Monday, June 24, 2024
Homeदेशसाइबर ठगों के खिलाफ अब तक की सबसे बड़ी रेड

साइबर ठगों के खिलाफ अब तक की सबसे बड़ी रेड

नूंह । हरियाणा के नूहं जिले में पैर पसार रहे साइबर क्राइम के खिलाफ हरियाणा पुलिस ने एक बड़ा अभियान चलाकर ताबड़तोड़ कार्रवाई की है। इस अभियान में 5000 से अधिक पुलिसकर्मियों और अधिकारियों की अलग-अलग टीमों ने एक साथ नूहं जिले के 14 गावों में 300 लोकेशन पर छापेमारी कर 125 हैकर व साइबर अपराधियों को काबू किया।
डीआईजी एसटीएफ सिमरदीप सिंह ने शुक्रवार को रेड के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि डीजीपी हरियाणा प्रशांत कुमार अग्रवाल के निर्देश पर पुलिस ने साइबर अपराध में संलिप्त अपराधियों के खिलाफ यह अभियान चलाया। एसपी नूंह वरुण सिंगला ने व्यापक कार्रवाई करते हुए इस पूरे ऑपरेशन को सफल बनाने में अहम भूमिका निभाई। उन्होंने बताया कि रेड में धरे गए अपराधियों से अलग-अलग बैंक के एटीएम, स्मार्टफोन्स, लैपटॉप, आधारकार्ड और एटीएम स्वैप मशीन के साथ ही अन्य सामान बरामद किया गया है। इन संदिग्धों को काबू कर उनसे पूछताछ की जा रही है। उन्होंने बताया कि पिछले बीते कुछ दिनों में पुलिस को नूंह जिले के अलग-अलग क्षेत्रों में साइबर फ्रॉड से संबंधित इनपुट मिले थे। एक कमरे में बैठे-बैठे कुछ लोग दूसरों के बैंक खातों को साफ कर दिया करते थे। मिले इनपुट के आधार पर साइबर क्राइम के हॉटस्पॉट एरिया को चिन्हित कर इन ठिकानों पर भारी पुलिसबल के साथ एकसाथ रेड की गई। इस कार्रवाई को अंजाम देने के लिए हरियाणा पुलिस ने 5000 से अधिक पुलिसकर्मियों की अलग-अलग टीमें गठित की। जिसमें एक एसपी, छह एडिशन एसपी, 14 डीएसपी सहित अन्य पुलिसकर्मियों ने साइबर अपराध के खिलाफ अभियान छेड़ा।
102 रेडिंग टीमों ने की ताबडतोड़ कार्रवाई
साइबर ठगों पर यह कार्रवाई पुलिस की विभिन्न जिलों की गठित की गई 102 रेडिग टीमों द्वारा की गई। पुलिस की अलग-अलग टीमों ने एक साथ पुन्हाना, पिनंगवा, फिरोजपुर झिरका, बिछौर एरिया के 14 चिन्हित गावों में छापेमारी कर कार्रवाई को अंजाम दिया। कल (गुरुवार) रात 11.30 बजे इस अभियान की शुरुआत हुई थी जिसके तहत कार्रवाई सुबह तक चली। पुलिस बल की ब्रीफिंग से लेकर विभिन्न टारगेट्स पर तलाशी अभियान तक इस ऑपरेशन की कुल अवधि 24 घंटे रही।
खुफिया इनपुट के बाद ऐसे हुई रूपरेखा तैयार
एसपी नूंह वरुण सिंगला ने बताया कि चार अप्रैल से आठ अप्रैल तक भोंडसी में चले साइबर प्रशिक्षण कार्यक्रम के बाद पुलिस को मिली खुफिया जानकारी के बाद से ही नूंह में साइबर ठगों पर शिकंजा कसने के लिए इस विशेष ऑपरेशन की रूपरेखा तैयार की गई थी। पुलिस ने पहले जिले के साइबर क्राइम के हॉटस्पॉट माने जाने वाले 14 गावों की मैपिंग कर टारगेट्स फिक्स किए। साइबर अपराध के हॉटस्पॉट के तौर पर खेडला, लुहिंगा खुर्द, लुहिंगा कलां, गोकलपुर, गोधोला, अमीनाबाद, महू, गुलालता, जैवंत, जखोपुर, नई, तिरवाडा, मामलिका और पापड़ा गांव को चिन्हित करने के बाद ताबड़तोड़ छापेमारी कर कार्रवाई को अंजाम दिया गया। जिला नूहं में पुलिस द्वारा आठ अप्रैल के बाद से साइबर ठगी के मामलों से संलिप्त 20 अपराधियों को पहले ही गिरफ्तार किया जा चुका है।
नई गांव से सर्वाधिक 31 साइबर अपराधियों को पकड़ा गया है। लुहिंगा कलां गांव से 25, जैवंत और जखोपुर से 20-20, खेडला और तिरवाडा से 17-17, और अमीनाबाद से 11 व अन्य गांव से भी साइबर अपराधी पकड़े गए हैं। पुलिस ने इन अपराधियों के पास से भारी मात्रा में मोबाइल फोन, एटीएम और अन्य उपकरण के साथ ही नकदी भी बरामद की है। साथी ही 10 हजार रुपये के एक इनामी अपराधी साबिर उर्फ भूट्टू जिस पर 30 मामले दर्ज हैं को भी काबू किया गया है।
भारी मात्रा में फर्जी सिम, एटीएम, स्मार्टफोन, लैपटॉप बरामद
पकड़े गए अपराधियों और हैकर्स के पास से कुल 66 स्मार्टफोन्स, 65 फर्जी सिम, 166 आधार कार्ड, तीन लैपटॉप, अलग-अलग बैंकों के 128 एटीएम कार्ड, दो एटीएम स्वाइप मशीन, एक एईपीएस मशीन, छह स्कैनर, पांच पैन कार्ड बरामद किए गए हैं। आरोपियों के पास से सात देसी कट्टे, दो कारतूस, दो कार, चार टैक्टर-ट्राली, 22 मोटरसाइकिल भी बरामद किए गए हैं। पुलिस द्वारा साइबर व अन्य आपराधिक मामलों से संलिप्त 69 आरोपियों को टारगेट करते हुए छापेमारी की गई।
अन्य प्रदेशों से भी जुड़े हैं हैकरर्स के तार
शुरुआती जांच में पकड़े गए आरोपियों के दूसरे राज्यों के साइबर अपराधियों के साथ भी संबंधों की बात सामने आई है जिसे लेकर जांच की जा रही है। उल्लेखनीय है कि साइबर अपराध को रोकने के लिए पुलिस द्वारा सख्ती से कदम उठाने के साथ-साथ लोगों को भी जागरूक किया जा रहा है।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments