्वाद कड़वा हो जाता है।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments