Thursday, February 29, 2024
HomeदेशDiamond Bourse: दुनिया का सबसे बड़ा कॉर्पोरेट ऑफिस बनकर तैयार, पीएम मोदी...

Diamond Bourse: दुनिया का सबसे बड़ा कॉर्पोरेट ऑफिस बनकर तैयार, पीएम मोदी करेंगे उद्घाटन, जानें इसकी खासियत

Surat Diamond Bourse: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कल यानी रविवार को दुनिया के सबसे बड़े कॉर्पोरेट ऑफिस हब ‘सूरत डायमंड बोर्स’ का उद्घाटन करेंगे। 3400 करोड़ रुपये की लागत से 35.54 एकड़ जमीन पर निर्मित, सूरत डायमंड बोर्स (SDB) कच्चे और पॉलिश किए गए हीरे के कारोबार का एक वैश्विक केंद्र बनने के लिए तैयार है। डायमंड बोर्स दुनिया की सबसे बड़ी इंटरकनेक्टेड इमारत है, क्योंकि इसमें 4,500 से अधिक इंटरकनेक्टेड कार्यालय हैं। इस इमारत में 175 देशों के 4,200 व्यापारियों को रखने की क्षमता है जो पॉलिश किए गए हीरे खरीदने के लिए सूरत आएंगे।

दुनिया की सबसे बड़ी इमारत

एसडीबी सूरत, भारत का दूसरा हीरा व्यापार केंद्र है। इस डायमंड बाजार को लगभग 3,200 करोड़ रुपये की लागत से तैयार किया गया है। इसमें कंपनियों के ऑफिस के अलावा डायमंड टेस्टिंग लैब्स, ग्रेडिंग और सर्टिफिकेशन, बैंक, सुरक्षा वॉल्ट, कस्टम जोन और रेस्टोरेंट्स की सुविधा भी है। इससे पहले जुलाई में, प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने ‘एक्स’ पर एक मीडिया रिपोर्ट का जवाब दिया था, जिसमें कहा गया था कि सूरत डायमंड बोर्स ने अब पेंटागन को पीछे छोड़ दिया है, जहां पिछले 80 वर्षों से अब तक दुनिया की सबसे बड़ी कार्यालय इमारत है। यह व्यापार, नवाचार और सहयोग के केंद्र के रूप में काम करेगा, हमारी अर्थव्यवस्था को और बढ़ावा देगा और रोजगार के अवसर पैदा करेगा। डायमंड टेस्टिंग लैब्स से लेकर रेस्टोरेंट्स की सुविधा

पॉलिश किए गए हीरों का बनेगा हब

डायमंड बोर्स दुनिया की सबसे बड़ी इंटरकनेक्टेड इमारत है, क्योंकि इसमें 4,500 से अधिक इंटरकनेक्टेड कार्यालय हैं। कार्यालय भवन पेंटागन से भी बड़ा है और देश का सबसे बड़ा सीमा शुल्क निकासी घर है। इस इमारत में 175 देशों के 4,200 व्यापारियों को रखने की क्षमता है जो पॉलिश किए गए हीरे खरीदने के लिए सूरत आएंगे। व्यापार सुविधा से लगभग 1.5 लाख लोगों को रोजगार मिलेगा, क्योंकि दुनिया के कोने-कोने से हीरा खरीदारों को सूरत में व्यापार करने के लिए एक वैश्विक मंच मिलेगा।

एसडीबी के मीडिया संयोजक दिनेश नवादिया ने एक बयान में कहा कि उद्घाटन से पहले ही मुंबई स्थित कई हीरा व्यापारियों ने अपने कार्यालयों का कब्जा ले लिया है। इन्हें नीलामी के बाद प्रबंधन ने आवंटित किया था। उन्होंने कहा कि उद्घाटन के बाद प्रधानमंत्री एसडीबी भवन के पास एक बड़ी सभा को संबोधित करेंगे।

सूरत डायमंड बोर्स ने अब पेंटागन को पीछे छोड़ दिया है

इससे पहले जुलाई में, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ‘एक्स’ पर एक मीडिया रिपोर्ट का जवाब दिया था जिसमें कहा गया था कि सूरत डायमंड बोर्स ने अब पेंटागन को पीछे छोड़ दिया है, जहां पिछले 80 वर्षों से अब तक दुनिया की सबसे बड़ी कार्यालय इमारत है। उन्होंने पोस्ट किया, ‘सूरत डायमंड बोर्स सूरत के हीरा उद्योग की गतिशीलता और विकास को प्रदर्शित करता है।यह भारत की उद्यमशीलता की भावना का भी प्रमाण है। यह व्यापार, नवाचार और सहयोग के केंद्र के रूप में काम करेगा, हमारी अर्थव्यवस्था को बढ़ावा देगा और रोजगार के अवसर पैदा करेगा।’

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments