Tuesday, May 28, 2024
Homeवायरल विडियोVideo: दिल को सुकून देता है ये स्वर्ग का द्वार,999 सीढ़ियां चढ़कर...

Video: दिल को सुकून देता है ये स्वर्ग का द्वार,999 सीढ़ियां चढ़कर लोग देख पाते हैं अद्भुत नजारा, कैसे बना ‘स्वर्ग का द्वार’

swarg ki sidiya (Video): दुनियाभर में ऐसी कई जगहें मौजूद हैं, जिन पर नजरें हटा पाना मुश्किल है। वहीं कुछ जगहें ऐसी भी हैं, जो अपनी खूबसूरती की वजह से लोगों का ध्यान अपनी ओर खींच लेती हैं। हाल ही में एक ऐसी ही दिल छू लेने वाली जगह का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है, जिसे देखकर आप भी पलकें झपकना भूल जाएंगे। इस जगह का नाम है ‘हेवेंस गेट माउंटेन’, जो कि चीन (China) में एक अद्भुत पर्वत है, जिसे देखकर लोग इसे ‘स्वर्ग का द्वार’ भी कहते हैं। इस द्वार तक पहुंचने के लिए 999 सीढ़ियां (Stairway to heaven) चढ़नी होती फिर वे वहां का अद्भुत नजारा देख पाते हैं, जिसे देखकर उनका मन लौटने को नहीं करता है।

स्वर्ग का द्वार पर कैसे पहुंचते हैं

ट्रैवललैंडलाइजर की रिपोर्ट के अनुसार, टूरिस्ट्स केबल कार (Cable Car) पर सवार होकर पहुंच सकते हैं।सड़कों और ग्लास स्काईवॉक्स के जरिए भी यहां पहुंचा जा सकता है। यहां आने वाले लोग अक्सर झांगजियाजी के सेंटर से तियानमेन माउंटेन केबलवे पर सवार होते हैं और फिर अगले आधे घंटे में केबल कार 4,000 फीट से अधिक ऊंचाई पर तियानमेन माउंटेन की चोटी पर चढ़ जाएगी। यात्रा के अंत में विजिटर्स ‘स्वर्ग के प्रवेश द्वार’ पर कदम रखते हैं। समुद्र तल से लगभग 5,000 फीट ऊंचाई पर यहां तियानमेन गुफा (Tianmen Cave) भी है, जो दुनिया का सबसे ऊंचा प्राकृतिक रूप से बना मेहराब है। यहां का अद्भुत नजारे और अद्वितीय संरचना को देखने के लिए हर साल लाखों लोग यहां खींचे चले आते हैं।

देखें स्वर्ग के द्वार का वीडियो

लोग चढ़ते हैं 999 ‘स्वर्ग की सीढ़ियां’

इस शानदार स्थल तक पहुंचने के लिए लोगों को ‘स्वर्ग की सीढ़ी’ पर 999 सीढ़ियां चढ़नी होती हैं। चीनी अंकशास्त्र (Chinese numerology) में नौ एक भाग्यशाली संख्या है, जो सौभाग्य और अनंत काल का प्रतीक माना जाता है, जो लोग लंबी केबल कार से बचना चाहते हैं, वे संकरी सड़क का रास्ता चुन सकते हैं, जो 99 बार अपनी ओर मुड़ती है। यह काफी खतरनाक माना जाता है।

कैसे बना ‘स्वर्ग का द्वार’

यह गुफा लगभग 430 फीट ऊंची और 190 फीट चौड़ी है।साल 263 A.D. तक यह एक काफी सामान्य गुफा हुआ करती थी, जब पहाड़ की एक तरफ की चट्टान ढह गई और ‘स्वर्ग का द्वार’ बन गया। हालांकि, कुछ लोगों का मानना है कि गुफा का निर्माण एक रहस्य है, जो तियानमेन को एक पवित्र पर्वत (holy mountain) के रूप में स्थापित करने के तथ्य को मजबूती देता है, यहां तियानमेनशान मंदिर भी है, जिसे साल 870 A.D. में बनाया गया था, यह हुनान का बौद्ध केंद्र होने का दावा करता है।

यहां है तियानमेन गुफा

आपको जानकर हैरानी होगी कि, लेकिन यहां समुद्र तल से लगभग 5 हजार फीट ऊंचाई पर तियानमेन गुफा भी है, जो एक नजर से दुनिया का सबसे ऊंचा प्राकृतिक रूप से बना मेहराब है। यही वजह है कि, हर साल लाखों पर्यटक इसकी अद्भुत खूबसूरती और नजारे को देखने के लिए खींचे चले आते हैं।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments