Saturday, May 25, 2024
Homeबिज़नेससाल 2024 में भारत में एंट्री कर सकती है टेस्ला, भारत आने...

साल 2024 में भारत में एंट्री कर सकती है टेस्ला, भारत आने वाले हैं कंपनी के सीईओ मस्क

Tesla Electric Cars: दुनिया की सबसे बड़ी इलेक्ट्रिक कार निर्माता कंपनी टेस्ला (Tesla) भारतीय ईवी बाजार में प्रवेश करने के लिए केंद्र सरकार के साथ एक समझौते के करीब पहुंच रही है। उम्मीद है कि भारत में उत्पादन इकाई स्थापित करने की घोषणा जनवरी में गुजरात में आयोजित होने वाले वाइब्रेंट गुजरात ग्लोबल समिट में किए जाने की उम्मीद है। इससे पहले कंपनी के सीईओ एलन मस्क पीएम मोदी, वाणिज्य और उद्योग मंत्री पीयूष से इस संबंध में कई दौर की बातचीत कर चुके हैं।

न्यूनतम 2 बिलियन डॉलर का निवेश करेगी

खबर है कि इस अमेरिकी ईवी कंपनी को अगले साल से देश में इलेक्ट्रिक वाहनों का आयात करने और दो साल में मैन्युफैक्चरिंग प्लांट स्थापित करने की अनुमति दे दी जाएगी। टेस्ला शुरुआती चरण में गुजरात, महाराष्ट्र और तमिलनाडु में अपनी उत्पादन सुविधाओं का विकास कर सकता है। जनवरी 2024 में होने वाले वाइब्रेंट गुजरात ग्लोबल समिट में टेस्ला के भारतीय बाजार में प्रवेश की एक ठोस तस्वीर हो सकती। उम्मीद है कि टेस्ला देश में शुरुआती न्यूनतम 2 बिलियन डॉलर का निवेश करेगी। साथ ही, रिपोर्ट में दावा किया गया है कि ऑटोमेकर 2025 तक देश में एक लोकल मैन्युफैक्चरिंग फैसिलिटी स्थापित करेगा।

ये है कंपनी का प्लान

रिपोर्ट में आगे दावा किया गया है कि टेस्ला देश में शुरुआती न्यूनतम 2 बिलियन डॉलर का निवेश करेगी। इसके अलावा कंपनी, कथित तौर पर स्थानीय निर्माताओं से ऑटो कंपोनेंट की खरीद बढ़ाने पर भी विचार कर सकती है और इन ऑटो पार्ट्स की कीमत 15 अरब डॉलर तक होगी। रिपोर्ट में दावा किया गया है कि इस दशक के अंत में अपनी कारों को स्थानीय स्तर पर बनाने के अलावा, टेस्ला उत्पादन लागत को कम करने के प्रयास में अपने ईवी के लिए भारत में कुछ बैटरी पैक भी बनाएगी। हाल ही में उद्योग और वाणिज्य मंत्री पीयूष गोयल ने अपनी अमेरिका यात्रा के दौरान टेस्ला की उत्पादन इकाई का दौरा किया था।

Tesla कब आएगी भारत

जनवरी 2024 में होने वाले वाइब्रेंट गुजरात ग्लोबल समिट में टेस्ला के भारतीय बाजार में प्रवेश की एक ठोस तस्वीर हो सकती। टेस्ला कथित तौर पर भारत में अपनी पहली विनिर्माण सुविधा स्थापित करने के लिए गुजरात, महाराष्ट्र और तमिलनाडु जैसे राज्यों पर विचार कर रही है। हालांकि, ईवी निर्माता ने अभी तक उस स्थान को अंतिम रूप नहीं दिया है, जहां वह प्लांट स्थापित करेगा। दिलचस्प बात यह है कि उपरोक्त तीनों राज्यों में इलेक्ट्रिक वाहनों और निर्यात के लिए अच्छी तरह से स्थापित ईको-सिस्टम है।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments