Friday, June 21, 2024
Homeराज्‍यमध्यप्रदेशनारायणा सक्सेस मीट में टॉपर स्टूडेंट्स को सम्मानित करने के साथ ही...

नारायणा सक्सेस मीट में टॉपर स्टूडेंट्स को सम्मानित करने के साथ ही दिए गए रिवार्ड्स और 100% स्काॅलरशिप

इंदौर। साउथ तुकोगंज स्थित देश की लीडिंग इंजीनियरिंग एवं मेडिकल कोचिंग संस्थान नारायणा आई. आई. टी. व नीट एकेडमी द्वारा ऑल इंडिया लेवल पर आयोजित नारायणा स्कॉलास्टिक एप्टीट्यूड टेस्ट के 18 वे संस्करण के परिणाम हाल ही में घोषित किए गए थे। शनिवार को इस स्कॉलास्टिक टेस्ट में सफल होने वाले स्टूडेंट्स के लिए सक्सेस मीट का आयोजन किया गया।

100 प्रतिशत स्कॉलरशिप की गई ऑफर

साउथ तुकोगंज सेंटर के डायरेक्टर डाॅ. पुष्पेन्द्र वर्मा ने बताया कि शनिवार को आयोजित समारोह में इस परीक्षा में नेशनल लेवल पर टॉप रैंक पाने वाले स्टूडेंट्स को लाखों कैश अवार्ड प्रदान किए गए। साथ ही परीक्षा में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने वाले स्टूडेंट्स को नारायणा के किसी भी कोर्स में एडमिशन लेने पर 100 प्रतिशत तक स्कॉलरशिप भी ऑफर की गई। नारायणा स्कॉलास्टिक एप्टीट्यूड टेस्ट में जिस स्कूल के छात्र टॉपर थे, उन स्कूल एवं संस्थान को भी कैश अवार्ड के साथ-साथ ट्रॉफी प्रदान की गई।

भविष्य के डॉक्टर और इंजीनियरों का चयन था लक्ष्य

टेस्ट का आयोजन 15 व 29 अक्टूबर को ऑनलाइन और 8 से 12 अक्टूबर 2023 तक ऑनलाइन मोड में आयोजित किया गया था। 7वीं से लेकर 11वीं कक्षा में पढ़ रहे विद्यार्थियों के लिए नारायणा की यह पहल काफी उत्साहवर्धक साबित हुई और बड़ी संख्या में स्टूडेंट्स इस परीक्षा में शामिल हुए। स्कॉलास्टिक एप्टीट्यड टेस्ट के माध्यम से नारायणा का उद्देश्य देश के सर्वोच्च रैंकिंग वाली प्रतियोगिता परीक्षाओं आईआईटी जेईई एवं नीट के लिए सबसे प्रतिभाशाली विद्यार्थियों का चयन करके भविष्य के डॉक्टरों एवं इंजीनियरों को तैयार करना था।

स्टूडेंट्स ने जाना अपना पोटेंशियल

डाॅ. पुष्पेन्द्र वर्मा ने बताया कि यह परीक्षा ऑब्जेक्टिव टाइप की थी एवं इसमें साइंस, मैथ्स एवं मेंटल एबिलिटी के प्रश्न पूछे गए थे। इस टेस्ट का मकसद स्टूडेंट्स में प्रतियोगी क्षमता विकसित करना था। यही नहीं इस टेस्ट के जरिए स्टूडेंट्स को ऑल इंडिया लेवल पर अपनी रैंकिंग भी जान पाने का मौका मिला। इसके साथ ही स्टूडेंट्स इस टेस्ट के माध्यम से अपनी एनटीएसई, ओलंपियाड, केवीपीवाई, आईआईटी जेईई, नीट एवं विभिन्न प्रतियोगिता परीक्षा की तैयारी को भी परखने का मौका मिला।

प्रतिभाशाली स्टूडेंट्स की हर संभव मदद करना है उद्देश्य

डाॅ. पुष्पेन्द्र वर्मा ने बताया कि इस परीक्षा का उद्देश्य यह है कि कोई भी प्रतिभाशाली स्टूडेंट आर्थिक चुनौतियों के कारण अपने सपनों से समझौता न करें क्योंकि नारायणा ग्रुप ऐसे स्टूडेंट्स को आगे लाने के लिए हर संभव सहायता प्रदान करेगा।

कोचिंग के साथ हायर एजुकेशन इंस्टीट्यूट का संचालन भी

नारायणा न केवल इंजीनियरिंग एवं मेडिकल इंस्टीट्यूट के रूप में बल्कि एक ग्रुप के रूप में नारायणा अपनी इंजीनियरिंग कॉलेज, मेडिकल कॉलेज, नर्सिंग कॉलेज, डेंटल कॉलेज, जूनियर कॉलेज आदि के लिए पूरे भारत में अपना एक अहम स्थान रखता है। डाॅ. पुष्पेन्द्र वर्मा ने बताया कि एकेडमिक सेशन 2024-2025 के लिए एडमिशन प्रारंभ हो चुके हैं।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments