Tuesday, May 28, 2024
Homeट्रेंडिंगजानें भारत के किस गांव में सबसे पहले उगता है सूर्य, कब...

जानें भारत के किस गांव में सबसे पहले उगता है सूर्य, कब होती है शाम

Trending news: भारत जैसा अनोखा देश शायद ही आपको पूरी दुनिया में कहीं और देखने को मिलेगा। इस देश की खासियत ये है कि यहां पर आपको अलग-अलग जगहों पर अलग खान-पान, लोग, बोली, भाषाएं और मौसम देखने को मिलेंगे। यही नहीं, सूर्य उगने और ढलने तक के वक्त में बहुत फर्क होता है। ये तो आप सभी जानते होंगे कि भारत के उत्तर-पूर्वी राज्य से सबसे पहले सूर्य की किरणें पड़ती हैं। सूर्य सबसे पहले ‘सेवन सिस्टर्स’ कहे जाने वाले राज्यों में उगता है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि इनमें शामिल अरुणाचल प्रदेश में एक गांव ऐसा भी है, जहां सूरज की किरणें सबसे पहले पड़ती हैं, इस जगह को दांग के नाम से जाना जाता है। प्राकृतिक चीजों से घिरा छोटा सा गांव दांग, लगभग 4,070 फ़ीट की ऊंचाई पर स्थित है। सुबह के 4 बजे यहां सूर्योदय होता है, और ऐसी खूबसूरती को देखने के लिए न केवल देश बल्कि विदेशी भी इस जगह पर जरूर घूमकर जाते हैं। क्या आपने कभी सोचा है कि आखिर भारत में सबसे पहले सूरज कहां उगता होगा? राज्य का नाम शायद लोग जानते होंगे, पर उस गांव का नाम 99 फीसदी लोगों को नहीं पता होगा, जहां सबसे पहले सूर्योदय होता है। चलिए आपको इस जगह की कुछ दिलचस्प बातें बताते हैं।

भारत में सबसे पहले सूरज कहां निकलता है

सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म कोरा पर कुछ वक्त पहले किसी ने ये सवाल किया- “भारत में सबसे पहले सूरज कहां निकलता है?” चलिए देखते हैं सबसे पहले कि लोगों ने इसका क्या उत्तर दिया। एक यूजर ने कहा- “1999 में अरुणाचल प्रदेश स्थित डोंग नामक जगह की खोज की गई, तो पता चला कि देश में सबसे पहले सूर्योदय यहीं होता है। अरुणाचल प्रदेश में निकलता है अरुण मतलब सूरज। एक यूजर ने कहा- “अरुणाचल प्रदेश, और इसी लिए इसे अरुणाचल यानी सूर्य का आंचल माना जाता है। ”अब ये तो लोगों को जवाब हो गए जो सही भी हैं। भारत में सबसे पहले सूर्योदय अरुणाचल प्रदेश में होता है। पर हमारा सवाल है कि वो कौन सा गांव है, जहां सबसे पहले सूर्य उदय होते दिखाई देता है।चलिए आपको इसका जवाब बताते हैं। अरुणाचल प्रदेश में डोंग घाटी है, यहां एक गांव है, जिसका नाम है डोंग। इस डोंग गांव में ही सबसे पहले सूर्योदय होता दिखाई देता है। आपको जानकर हैरानी होगी कि सुबह 4 बजे के करीब यहां सूर्योदय हो जाता है और शाम के 4 बजे तक सूर्यास्त होने लगता है। ये गांव धरती से करीब 1240 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है।

राज्य का दौरा करने के लिए इनर लाइन परमिट की जरूरत पड़ती

अरुणाचल प्रदेश एक प्रतिबंधित क्षेत्र है, और इस राज्य का दौरा करने के लिए इनर लाइन परमिट की जरूरत पड़ती है। आप अरुणाचल आईएलपी वेबसाइट पर जा सकते हैं और परमिट के लिए अप्लाई कर सकते हैं। एक बार परमिट मिल जाने के बाद, आप अरुणाचल में इस जगह और अन्य जगहों को देख सकते हैं। अगर आप पैदल जाने की प्लानिंग कर रहे हैं, तो आप तेज़ू, ह्युलियांग, या हवाई में ठहर सकते हैं या फिर आप लोहित नदी के किनारे कैम्प लगा सकते हैं।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments