Friday, June 14, 2024
Homeलाइफस्टाइलSuperFood: मरने का जोखिम 10 फीसदी कम करता है ये सुपरफूड, जिसे...

SuperFood: मरने का जोखिम 10 फीसदी कम करता है ये सुपरफूड, जिसे खाना सबके बस की बात नहीं

Anti Aging SuperFood: ‘नट्टो’ एक पारंपरिक जापानी खाना है जो किण्वित सोयाबीन से बनाया जाता है। इसकी अमोनिया जैसी बदबू और बलगम जैसी चिपचिपाहट उन लोगों को भी पसंद नहीं आती जो इसे खाकर बड़े हुए हैं। 2017 में जापानी इंटरनेट सर्विस प्रोवाइडर कंपनी निफ्टी ने एक सर्वे किया तो पता चलता कि सिर्फ 62 फीसदी लोग नट्टो को चाव से खाते हैं। यह भी पता चला कि 13 फीसदी लोग नट्टो को नापसंद करते हैं, भले ही इसे खाने के कितने भी फायदे हों। जापान के लोग नट्टो को लंबे समय से सुपरफूड मानते रहे हैं। उनको लगता है कि इसे खाने से रक्त का प्रवाह बेहतर होता है और हृदयाघात का जोखिम कम होता है।

जापान में बुजुर्गों की आबादी सबसे ज्यादा

जापान उन देशों में शामिल है जहां बुजुर्गों की आबादी सबसे ज्यादा है इसलिए यहां नट्टो की ये खूबियां बहुत मायने रखती हैं। जापानी लोग लंबी उम्र जीते हैं। माना जाता है कि वे काफी योगा करते हैं। अच्छा खाना खाते हैं। मानसकि और शारीरकि रूप से फटि रहने के लिए उनकी लाइफस्टाइल अलग ही है। लेकिन क्या आपको पता है कि लगभग 60 फीसदी जापानी लोग एक खास तरह का फूड खाते हैं, जिससे वे मौत को खुद से काफी दूर रखते हैं। वहां इसे सुपरफूड कहा गया है। लेकिन यह इतना घिनौना है कि हर कोई इसे नहीं खा सकता।

शरीर में खून का प्रवाह बेहतर हो जाता

हालांकि, यह जापान का पारंपरकि खाना है और वर्षों से लोग इसे चाव से खाते हैं। हम बात कर रहे जापानी सुपरफूड ‘नट्टो’ की। इसे किण्वित सोयाबीन से बनाया जाता है। इससे अमोनिया जैसी बदबू आती है और बलगम की तरह चिपचिपा होता है. आम आदमी जिसने कभी इसे खाया न हो, उसके लिए इसका एक कौर भी खाना आसान नहीं।लेकिन जापान में लोग इसे चाव से खाते हैं। जापान की एक कंपनी निफ्टी ने 2017 में सर्वे किया तो पता चला कि 62 फीसदी से ज्यादा लोग इसे अक्सर खाते हैं और सिर्फ 13 फीसदी लोगों को यह पसंद नहीं।

जापान के लोगों को लगता है कनिट्टो खाने से शरीर में खून का प्रवाह बेहतर होता है।इससे हर्ट अटैक का जोखमि भी काफी कम हो जाता है। नट्टो खून को सिल्की रखता है। वैज्ञानिक मानते हैं कि रोजाना अगर कोई नट्टो का एक पैक भी खाता है तो लंबी उम्र तक जी सकता है। यही वजह है कि जापान उन देशों में शामिल है जहां बुजुर्गों की आबादी सबसे ज्यादा है।

मरने का जोखिम 10 फीसदी कम

शिराकावा ब्रिटिश मेडिकल जर्नल में पब्लशि एक रिपोर्ट के मुताबिक, अगर कोई नट्टो जैसा सोयाबीन से बना खाना खाते हैं तो दिल का दौरा पड़ने से मरने का जोखिम 10 फीसदी कम हो जाता है। इसमें भरपूर प्रोटीन, आयरन और फाइबर होता है, जिससे ब्लड प्रेशर संतुलति रहता है। वजन कम होता है। 40 से 50 ग्राम नट्टो खाने से विटामिन की कमी पूरी हो जाती है।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments