Monday, June 17, 2024
Homeराज्‍यमध्यप्रदेशकुबेश्वर धाम में बृजधाम की झलक, पंडित प्रदीप मिश्रा के निर्देशन में...

कुबेश्वर धाम में बृजधाम की झलक, पंडित प्रदीप मिश्रा के निर्देशन में डेढ़ लाख से अधिक श्रद्धालुओं ने अन्नकूट की प्रसादी ग्रहण की

Kubereshwar Mahadev Temple: कथा वाचक पंडित प्रदीप मिश्रा के कुबेश्वर धाम में सोमवार (20 नवंबर) को अन्नकूट महोत्सव का आयोजन आयोजन किया गया। आयोजन में शामिल होने के लिए देश भर से श्रद्धालु एक दिन पहले कुबेश्वर धाम पहुंच गए। अन्नकूट महोत्सव पंडित प्रदीप मिश्रा के निर्देशन में आयोजित हुआ। हर साल दीपावली पर्व के बाद सीहोर जिला मुख्यालय के पास चितावलिया हेमा स्थित कुबेरेश्वर महादेव मंदिर में अन्नकूट महोत्सव का आयोजन किया जाता है। मंदिर परिसर में भव्य रूप से गोवर्धन सजाया और 56 भोग से गिरिराज की झांकी के समक्ष सजाए गए थे। यहां पर हजारों की संख्या में आए श्रद्धालुओं ने दर्शन के बाद महाप्रसादी ग्रहण की। 56 प्रकार के भोग में तीन प्रकार की खीर, अनेक प्रकार के भाजिया, एक दर्जन से अधिक मिठाइयों के अलावा औषधीय पकवान शामिल रहे।

कुबेश्वर धाम में बृजधाम की झलक नजर आई

अन्नकूट महोत्सव के अवसर पर सोमवार को कुबेश्वर धाम में बृजधाम की झलक नजर आई। मंदिर परिसर में भव्य रूप से गोवर्धन सजाया गया और 56 भोग से गिरिराज जी बनाए गए। आयोजन को लेकर लंबे समय से पंडित प्रदीप मिश्रा के सानिध्य में विठलेश सेवा समिति द्वारा तैयारियां की जा रही थी। कुबेरेश्वर महादेव मंदिर में अंतर्राष्ट्रीय कथावाचक भागवत भूषण पंडित प्रदीप मिश्रा ने यहां पर आए श्रद्धालुओं के समक्ष महाआरती की। उसके बाद प्रसादी का वितरण किया। मंदिर परिसर में पिछले दो दिनों से भक्तों के आने का सिलसिला शुरू हो गया था। शनिवार और रविवार को शहर सहित आसपास के सभी होटल और धर्मशालाओं में श्रद्धालु ठहरे हुए थे।

करीब डेढ़ लाख से अधिक श्रद्धालुओं ने प्रसादी ग्रहण की

वहीं, सोमवार को करीब डेढ़ लाख से अधिक श्रद्धालुओं ने प्रसादी ग्रहण की। सुबह दस बजे से भोजन प्रसादी का क्रम आरंभ हो गया था। इसके बाद मंदिर परिसर में बनी गौशाला में भागवत भूषण पंडित श्री मिश्रा ने पहुंचकर गोमाता की पूजा अर्चना की और गोपाष्टमी के पर्व की सभी को बधाई भी दी।परम्परानुसार गोपाष्टमी के अवसर पर अंतर्राष्ट्रीय कथावाचक भागवत भूषण पंडित मिश्रा सहित विठलेश सेवा समिति के पदाधिकारियों की मौजूदगी में मंदिर परिसर के विशाल हाल में अन्नकूट दर्शन का आयोजन किया गया। उसके बाद गौमाता एवं गोवर्धन नाथ की आरती के पश्चात बाबा गोवर्धन नाथ जी एवं कुबेरेश्वर महादेव का प्रसादी का वितरण किया गया। इस मौके पर हजारों की संख्या में श्रद्धालुओं ने प्रसादी ग्रहण की।

छप्पन प्रकार से अधिक व्यंजनों का भोग लगाया गया

इस संबंध में जानकारी देते हुए विठलेश सेवा समिति के मीडिया प्रभारी प्रियांशु दीक्षित ने बताया, सुबह से ही यहां पर समिति के कार्यकर्ताओं ने गिरिराज जी के समक्ष छप्पन प्रकार से अधिक व्यंजनों का भोग लगाया गया था। इस भोग में पोषक तत्वों वाली खाद्य सामग्री शामिल की गई। इनमें करीब एक दर्जन से अधिक प्रकार की विभिन्न प्रकार की मिठाइयों के अलावा इम्युनिटी को मजबूत करने वाली औषधीय सामग्री जैसे तुलसी, नारियल, अदरक, दही, पनीर, आंवला, पालक, मैथी, ड्राय फू्रट्स, सभी प्रकार की मिश्रित सब्जी, पंचामृत, खीर, गुलाब जामुन, पेड़ा, मोहनथाल, हलवा, लड्डू धनिया पंजीरी, मूंग दाल हलवा, मालपुआ, रबड़ी, दाल चावल कढ़ी, खिचड़ी, मुरब्बा, ताजे फल और सूखे फल आदि के पकवान शामिल थे। वहीं, श्रद्धालुओं के लिए विशेष प्रकार की शुगर फ्री मिठाई भी बनाई गई थी।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments