Sunday, July 14, 2024
HomeदुनियाSnake Farming : इस गांव में होती है सांप की खेती, जानिए...

Snake Farming : इस गांव में होती है सांप की खेती, जानिए क्या है इसके पीछे वजह

Snake Farming : आपने गावं में किसानों को गेंहू, चावल, और सब्जियों की खेती करते हुए देखा और सुना होगा, लेकिन क्या आपको पता एक गांव ऐसा भी है जहां लोग सांप की खेती करते है। तो आपको भरोसा नहीं होगा लेकिन यह बिल्कुल सच है। इसगांव के करीब 1000 से ज्यादा लोग इसी कारोबार पर निर्भर हैं।

सांप धरती पर सबसे खतरनाक जानवरों में से एक है, जिसके काटने पर इंसान की मौत तक हो सकती है। यही कारण है कि लोगों को सांपों से दूरी बनाकर रहने की सलाह दी जाती है। चीन के झेजियांग प्रांत का जिसिकियाओ गांव इस अजीबोगरीब खेती को अपना चुका है, जहां दुनिया के बाकी मुल्कों के लोग सांपों को देखते ही भागने लगते हैं, वहीं इस चीनी गांव में सांपों के खेती की शुरू हो चुकी है। चीन खेती की रेस में कई मुल्कों से आगे निकल गया है। जहां भारत समेत अन्य देशों में हम किसानों को आलू-टमाटर समेत दूसरे फल-सब्जियों की खेती करते देखते हैं। वहीं, कुछ किसानों की आय गाय-भैंस और भेड़-बकरी पर निर्भर है, लेकिन भारत के पड़ोसी देश चीन में लोग सांपों की खेती शुरू कर चुके हैं। ग्राहकों की मांग को देखते हुए, चीन के कई किसान सांपों की खेती करने लगे हैं।

इसके पीछे की वजह

आप बता दें कि चीन की चिकित्सा पद्धति में सांपों के जहर से कई इलाज किए जाते हैं। इनमें कैंसर जैसी खतरनाक बीमारी भी शामिल है । इन सांपों का इस्तेमाल त्वचा के रोगों को ठीक करने से लेकर कैंसर की दवाइयों तक के लिए किया जाता है। कोबरा, वायपर, अजगर, रैटल जैसे जहरीले सांपों से लेकर बिना जहर वाले सांपों की भी खेती यहां पर की जाती है। साथ ही गर्मियों में सांपों के बच्चों को पाला जाता है और सर्दियों में इन्हें अमेरिका, दक्षिण कोरिया, रूस, जर्मनी समेत दुनिया के कई देशों में इन सांपों को बेच दिया जाता है।सांपों की गिनती दुनिया के सबसे खतरनाक जानवर के तौर पर की जाती है लेकिन चीन के जिसिकियाओ गांव में लगभग 30 लाख सांपों को पाला जाता है।
1980 के दशक से ही इन इलाकों में सांपों को पालने की परंपरा चल रही है। इसे पालने के लिए भी पुरानी तकनीक का ही इस्तेमाल किया जाता है। मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो यहां पर करीब 100 से अधिक ऐसे फॉर्म हैं, जहां सांपों को पालने का काम हो रहा है। गांव के करीब 1000 से ज्यादा लोग इसी कारोबार पर निर्भर हैं, वहीं इस काम से लोग लाखों में कमाई कर रहे हैं।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments