Wednesday, February 21, 2024
Homeराज्‍यमध्यप्रदेशShivpuri में चौथे व्यक्ति की मौत के बाद करणी सेना और क्षत्रिय...

Shivpuri में चौथे व्यक्ति की मौत के बाद करणी सेना और क्षत्रिय समाज ने किया प्रदर्शन, पूरा गांव पुलिस छावनी में तब्दील

Shivpuri News: मध्य प्रदेश के शिवपुरी जिले के नरवर थाना क्षेत्र के अंतर्गत चकरामपुर में दो गुटों में हुए विवाद के बाद चार लोगों की हत्या को लेकर करणी सेना मैदान में आ गई है। संगठन के प्रदेश अध्यक्ष इंदल सिंह राणा का आरोप है कि प्रशासन का रवैया आरोपियों के खिलाफ सख्त नहीं है। जिन लोगों ने इस हत्याकांड को अंजाम दिया है। उन लोगों को छोड़ कर हमारे हवाले कर दो, हम एक-एक करोड रुपये देने के लिए तैयार हैं। चौथे व्यक्ति की मृत्यु के बाद लाश रखकर करणी सेना और क्षत्रिय समाज ने प्रदर्शन किया। करणी सेना की प्रदेश अध्यक्ष ने चेतावनी दी है।

14 आरोपियों का हमारे हवाले कर दो

करणी सेना के प्रदेश अध्यक्ष इंदल सिंह राणा ने बयान दिया है। उन्होंने कहा कि प्रशासन का रवैया आरोपियों के खिलाफ सख्त नहीं है। जिन लोगों ने इस हत्याकांड को अंजाम दिया है। उन लोगों को छोड़ दो, हम एक-एक करोड़ रुपए देने के लिए तैयार है। उन्होंने आरोप लगाया कि चार लोगों की हत्या कर दी गई लेकिन शिवपुरी के कलेक्टर का रवैया संवेदनशील नहीं है। अभी तक उन्होंने पीड़ित परिवार को कोई सांत्वना नहीं दी। करणी सेना के प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि प्रशासन मृतकों को चेक देने की बात कहकर खानापूर्ति में लगा हुआ है। जबकि हम भी एक-एक करोड़ रुपये देने के लिए तैयार हैं, आप हत्याकांड के 14 आरोपियों का हमारे हवाले कर दो।

पूरा गांव पुलिस छावनी में हुआ तब्दील

हत्याकांड के बाद गांव में तनावपूर्ण माहौल को देखते हुए भारी पुलिस बल सुरक्षा के लिए तैनात किया गया है। इस गांव में कुशवाह परिवार के लोग ज्यादा संख्या में रहते हैं लेकिन 17 नवंबर को हुए झगड़े के बाद अधिकांश लोग गांव छोड़कर जा चुके हैं। गौरतलब है कि यहां पर दो परिवारों में पुरानी रंजिश के चलते विवाद हो गया था। इसमें एक कार में आग लगा दी गई थी और भदौरिया परिवार के चार लोगों की हत्या कर दी गई। इसके अलावा कुशवाह परिवार का भी एक अन्य सदस्य घायल हुआ है, जिसका इलाज ग्वालियर में चल रहा है।

इलाज के दौरान चौथे व्यक्ति की मृत्यु

चकरामपुर में दो गुटों में हुए विवाद के बाद 17 नवंबर को तीन लोगों की हत्या कर दी गई थी। इसमें चार अन्य लोग गंभीर रूप से घायल हुए थे। इनमें से इलाज के दौरान चौथे व्यक्ति की मृत्यु ग्वालियर में हो गई। ग्वालियर में मृत मुन्ना भदौरिया का शव शुक्रवार देर शाम को नरवर लाया गया। यहां पर करणी सेना और क्षत्रिय समाज के लोगों ने शव रखकर चक्का जाम किया और प्रशासन के सामने विभिन मांगें रखीं। इसमें आरोपियों के घरों पर बुलडोजर चलाने और इस वारदात में शामिल सरपंच के मकान पर भी बुलडोजर चलाने की मांग की। चक्काजाम के बाद वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी मौके पर पहुंचे और आश्वासन दिया। इसके बाद संबंधित सरपंच को टीआई कि रिपोर्ट के आधार पर पद से हटाने की सिफारिश राज्य सरकार से करने का आश्वासन दिया गया।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments